Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजपुलिस की वैन अचानक हुई खराब, अतीक अहमद को गाड़ी से उतार कर ले...

पुलिस की वैन अचानक हुई खराब, अतीक अहमद को गाड़ी से उतार कर ले गए: राजस्थान सीमा के पास हुआ वाकया

अतीक अहमद हाल ही में उमेश पाल की हत्या के बाद चर्चा में आया था। उमेश पाल, MLA राजू पाल हत्याकांड में गवाह थे। राजू पाल को भी अतीक अहमद ने ही मरवाया था।

माफिया अतीक अहमद को यूपी पुलिस एक बार फिर से गुजरात के साबरमती जेल से प्रयागराज लेकर आ रही है। इस बार भी उसे कोर्ट में पेश किए जाने के लिए ही लाया जा रहा है। अब खबर मिल रही है कि राजस्थान के डूंगरपुर में वैन खराब हो गई है। माफिया अतीक अहमद के वैन के साथ ये वैन चल रही थी। वैन की मरम्मत की जा रही है, जबकि अतीक अहमद को उतार कर सुरक्षित जगह पर रखा गया है। ठीक होने के बाद वैन आगे बढ़ेगी।

राजस्थान की सीमा में प्रवेश करने तक यूपी पुलिस के साथ-साथ गुजरात पुलिस की भी गाड़ी साथ थी। राजस्थान की सीमा से 10-15 किलोमीटर की दूरी पर ये वाकया हुआ है। अगर वैन की मरम्मत नहीं हो पाती है तो दूसरी गाड़ी मँगाई जाएगी और फिर काफिला आगे बढ़ेगा। बताया जा रहा है कि उस गाड़ी के क्लच में दिक्कत आ गई है। बिछीवाड़ा पुलिस थाने के परिसर में अतीक अहमद को रोका गया है। पुलिस वैन में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं।

अतीक अहमद हाल ही में उमेश पाल की हत्या के बाद चर्चा में आया था। उमेश पाल, MLA राजू पाल हत्याकांड में गवाह थे। राजू पाल को भी अतीक अहमद ने ही मरवाया था। रास्ते में जो गाड़ी खराब हुई है, वो वज्र वाहन है। जैसे ही दूसरी वैन आ जाएगी, काफिला आगे बढ़ चलेगा। ताज़ा हत्याकांड में न सिर्फ अतीक अहमद, बल्कि उसकी पत्नी और बेटों के अलावा बहन, बहनोई और दोनों भांजियाँ भी शामिल थीं। उसका भाई अशरफ भी इस साजिश का हिस्सा था।

अतीक को सड़क के रास्ते से लेकर आ रही पुलिस टीम के साथ दो प्रिजन वैन भी मौजूद हैं। पुलिस की टीम में एक इंस्पेक्टर, 30 कॉन्स्टेबल शामिल हैं। इन सबके अलावा सादे कपड़ों में भी कुछ पुलिस जवान हैं। ये सुरक्षा के लिए अतीक के काफिले के साथ चल रहे हैं, क्योंकि मामला संवेदनशील है। अतीक 2019 से अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद है। यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा है कि राज्य में एक भी अपराधी बख्शा नहीं जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -