Sunday, September 19, 2021
Homeदेश-समाजऑपइंडिया एक्सक्लूसिव: हिंदू ने टोपी पहन खुद को बताया इमरान, ताहिर हुसैन के गुंडों...

ऑपइंडिया एक्सक्लूसिव: हिंदू ने टोपी पहन खुद को बताया इमरान, ताहिर हुसैन के गुंडों से बचाई जान

ड्यूटी से लौट रहे हिंदू पर ताहिर हुसैन के घर से दंगाइयों ने हमला किया। उसे खींचकर घर के भीतर जाने लगे। उस वक्त इस हिंदू ने समझदारी नहीं दिखाई होती तो शायद आज उसकी लाश भी अंकित शर्मा की तरह किसी नाले से मिली होती।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा के दौरान समुदाय विशेष की दंगाई भीड़ ने हिंदुओं को चुन-चुनकर निशाना बनाया। इस बात का सबूत वो अनेक आपबीती हैं, जिनमें हिंदुओं को न केवल इस्लामी भीड़ से बचने के लिए अपने हाथ का कलावा उतारकर एवं अन्य हिंदू चिह्नों को खुद से दूर करके सड़कों पर घूमना पड़ रहा है, बल्कि उन्हें खुद को मुस्लिम तक बताना पड़ रहा है।

हिंसाग्रस्त इलाके चाँदबाग के एक विडियो में आप पार्षद ताहिर हुसैन के क्षेत्र में रहने वाला शख्स अपनी आपबीती सुना रहा है। ये विडियो 26 फरवरी का है। व्यक्ति की मानें तो ड्यूटी से लौटते वक्त ताहिर हुसैन के घर में मौजूद भीड़ ने उस पर हमला किया। उसके पकड़कर अंदर घसीटने लगी। लेकिन, हालातों को समझते हुए उसने समझदारी दिखाई। जान बचाने के लिए जल्दी से टोपी पहनी और भीड़ को अपना नाम इमरान बता जान बचाई।

व्यक्ति के मुताबिक इमरान नाम सुनते ही भीड़ ने उसे फौरन छोड़ दिया और वो भागकर अपनी गली में चला गया। सोचिए अगर, उस समय इस शख्स ने जान बचाने के लिए अपनी पहचान इमरान के रूप में नहीं बताई होती तो उसके साथ भी वही सब होता जो आईबी के अंकित शर्मा के साथ हुआ।

हिंदू व्यक्ति के मुताबिक, इस हमले में उसे चोटें आई। विडियो में वह अपने सूजे पैर और घुटने दिखा रहा है। व्यक्ति से जब पूछा गया कि क्या उस भीड़ ने जनेऊ वगैरह चेक करने की कोशिश नहीं की, तो व्यक्ति ने बताया कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। उन्होंने शर्ट पकड़कर खींचा। लेकिन मैंने कहा, “अरे मैं तो इमरान हूँ यार, तुम्हारा भाई हूँ, मुझे क्यों खींच रहे हो” तो उन्हें तुरंत जाने दिया गया।

गौरतलब है कि इस विडियो वीडियो में हिंदू व्यक्ति के अलावा कुछ महिलाएँ भी हैं। जो अपनी पीड़ा व्यक्त कर रही हैं। महिलाओं को कहते सुना जा सकता है कि वे लोग 4-5 दिन से भूखे पड़े हुए हैं। खाने के लिए कुछ नहीं हैं।

वहीं दूसरी महिला के मुताबिक इलाके में मौजूद एक मंदिर में भीड़ ने बहुत तोड़फोड़ की है। मंदिर के पंडित और पंडिताइन उसमें फँसे हुए थे। उनकी दो बेटियॉं भी हैं जो दूसरों के घर में रह रही हैं। इसकी जानकारी मिलने के बाद कुछ हिंदू इकट्ठा हुए और उन्हें किसी तरह बचाया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार प्राइम टाइम, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दीपक चौरसिया एनडीटीवी, NDTV के पत्रकार पर हमला, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली हाईकोर्ट, जस्टिस मुरलीधर, जस्टिस मुरलीधर का तबादला, दिल्ली हाई कोर्ट जस्टिस मुरलीधर, दिल्ली हाई कोर्ट कपिल मिश्रा, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का भाई, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली हिंसा उपराज्यपाल, अमित शाह हाई लेवल मीटिंग, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, ट्रंप का भारत दौरा, ट्रंप मोदी, बिल क्लिंटन का भारत दौरा, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, दिल्ली पुलिस, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिब्बल की राह पर थरूर, कॉन्ग्रेसी आलाकमान पर साधा निशाना, कहा – ‘पार्टी को तुरंत नए नेतृत्व की जरूरत’

"सोनिया गाँधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द नहीं कहा, लेकिन वह खुद से ही पद छोड़ना चाहती हैं। नए नेतृत्व को जल्द से जल्द पद सँभाल लेना चाहिए।"

पंजाब के बाद राजस्थान में फँसी कॉन्ग्रेस: सचिन पायलट दिल्ली में, CM अशोक गहलोत के OSD का इस्तीफा

इस्तीफे की वजह लोकेश शर्मा द्वारा किया गया एक ट्वीट बताया जा रहा है जिसके बाद कयासों का नया दौर शुरू हो गया था और उनके ट्वीट को पंजाब के घटनाक्रम के साथ भी जोड़कर देखा जाने लगा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,150FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe