Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस के पूर्व MLA आसिफ मोहम्मद खान गिरफ्तार: माँ-बहन की गंदी वाली गाली, सरकारी...

कॉन्ग्रेस के पूर्व MLA आसिफ मोहम्मद खान गिरफ्तार: माँ-बहन की गंदी वाली गाली, सरकारी लोगों को बनाया था सरेआम मुर्गा

"गरीब मज़दूरों को सिर्फ़ पोस्टर उतारने पर बेरहमी से मार रहे और अपशब्द का प्रयोग भी कर रहे हैं। पूर्व विधायक हैं, सरकार में ना रहते हुए इतनी गुंडागर्दी तो सोचिए सरकार में होकर क्या करते।"

दिल्ली के ओखला में MCD कर्मचारियों की पिटाई करने का वीडियो वायरल होने के बाद कॉन्ग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनकी गिरफ्तारी शाहीन बाग़ थाने से की गई है। यह गिरफ्तारी आज 27 नवम्बर 2021 (शनिवार) की सुबह हुई है। वीडियो में भद्दी-भद्दी गालियों के साथ वो सड़क के किनारे पर चार लोगों को मारते दिख रहे थे। चारों पीड़ितों को माफ़ी माँगते और हाथ जोड़ते भी देखा जा सकता है। आसिफ के साथ कुछ अन्य लोग भी हैं, जो उनके इस काम का समर्थन करते सुनाई दे रहे हैं।

वीडियो में ही आरोपित आसिम मोहम्मद खान कह रहे हैं कि ये आम आदमी के बैनर नहीं हटाते, कॉन्ग्रेस के ही बैनर हटाते हैं। एक दिन पहले 26 नवम्बर को ही दिल्ली पुलिस ने वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए कार्रवाई करने की बात कही थी। इस वायरल वीडियो के बाद सोशल मीडिया पर आसिफ मोहम्मद के खिलाफ एक्शन लेने की माँग उठ रही थी।

वसीम अकरम त्यागी ने इसे ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा था, “उत्तर भारत में सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे मुसलमान ओखला में रहते हैं। यहीं पर जामिया जैसा प्रतिष्ठित संस्थान भी है। लेकिन इस इलाक़े का दुर्भाग्य देखिए कि यहाँ के अवाम को ऐसे जाहिल नेता मिले हैं। ये महाशय ओखला के पूर्व विधायक हैं, और केरल के राज्यपाल के भाई भी हैं।’

नारद मुनि नाम के ट्विटर हैंडल ने शीर्षक दिया है – “एक डरा हुआ मुस्लिम”

सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड के सदस्य रईस खान पठान ने लिखा है, “ये जनाब ओखला से कॉन्ग्रेस के विधायक हैं, और गरीब मज़दूरों को सिर्फ़ पोस्टर उतारने पर बेरहमी से मार रहे और अपशब्द का प्रयोग भी कर रहे हैं। क्या यही है कॉन्ग्रेस पार्टी और राहुल गाँधी की जनता से प्यार की राजनीति है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर से मेरी विनती है कि इस घटना पर कार्यवाही करें। पूर्व विधायक हैं, सरकार में ना रहते हुए इतनी गुंडागर्दी तो सोचिए सरकार में होकर क्या करते।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -