Friday, May 31, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली पुलिस की FIR में ग्रेटा का नाम नहीं, कंगना के ट्वीट डिलीट कर...

दिल्ली पुलिस की FIR में ग्रेटा का नाम नहीं, कंगना के ट्वीट डिलीट कर फिर बेनकाब हुआ ट्विटर

ग्रेटा थनबर्ग और रिहाना जैसे लोगों के सुनियोजित प्लान पर टूलकिट सामने आने के बाद से चर्चा गरम है। कुछ लोगों को पहले से इस तरह के हस्तक्षेप की आशंका थी। कंगना रनौत उन्हीं लोगों में शामिल थीं।

कथित किसान आंदोलन में अंतरराष्ट्रीय हस्तियों की घुसपैठ की हकीकत टूलकिट सामने आने के बाद साफ हो गई है। दिल्ली पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज किया है। इस बीच कंगना रनौत का ट्वीट जिसमें केवल रिहाना के ट्वीट का जवाब था, उसे ट्विटर ने डिलीट कर दिया है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर प्रवीर रंजन ने बताया कि इस संबंध में जॉंच के लिए मामला दर्ज किया गया है, लेकिन एफआईआर में किसी का नाम नहीं है। इससे पहले मीडिया रिपोर्टों में बाल कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज किए जाने की बात कही गई थी। इंडिया टुडे पत्रकार गौरव सांवत ने बताया था कि ग्रेटा के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 153 ए और धारा 120बी के तहत मामला दर्ज हुआ है। 

ग्रेटा का ट्वीट, जो अब डिलीट हो चुका है।

बता दें कि दिल्ली पुलिस की यह कार्रवाई विदेश मंत्रालय के बयान के बाद सामने आई है जिसमें उन्होंने हर अंतरराष्ट्रीय शख्सियत से कहा था कि वह इस किसान आंदोलन के मुद्दे पर बोलने से पहले इसके बारे में समझ लें।

Excerpt from documents shared by Greta Thunberg

ग्रेटा के टूलकिट शेयर किए जाने के बाद भी इस मुद्दे ने तूल पकड़ा है और ये स्पष्ट हुआ है कि कैसे इस प्रदर्शन की आड़ में विदेशी हस्तियाँ भारत के ख़िलाफ़ माहौल बना रही है। 

दिल्ली पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद ग्रेटा का एक और ट्वीट सामने आया है। इसमें उसने कहा है, “हम भारत में किसानों के आंदोलन के प्रति एकजुट हैं।”

गौरतलब है कि ग्रेटा थनबर्ग और रिहाना जैसे लोगों के सुनियोजित प्लान पर टूलकिट सामने आने के बाद से चर्चा गरम है। कुछ लोगों को पहले से इस तरह के हस्तक्षेप की आशंका थी। कंगना रनौत उन्हीं लोगों में शामिल थीं, जिन्होंने रिहाना को कड़ा जवाब दिया था।

रिहाना ने किसान आंदोलन की खबर शेयर करके पूछा था कि हम इसके ऊपर क्यों नहीं बात कर रहे। बस इसी पर कंगना ने उन्हें लिखा,  “कोई इसलिए बात नहीं कर रहा क्योंकि ये आतंकी है जो भारत को बाँटना चाहते हैं, ताकि चीन यूएस जैसे ही हमारे खंडित देश पर कब्जा कर ले। इसलिए चुप बैठो बेवकूफ, हम कठपुतलियों की तरह अपना देश नहीं बेचते।”

कंगना का ट्वीट

इस ट्वीट के दो दिन बाद और अंतरराष्ट्रीय मंशा का खुलासा होने के अगले ही दिन जैक डॉर्सी के ट्विटर ने 4 फरवरी 2021 को कंगना का यह ट्वीट डिलीट कर दिया। बदले में उन्हें बताया गया कि ट्विटर नियमों का उल्लंघन करने पर उनके ख़िलाफ़ यह कार्रवई हुई है।

कंगना का डिलीट हुआ ट्वीट
Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -