Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजसिखों ने मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल सरकार सौंपने की पेशकश की, कहा- यहाँ करिए कोरोना संक्रमितों...

सिखों ने मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल सरकार सौंपने की पेशकश की, कहा- यहाँ करिए कोरोना संक्रमितों का उपचार

“महामारी के मद्देनजर दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी लोगों की मदद करने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है। चाहे लोगों को खाना पहुँचाना हो या डॉक्टरी मदद। हम उन्हें हर तरह की सुविधा पहुँचाते रहे हैं। हमने गुरु हरकिशन अस्पताल सरकार को देने की पेशकश की है।"

कोरोना वायरस से जारी जंग के बीच दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने एक महत्वपूर्ण फैसला किया। उसने सरकार को गुरु हरिकिशन सुपर स्पेशलिटी अस्पताल सौंपने की पेशकश की है। सरकार से कहा है कि उसकी छह मंजिला अस्पताल की इमारत का सरकार जब तक चाहे कोविड-19 पीड़ितों और संदिग्धों के इलाज के इस्तेमाल कर सकती है।

यह अस्पताल गुरुद्वारा बाला साहिब में है। डीएसजीएमसी के प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक ​वीडियो ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से निपटने के लिए दिल्ली सरकार को गुरु हरकिशन हॉस्पिटल का इस्तेमाल कर सकती है। इस अस्पताल में 50 बेड हैं। हॉस्पिटल की पूरी इमारत में 500 बेड की व्यवस्था है।

सिरसा ने कहा है, “महामारी के मद्देनजर दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी लोगों की मदद करने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है। चाहे लोगों को खाना पहुँचाना हो या डॉक्टरी मदद। हम उन्हें हर तरह की सुविधा पहुँचाते रहे हैं। हमने गुरु हरकिशन अस्पताल सरकार को देने की पेशकश की है। दिल्ली सरकार कोरोना के उपचार के लिए बैंक्वेट हॉल और होटल का इस्तेमाल करना चाहती है। इसके लिए वहॉं जो संसाधन लगाए जाएँगे उनका बाद में कोई इस्तेमाल नहीं रहेगा। लेकिन यही संसाधन अस्पताल में लगाए गए तो उनका स्थायी इस्तेमाल हो सकता है। सरकार को सोच कर संसाधन लगाने चाहिए ताकि बाद में दिल्ली में इलाज के लिए एक बड़ा अस्पताल तैयार हो सके। गुरु हरिकिशन अस्पताल का सरकार जब तक चाहे इस्तेमाल कर सकती है।”

गौरतलब है कि गुरु हरकिशन अस्पताल का संचालन गुरुद्वारा बाला साहिब द्वारा किया जाता है। 500 बेड वाली जो इमारत देने की पेशकश DSGMC ने की है वह 11 एकड़ में फैला है। इसके फर्निंशिंग का कुछ काम अभी बाकी है।

सिरसा की ओर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखे पत्र में कहा गया है कि अगर सरकार चाहे, तो वह उस जगह पर जाए और उसके इस्तेमाल की संभावना को देखे। होटल और बैंक्वेट हॉल में पैसा खर्च कर संसाधन जुटाने की बजाए इसका सही जगह उपयोग होना चाहिए। इससे संसाधन और उसमें किया गया निवेश बर्बाद नहीं होगा और बाद में भी दिल्ली के लोगों के काम आएगा। दिल्ली सरकार को लिखे गए पत्र में कमेटी ने इस महामारी के समय को मानवता के लिए मुश्किल समय बताया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -