Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजकेजरीवाल सरकार का '10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट' अभियान फेल: 143 जगहों पर...

केजरीवाल सरकार का ’10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट’ अभियान फेल: 143 जगहों पर मिला डेंगू का लार्वा

50 सीनियर सेकेंड्री स्कूल, 1 प्राइमरी स्कूल, 17 सरकारी दफ्तर, 13 डीजेबी ऑफिस, 10 डीटीसी डिपो, 7 बीएसईबी ऑफिस, 7 पीडब्लूडी ऑफिस के साथ ही 5 शौचालय, 5 पुलिस स्टेशन, 1 सरकारी अस्पताल और 3 दवाखाना में...

राजधानी दिल्ली में डेंगू और मलेरिया के मामलों में बढ़ोतरी को लेकर दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) और अरविंद केजरीवाल सरकार के बीच फिर से घमासान जारी है। दरअसल, एमसीडी द्वारा जारी किए गए आँकड़े के अनुसार, डेंगू और चिकनगुनिया के खिलाफ केजरीवाल सरकार का “10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट” अभियान फेल हो गया है।

बता दें कि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने जाँच के दौरान केजरीवाल के सरकारी विभागों के कार्यालयों में डेंगू का लार्वा पाया है। इसकी रिपोर्ट जारी की गई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य सरकार के विभागों में लगभग 143 स्थान ऐसे हैं, जहाँ डेंगू का लार्वा पाया गया है। एमसीडी ने इन 143 स्थानों की एक सूची जारी की है, जिसमें 50 सीनियर सेकेंड्री स्कूल, 1 प्राइमरी स्कूल, 17 सरकारी दफ्तर, 13 डीजेबी ऑफिस, 10 डीटीसी डिपो, 7 बीएसईबी ऑफिस, 7 पीडब्लूडी ऑफिस के साथ ही 5 शौचालय, 5 पुलिस स्टेशन, 1 सरकारी अस्पताल और 3 दवाखाना शामिल है। डेंगू का लार्वा मिलने पर एमसीडी ने दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले इन संस्थाओं के चालान काट दिए हैं।

शिक्षा और सफाई के नाम पर बड़े-बड़े दावे करने वाले केजरीवाल सरकार में इस तरह का आँकड़ा चौंकाने वाला है। केजरीवाल सबसे ज्यादा शिक्षा और छात्रों के मुद्दे पर ही राजनीति करते हैं, लेकिन हैरानी की बात है, डेंगू का सबसे अधिक लार्वा दिल्ली के स्कूल में ही पाया गया है।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सासंद संजय सिंह ने एमसीडी द्वारा जारी कए गए आँकड़ों को गलत बताते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार डेंगू के मच्छरों को मारना चाहती है, लेकिन बीजेपी वाले खुद डेंगू बनकर इस अभियान को मारना चाहते हैं। इसी नीयत से भाजपा शासित एमसीडी ने एक डाटा जारी कर बताया है कि डेंगू के लार्वा दिल्ली सरकार के स्कूलों और दफ्तरों में मिले हैं। हमारी रिपोर्ट एमसीडी के दफ्तरों और स्कूलों को इससे मुक्त बता रही है। इस पर विश्वास करना मुश्किल है कि दिल्ली के नगर निगम स्कूलों, निगम दफ्तरों में डेंगू का लार्वा नहीं मिला, लेकिन दिल्ली सरकार के स्कूल में लार्वा मिल गया। ये आँकड़े सवालों के घेरे में आते हैं।

उन्होंने एमसीडी द्वारा जारी किए गए रिपोर्ट को बीजेपी की राजनीति करार दिया और कहा कि भाजपा को घटिया राजनीति के लिए शर्म आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब डेंगू का मच्छर काटने आएगा तो बीजेपी, आम आदमी पार्टी या कॉन्ग्रेस नहीं देखेगा। हालाँकि, उन्होंने कहा है कि एमसीडी की रिपोर्ट में जिस क्षेत्र में लार्वा का जिक्र किया गया है, वहाँ जाकर निरीक्षण किया जाएगा।

गौरतलब है कि सीएम केजरीवाल ने 3 सितंबर को डेंगू मच्छर के खिलाफ 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट अभियान शुरू किया था। इस दिल्ली सरकार ने बड़े पैमाने पर लोगों से 10 हफ्ते तक हर रविवार को घर के परिसर और आसपास के क्षेत्रों में पानी के जमा होने से रोकने से कहा था। इसका उद्देश्य डेंगू मच्छरों के पनपने से रोकना था। मगर, एमसीडी के आँकड़े दिल्ली सरकार की अभियान की असफलता की ओर इशारा कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -