Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजहत्या से पहले दिलदार अंसारी के मामा और दोस्त ने गर्भवती जनजातीय महिला से...

हत्या से पहले दिलदार अंसारी के मामा और दोस्त ने गर्भवती जनजातीय महिला से किया था रेप, पहचान छिपाने के लिए उतार दी खाल: प्लास्टिक बिछा कर टुकड़े-टुकड़े किया

रिबिका के शौहर दिलदार अंसारी के मामा मोइनुद्दीन अंसारी और उसके दोस्त मैनुल अंसारी ने बलात्कार के बाद रिबिका की गला दबाकर हत्या कर दी।

झारखंड के साहिबगंज के रिबिका मर्डर मामले में रूह कँपा देने वाली बातें सामने आई हैं। जाँच के दौरान यह बात सामने आई है कि आरोपितों ने शव की पहचान छिपाने के लिए उसका खाल तक उतार दिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, हत्या से पहले दिलदार के मामा और उसके सहयोगी ने रिबिका के साथ बलात्कार भी किया था। इतना ही नहीं जाँच में यह बात भी सामने आई है कि हत्या के वक्त रिबिका गर्भवती थी।

दिलदार की दरिंदगी का शिकार रिबिका का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर डिप्टी कमिश्नर रामनिवास यादव और एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा भी मौजूद रहे। पुलिस के मुताबिक मामले में अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस की जाँच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है मामले में रोंगटे खड़े कर देने वाले खुलासे हो रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हत्या के समय रिबिका गर्भवती थी। दिलदार के मामा और उसके दोस्त ने रिबिका के क़त्ल से पहले उसके साथ जबरदस्ती भी की थी। इतने से भी उनका मन नहीं भरा तो हैवानों ने दरिंदगी की सारी हदें पार कर दीं। लाश की पहचान न हो सके इसके लिए उन्होंने खाल तक उतार दिया था।

पुलिस ने मामले पर रिपोर्ट्स आने के बाद ही अपना बयान देने की बात कही है। सूत्रों का दावा है कि आरोपितों ने गुनाह कबूल लिया है। बताया जा रहा है कि रिबिका के शौहर दिलदार अंसारी के मामा मोइनुद्दीन अंसारी और उसके दोस्त मैनुल अंसारी ने बलात्कार के बाद रिबिका की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को मामा के दोस्‍त मैनुल अंसारी के घर ले जाया गया क्‍योंकि मोइनुद्दीन के घर पर लाश को बोटियों में काटने के लिए पर्याप्त जगह नहीं थी।

मैनुल के घर पर प्‍लास्टिक बिछाकर शव के टुकड़े किए गए। शव के टुकड़े करने के लिए जिन धारदार हथियारों का इस्तेमाल हुआ उनमें से कुछ बरामद हो चुकी हैं और कुछ की तलाश की जा रही है। रुबिका की बेदर्दी से हुई हत्‍या से उसके गाँव के लोगों में आक्रोश है। सभी आरोपितों की फाँसी की माँग कर रहे हैं।

आपको बता दें कि जनजातीय समाज की 22 वर्षीय रिबिका पहाड़िन नाम की एक महिला को मार कर उसके शव के टुकड़े अलग-अलग जगह फेंक दिए गए थे। माँस के लोथड़ों को कुत्ते निवाला बना रहे थे। रिबिका को उसके शौहर और रिश्तेदारों ने मौत के घाट उतार दिया। रिबिका और दिलदार दोनों की यह दूसरी शादी थी। कई वर्षों तक मिलने-मिलाने के बाद दोनों ने 10 दिनों पहले ही निकाह किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -