Sunday, July 14, 2024
Homeविविध विषयअन्य'व्हीलचेयर नहीं जाएगी अंदर, कस्टमर डिस्टर्ब होंगे' : दिव्यांग लड़की को रेस्टोरेंट ने एंट्री...

‘व्हीलचेयर नहीं जाएगी अंदर, कस्टमर डिस्टर्ब होंगे’ : दिव्यांग लड़की को रेस्टोरेंट ने एंट्री देने से किया मना, विवाद के बाद माँगी माफी

सृष्टि कहती हैं कि जब उन लोगों ने अंदर जाने को कहा तो उन्हें जवाब आया कि व्हीलचेयर अंदर नहीं जाएगी, इससे कस्टमर डिस्टर्ब हो जाएँगे। सृष्टि के अनुसार, इसके बाद उनकी एंट्री मना कर दी गई।

कुछ दिन पहले दिल्ली में एक महिला को साड़ी पहनकर होटल में घुसने से मना किए जाने के विवाद के बाद एक नई घटना गुरुग्राम के रास्ता रेस्टोरेंट से सामने आई है। यहाँ एक दिव्यांग लड़की को व्हीलचेयर के साथ रेस्टोरेंट में एंट्री देने से मना कर दिया गया। अब लड़की ने इस मामले पर शिकायत सोशल मीडिया पर की है। लड़की का नाम सृष्टि है।

सृष्टि के ट्वीट के अनुसार, वह अपने दोस्त और उसके परिवार वालों के साथ रास्ता होटल में शुक्रवार को खाना खाने गई थी लेकिन रेस्टोरेंट कर्मियों ने बताया कि व्हीलचेयर अंदर नहीं जा सकती। शुरू में उन्हें लगा कि रेस्टोरेंट के लोगों का कहना है कि व्हीलचेयर अंदर नहीं जा पाएगी, इसलिए उन्होंने कहा कि वो लोग मैनेज कर लेंगे, बस उनके लिए एक टेबल बुक कर दिया जाए।

सृष्टि कहती हैं कि जब उन लोगों ने इस बात को कहा तो उन्हें जवाब आया कि व्हीलचेयर अंदर नहीं जाएगी, इससे कस्टमर डिस्टर्ब हो जाएँगे। सृष्टि के अनुसार, इसके बाद उनकी एंट्री मना कर दी गई। जब बहुत बहस हुई तो उन्हें बाहर टेबल ऑफर हुआ। जहाँ की सिटिंग सुविधा बहुत वाहियात थी और बाहर ठंड भी ज्यादा थी। सृष्टि ने कहा कि शारीरिक दिक्कत की वजह से वो ज्यादा देर ठंड में नहीं बैठ सकती थीं वो जगह उनके बहुत असुरक्षित थी।

वह पूछती हैं कि आखिर उन्हें बाहर क्यों बिठाया गया? बाकी सबसे अलग? अगर बाहर बैठने की इच्छा होती तो वो लोग पहले ही माँग लेते? उनका सवाल है कि आखिर उन्हें बाहर जाने के लिए क्यों कहा गया? वह अपने ट्वीट में पूछती हैं कि क्या उनका होना इतना ज्यादा परेशान करने वाला है? आखिर उन्हें छोटी-छोटी चीजों के लिए मना कर दिया जाता है? अपने ट्वीट में वह लिखती हैं, “मुझे सार्वजनिक स्थान पर प्रवेश से वंचित क्यों किया गया? वे कौन होते हैं जो मेरी एंट्री को ऐसे ही नकार देते हैं?”

इन ट्वीट्स को करने के बाद सृष्टि ने कई सोशल मीडिया यूजर्स को अपने ट्वीट में टैग किया और मामला सोशल मीडिया पर उठने के बाद रेस्टोरेंट ने इस संबंध में माफी भी माँगी। रेस्टोरेंट ने कहा, “हम समावेशिता के लिए खड़े हैं और कभी नहीं चाहेंगे कि कोई भी किसी भी कारण से अकेला महसूस करें। अपने प्रयासों के तहत हम पहले ही व्यक्तिगत तौर पर माफी माँग चुके हैं।” रास्ता के सह-संस्थापक गौतमेश सिंह ने उनके ट्वीट का जवाब दिया। उन्होंने लिखा, “मैं व्यक्तिगत रूप से इस घटना को देख रहा हूँ। मैं पूरी टीम की ओर से आपके किसी भी बुरे अनुभव के लिए माफी माँगता हूँ। कृपया निश्चिंत रहें यदि हमारा कोई सदस्य गलत पाया जाता है, तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।”

स्टाफ ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उसने उन्हें बाहर बैठने की पेशकश की थी क्योंकि अंदर एक डांस फ्लोर था और भीड़ थी। यह पूछे जाने पर कि क्या रेस्टोरेंट व्हीलचेयर के अनुकूल है, उन्होंने जवाब दिया कि ऐसा नहीं है क्योंकि इसमें सीढ़ियाँ हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -