Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान के अजमेर में इसरार और सोहेल ने कुत्ते को स्कूटी से बाँधकर घसीटा,...

राजस्थान के अजमेर में इसरार और सोहेल ने कुत्ते को स्कूटी से बाँधकर घसीटा, हुई दर्दनाक मौत: शिकायत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया

इससे पहले नवंबर 2019 में उदयपुर में एक कार ड्राइवर ने एक कुत्ते को घसीटकर मार डाला था। उसने कुत्ते के पिछले पैर को रस्सी के सहारे कार से बाँधकर कई किलोमीटर तक खींचता ले गया था।

समाज में हर तरह के लिए लोग होते हैं, लेकिन जब बेजुबान प्राणियों पर कोई बर्बरता की हदें पार करता है तो समाज उसके क्रूर स्वभाव को बर्दाश्त नहीं करता। राजस्थान के अजमेर (Ajmer, Rajsthan) में ऐसे ही क्रूर स्वभाव वाले कुछ लोगों का वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में तीन युवक एक निरीह कुत्ते को स्कूटी से बाँधकर घसीट रहे हैं। शिकायत के बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वीडियो में दिख रहा है कि एक स्कूटर पर तीन युवक बैठे हुए हैं और एक कुत्ते को तार के सहारे स्कूटी से बाँधकर पूरे गाँव में घसीट रहे हैं। वहीं, इस बर्बरता को देखकर लोग हँस रहे हैं और कोई व्यक्ति उन्हें रोकने की कोशिश नहीं कर रहा। इस तरह घसीटे जाने के बाद कुत्ते की दर्दनाक मौत हो गई। वीडियो में सुना जा सकता है कि कोई कह रहा है- इसरार ने कुत्ते को मारा है।

इस वीडियो को जब एक एनजीओ चलाने वाली उत्तर प्रदेश सरकार की अधिकारी सुरभि त्रिपाठी ने देखा तो स्कूटी के नंबर के आधार पर इसकी शिकायत अजमेर के SP से की। सुरभि द्वारा भेजे गए ईमेल के आधार पर अजमेर के गेगल थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया।

गेगल थाना अधिकारी नंदू सिंह ने बताया कि वायरल वीडियो गुड्डा गाँव का है। इस मामले में इसरार अली, कालू और स्कूटी मालिक सोहेल उर्फ शाहिल खान के पशु क्रूरता अधिनियम और शांति भंग करने को लेकर FIR की गई और बाद में तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

इससे पहले नवंबर 2019 में उदयपुर में एक कार ड्राइवर ने एक कुत्ते को घसीटकर मार डाला था। उसने कुत्ते के पिछले पैर को रस्सी के सहारे कार से बाँधकर कई किलोमीटर तक खींचता ले गया था। इस घटना को सुखेर थाने में मामला दर्ज कराया गया था। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -