Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजडॉक्टर ने हिंदू कर्मचारी को जबरन बनाया मुस्लिम, लालच दे मौलवी ने कराया धर्मांतरण:...

डॉक्टर ने हिंदू कर्मचारी को जबरन बनाया मुस्लिम, लालच दे मौलवी ने कराया धर्मांतरण: डॉक्टर के खिलाफ FIR, मौलवी सहित 2 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद विरोधी दस्ते (ATS) ने पिछले साल आईएसआई द्वारा फंडिंग किए जा रहे एक बड़े धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इस मामले में उत्तर प्रदेश एटीएस ने धर्मांतरण में शामिल उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहाँगीर को गिरफ्तार किया था।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में लव जिहाद (Love Jehad) और धर्मांतरण (Religious Conversion) पर कानून बनने के बावजूद वहाँ ऐसी घटनाएँ रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। असामाजिक तत्व इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर देकर सरकार और कानून को सीधी चुनौती देने की कोशिश कर रहे हैं।

दो अलग-अलग मामलों में राज्य के इटावा में एक डॉक्टर को अपने सहयोगी को धर्मांतरित करने के का आरोपित बनाया गया है। वहीं, रामपुर जिले में एक मौलवी ने एक हिंदू को धर्मांतरण के लिए लालच दिया है। इस मामले में पुलिस ने मौलवी सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

डॉक्टर ने अपने कर्मचारी को धर्मांतरित किया

इटावा थाने में रामराज यादव नाम के एक शख्स ने शिकायत दी कि वह एक निजी क्लिनिक में काम करता था। इसी दौरान डॉ. फारूकी कमाल ने उसे मुस्लिम बनने के लिए मजबूर कर दिया। उसने दावा किया कि साल 2019 में धर्मांतरण के बाद उसका नाम करम हुसैन कर दिया गया और कुरान पढ़ने के लिए दिया गया।

इस मामले में यूपी पुलिस ने शुक्रवार (8 अप्रैल) को डॉक्टर और उसके दो साथी के खिलाफ उत्तर प्रदेश धर्मांतरण निषेध कानून के तहत मामला दर्ज किया है। मामले में धोखाधड़ी का भी आरोप लगाया गया है। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक यशवीर सिंह ने कहा कि रामराज यादव ने डुमरियागंज निवासी एक व्यक्ति पर धर्म परिवर्तन का आरोप लगाया है।

एसपी ने कहा कि रामराज यादव को मोबाइल चोरी के आरोप में जेल में बंद किया गया था और उसे हाल ही में रिहा किया गया था। उन्होंने कहा कि इस मामले के सभी पहलुओं को देखते हुए जाँच की जा रही है।

रामपुर में मौलवी गिरफ्तार

वहीं, रामपुर में एक मौलवी और उसके सहयोगी पर एक हिंदू व्यक्ति को धर्मांतरित कर मुस्लिम बनाने का आरोप लगा है। कोतवाली थाने में शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि पीड़ित के परिजनों ने उसे नमाज पढ़ते और रोजा रखते हुए देखा तो उन्हें इस बात की जानकारी हुई। उसके बाद पीड़ित के पिता ने कोतवाली थाने में इसकी शिकायत दी।

इस मामले में ASP संसार सिंह ने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र के नालापार इलाके में रहने वाले लेख सिंह ने अपनी शिकायत में एक मौलवी सहित लोगों को आरोपित किया है। शिकायत में कहा गया है कि मुहल्ले में रहने वाले मौलवी गुलवेज और सिविल लाइंस में रहने वाले नदीम ने उनके बेटे को लालच देकर धर्म परिवर्तन कराना चाह रहे हैं। उनकी बातों में आकर उनका बेटा मुस्लिम बनना चाहता है। वह घर में नमाज पढ़ता है और रोजा रखता है।

यूपी में धर्मांतरण रैकेट

बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद विरोधी दस्ते (ATS) ने पिछले साल आईएसआई द्वारा फंडिंग किए जा रहे एक बड़े धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इस मामले में उत्तर प्रदेश एटीएस ने धर्मांतरण में शामिल उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहाँगीर को गिरफ्तार किया था। बाद में और भी कई गिरफ्तारियाँ की गई थीं।

जाँच के दौरान पुलिस ने बताया था इन सबके निशाने पर महिलाएँ और शारीरिक रूप से अक्षम बच्चे होते थे। दोनों को दिल्ली के जामिया नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। इस दौरान UP ATS ने रैकेट के लिए 150 करोड़ रुपये के विदेशी फंडिंग की बात भी कही थी। भारत में धर्मांतरण गतिविधियों के लिए ये पैसे बहरीन सहित अन्य खाड़ी देशों, ब्रिटेन, तुर्की से आते थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -