Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाज'नशा मुक्त असम के लिए प्रतिबद्ध': CM हिमंत बिस्व सरमा ने ₹20 करोड़ की...

‘नशा मुक्त असम के लिए प्रतिबद्ध’: CM हिमंत बिस्व सरमा ने ₹20 करोड़ की जब्त की गई ड्रग्स को जलाया, देखें वीडियो

''हमने असम पुलिस के सहयोग से गोलाघाट में 20 करोड़ रुपए से अधिक कीमत की 802 ग्राम हेरोइन, 1205 किलो गांजा/भाँग, 3 किलो अफीम और 2,06,906 नशीली गोलियाँ नष्ट कीं।''

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की ड्रग्स के खिलाफ जंग जारी है। नौजवानों में ड्रग्स की बढ़ती लत को लेकर चिंतित मुख्यमंत्री इस पर शिकंजा कसने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने शनिवार (17 जुलाई 2021) को गोलाघाट और दीफू में सार्वजनिक रूप से बड़ी मात्रा में जब्त की गई ड्रग्स को जलाया, ताकि ड्रग्स के खिलाफ जीरो टॉलरेंस का संदेश दिया जा सके।

उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। सीएम ने लिखा, ”ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई।” उन्होंने असम पुलिस को टैग करते हुए कहा, ”हमने असम पुलिस के सहयोग से गोलाघाट में 20 करोड़ रुपए से अधिक कीमत की 802 ग्राम हेरोइन, 1205 किलो गांजा/भाँग, 3 किलो अफीम और 2,06,906 नशीली गोलियाँ नष्ट कीं।”

उन्होंने सिलसिलेवार किए गए अपने ट्वीट में कहा, ”हम एक नशा मुक्त असम बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इससे निपटने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। इसके खिलाफ असम पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने की पूर्ण स्वतंत्रता दी गई है। ताकि प्रदेश के युवाओं को इस संकट से बचाया जा सके।”

दरअसल, ड्रग्स तस्करों के खिलाफ राज्य सरकार ने बड़े पैमाने पर कार्रवाई की है। असम पुलिस ने भारी मात्रा में ड्रग्स बरामद किया है। सीएम हिमंत ने इसकी तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की है। साथ ही उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया है। इस वीडियो में वह जब्त की गई ड्रग्स को जला रहे हैं। इसमें असम पुलिस भी उनके साथ नजर आ रही है।

इसके साथ ही अपने लाइव प्रोग्राम में मुख्यमंत्री ने COVID-19 विधवा सहायता योजना के तहत प्रत्येक 4 लाभार्थियों को 2.5 लाख रुपए के चेक भी वितरित किए।

गौरतलब है कि राज्य में ड्रग्स के बढ़ते इस्तेमाल को लेकर सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने हाल ही में फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ का जिक्र करते हुए कहा था कि ‘उड़ता पंजाब’ की तरह, असम भी ‘उड़ता असम’ बनने की राह पर था। लेकिन असम पुलिस जिस तरह से अपना काम कर रही है और अवैध नशीले पदार्थों के खिलाफ जंग जारी रखे हुए है, हमें लगता है कि हम राज्य के कई युवाओं, परिवारों को इससे बचाने में सफल रहे हैं। सरमा ने कहा, “हमने अब अवैध दवाओं के खिलाफ जीरो टॉलरेंस अपनाया है और राज्य भर में बड़े पैमाने पर अभियान चल रहे हैं।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe