Friday, January 21, 2022
Homeदेश-समाजमहमूद से दोस्ती में गई बुजुर्ग दंपति की जान: आकिब और उस्मान ने गला...

महमूद से दोस्ती में गई बुजुर्ग दंपति की जान: आकिब और उस्मान ने गला रेता

आकिब को पैसों की जरूरत थी। उसे पता था कि उसके पिता महमूद के दोस्त के पास काफी पैसे हैं। इसके बाद उसने उस्मान के साथ मिलकर बुजुर्ग दंपति की हत्या की योजना बनाई। पुलिस ने नकदी, ज्वेलरी, विदेशी करेंसी सहित चाकू और खून से सने कपड़े आकिब और उस्मान के पास से बरामद किए हैं।

लखनऊ के चौपटिया में बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या करने वाले आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि बुजुर्ग दंपत्ति (70 वर्षीय हिलाल अहमद और 65 वर्षीय पत्नी बिलकिस ) के घर में लूटपाट कर उनकी हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि उनके करीबी दोस्त महमूद-उल-हसन का बेटा आकिब महमूद है। जिसने अपने दोस्त उस्मान के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। दोनों आरोपित चौपटिया इलाके के रहने वाले हैं। पुलिस ने गिरफ्तारी के दौरान इनके पास से 2 चाकू, बाइक, लूटे गए रुपए, जेवरात व अन्य सामान को बरामद कर लिया है। साथ ही बताया है कि दोनों आरोपितों की धड़-पकड़ सीसीटीवी कैमरों और फुटेज की मदद से की जा सकी।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या के बाद पुलिस टीम ने संदिग्धों की फुटेज सोशल मीडिया पर जारी किए थे। जिसके बाद एक युवक उनके पास संदिग्धों की जानकारी लेकर पहुँचा और उसने दावा किया कि वह उनमें से एक को पहचानता है। युवक के बताए अनुसार ही पुलिस ने चौपटिया इलाके में रहने उस्मान उर्फ चपाती को हिरासत में ले लिया। जब सख्ती से पूछताछ हुई तो उसने हिलाल और बिलकिस की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली। साथ ही उसने पुलिस को अपने साथी आकिब का नाम भी बताया। इसके बाद पुलिस ने उसको भी गिरफ्तार कर लिया।

एएसपी ने इस मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि हिलाल अक्सर आकिब के पिता महमूद से मिलने उनके घर जाते थे। दोनों लोगों का एक दूसरे के घर आना-जाना था। आकिब को पता था कि हिलाल अपनी बेटी के पास अक्सर ऑस्ट्रेलिया जाते रहते हैं। उनके पास काफी पैसे और जेवरात हैं। पुलिस के अनुसार आरोपित युवक ई-रिक्शा खरीद किराए पर चलवाना चाहता था। इसके कारण उसने अपने दोस्त उस्मान उर्फ चपाती के साथ मिलकर हिलाल और उनकी पत्नी की हत्या कर लूटपाट की योजना बनाई।

आरोपितों के अनुसार उन्होंने एक हफ्ते पहले ही केजीएमयू के पास मेडिकल शॉप से सर्जिकल ग्लव्स खरीदे थे। इसके अलावा दोनों ने उसी इलाके से चाकू भी खरीदे। वारदात वाले दिन दोनों दंपत्ति के घर बाइक से गए थे। हालाँकि बाइक इस दौरान उन्होंने दूर खड़ी की थी और फिर ग्लव्स पहनकर ही घर में घुसे। साजिश के तहत उस्मान ने दरवाजे पर दस्तक दी और हिलाल के दरवाजा खोलते ही उसने चाकू से उनके गले पर ताबड़तोड़ वार कर दिया। कुछ देर बाद आकिब भी भीतर कमरे में दाखिल हो गया। इस बीच शोर सुनकर बिलकिस भी अपने कमरे से बाहर निकली, जिन्हें देखते ही पहले उस्मान और फिर आकिब ने हमला बोल दिया। इसके बाद बिलकिश को दोनों ने बेड पर धक्का दिया और फिर चाकू से गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया। दोनों ने बिलाल पर 10 तो बिलकीस पर चाकू से छह बार वार किया था। आरोपितों के पास से पुलिस ने करीब 22 हजार रुपए, मलेशियन और आस्ट्रेलियन करेंसी, ज्वैलरी, बाइक, दो चाकू और खून से सने कपड़े बरामद किए हैं।

गौरतलब है कि लखनऊ के चौपटिया में गुरुवार रात को घटी इस घटना ने सबको हिलाकर रख दिया था। मौक़े पर पहुँची पुलिस ने अपनी घर का मुआयना करने के बाद बताया था कि घटनास्थल से सर्जिकल दस्ताने और चाय के कप बरामद हुए हैं, जो इस दोहरे हत्याकांड में किसी परिचित के शामिल होने की संभावना की ओर इशारा करते हैं। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में जाँच शुरू की और जल्द से जल्द पूरे मामले की हर परत को खोलकर रख दिया।

मुस्लिम लड़के से प्यार और शादी का प्लान बाप को पसंद नहीं, बेटी की हत्या कर शव के किए टुकड़े-टुकड़े

मुस्लिम महिला ने धर्म परिवर्तन कर मंदिर में की शादी, परिजन दे रहे हैं दम्पति को ज़िंदा जलाने की धमकी

कमलेश तिवारी मर्डर: मौलाना कैफ़ी को बेल, मुस्लिम संगठन ने खड़ी कर दी थी वकीलों की फौज

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सपा सरकार है और सीएम हमारी जेब मैं है, जो चाहेंगे वही होगा’: कॉन्ग्रेस को समर्थन का ऐलान करने वाले तौकीर रजा पर बहू...

निदा खान कॉन्ग्रेस के समर्थक मौलाना तौकीर रजा खान की बहू हैं। उन्हें उनके शौहर ने कहा था कि वो नहीं चाहते कि परिवार की महिलाएं पढ़े।

शहजाद अली के 6 दुकानों पर चला शिवराज सरकार का बुलडोजर, कार्रवाई के बाद सुराना गाँव के हिंदुओं ने हटाई मकान बेचने वाली सूचना

मध्य प्रदेश प्रशासन की कार्रवाई के बाद रतलाम में हिंदू समुदाय ने अपने घरों पर लिखी गई मकान बेचने की सूचना को मिटा दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,458FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe