Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजअब एल्विश यादव के खिलाफ कोर्ट पहुँचीं मेनका गाँधी: फरीदाबाद से बरामद हुए 2...

अब एल्विश यादव के खिलाफ कोर्ट पहुँचीं मेनका गाँधी: फरीदाबाद से बरामद हुए 2 और कोबरा साँप, दूसरे राज्यों से मँगा कर गोदाम में रखे जाते थे

पुलिस पूछताछ में राहुल ने बताया कि कुछ प्रजाति के साँप बदरपुर के गाँव में नहीं मिलते। ऐसे में साँप राजस्थान, झारखंड और अन्य राज्यों से लाकर गाँव के गोदाम में रखे जाते थे। जहाँ उनका जहर निकाला जाता था।

नोएडा के सेक्टर-51 में आयोजित रेव पार्टी में साँपो के जहर की सप्लाई मामले में पुलिस रिमांड पर लिए गए राहुल ने कई राज बताए हैं। इसके बाद पुलिस ने हरियाणा के फरीदाबाद से दो और कोबरा साँप भी बरामद किए हैं। पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गए साँपो को रखने के लिए फरीदाबाद में गोदाम बनाया गया था और वहीं पर साँपों का जहर निकाला जाता था। वहीं मेनका गाँधी भी एल्विश यादव पर FIR दर्ज करवाने के लिए कोर्ट पहुँची हैं।

इस बीच राहुल के पास से बरामद लाल डायरी भी चर्चा में है, जिसमें कई नाम और पते कोड में लिखे गए हैं। पुलिस इन्हें डिकोड कर रही है। हालाँकि, नोएडा पुलिस इस पर कुछ भी बोलने से बच रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नोएडा के थाना सेक्टर-20 की पुलिस की अर्जी पर गौतमबुद्धनगर कोर्ट ने राहुल को 24 घंटे की रिमांड पर भेजा था। शुक्रवार (17 नवंबर, 2023) की दोपहर 12 बजे तक मिले रिमांड में पुलिस की अलग-अलग टीमों ने राहुल से गहन पूछताछ की। वहीं रिमांड अवधि पूरी होने के बाद राहुल को कड़ी सुरक्षा में लुक्सर जेल भेज दिया गया है।

अभी तक कि पूछताछ में पता चला कि हरियाणा के फरीदाबाद के एक गाँव में स्थित एक गोदाम में सांपों को रखा जाता था और गोदाम में ही साँपो का जहर निकाल कर रेव पार्टियों में सप्लाई किया जाता था। इन दोनों साँपो का मेडिकल परीक्षण कराए जाने के बाद वन विभाग की टीम को सौंप दिया जाएगा।

राजस्थान, झारखंड से भी लाए जाते थे साँप 

पुलिस पूछताछ में राहुल ने बताया कि कुछ प्रजाति के साँप बदरपुर के गाँव में नहीं मिलते। ऐसे में साँप राजस्थान, झारखंड और अन्य राज्यों से लाकर गाँव के गोदाम में रखे जाते थे। जहाँ उनका जहर निकाला जाता था। हालाँकि, अभी तक की जाँच के दौरान पुलिस को एल्विश यादव के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। 

वहीं पुलिस तकनीकी सबूत और सर्विलांस के आधार पर एल्विश और फाजिलपुरिया की संलिप्तता के बारे में सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है। फ़िलहाल, रिमांड पर लिए गए राहुल का पुलिस एल्विश यादव से आमना-सामना नहीं करा पाई है। जबकि अधिकारियों ने पहले यह दावा किया था कि राहुल को रिमांड पर लेकर एल्विश यादव से उसका आमना-सामना कराया जाएगा। 

FIR के लिए कोर्ट पहुँची मेनका गाँधी 

गौरतलब है कि मेनका गाँधी के एनजीओ पीएफए ने एल्विश यादव और गायक फजलपुरिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कोर्ट का रुख किया है। वे एल्विश और गायक के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम की धारा 9, 39, 49, 50 और 51, पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धारा 11 ए, पशु प्रदर्शन नियमों के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कराने के लिए प्रयासरत है। 

याचिका में कहा गया है, “मुझे एक वीडियो मिला जिसमें एल्विश यादव द्वारा लुप्तप्राय प्रजातियों का इस्तेमाल किया गया था। मैंने इस संबंध में 15 अक्टूबर, 2023 को हरियाणा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। जब कार्रवाई नहीं हुई तो मैं 6 नवंबर, 2023 को हरियाणा पुलिस आयुक्त से मुलाकात की। जब कोई कार्रवाई नहीं की गई तो मुझे इसे अदालत के समक्ष स्थानांतरित करने के लिए मजबूर होना पड़ा।”

बता दें कि मेनका गाँधी ने हाल ही में गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर से बात की थी लेकिन तब भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी। जिसके बाद उनके NGO ने याचिका दायर की है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में एल्विश यादव का नाम नोएडा में शिकायत में दर्ज है। जिसके बाद नोएडा पुलिस ने एल्विश यादव को पूछताछ के लिए एक बार बुलाया था। वहीं दोबारा पूछताछ के लिए बुलाने पर एल्विश यादव तबीयत खराब होने की वजह से नहीं आए। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -