Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजसुपुर्दे खाक हुए बलिदानी DSP हुमायूँ भट्ट, साल भर पहले हुआ था निकाह; 2...

सुपुर्दे खाक हुए बलिदानी DSP हुमायूँ भट्ट, साल भर पहले हुआ था निकाह; 2 महीने की है बेटी: अनंतनाग एनकाउंटर में कर्नल और मेजर भी हुए थे वीरगति को प्राप्त

कश्मीर में अनंतनाग क्षेत्र के पत्रकार रोहिल बशीर ने ऑपइंडिया से बात करते हुए बताया कि DSP हुमायूँ भट्ट सहित सेना के 2 अधिकरियों पर हमला करने वाला एक हमलावर जुलाई 2022 में आतंकवाद से जुड़ा था। इसका नाम उज़ैर खान है। उजैर ने लगभग सवा साल पहले प्रतिबंधित TRF संगठन ज्वॉइन किया था।

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मंगलवार (12 सितंबर, 2023) को भारतीय सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में 2 आतंकियों को मार गिराया गया। भारतीय सुरक्षा बल के 3 जवानों को भी वीरगति मिली थी। बलिदान हुए जवानों में सेना के कर्नल मनप्रीत सिंह और मेजर आशीष धोंचक के अलावा जम्मू कश्मीर पुलिस के डिप्टी एसपी हुमायूँ भट्ट शामिल हैं। हुमायूँ का अंतिम संस्कार 13 सितंबर की रात को ही कर दिया गया है।

DSP हुमायूँ सहित अन्य बलिदानी जवानों को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रद्धांजलि अर्पित की। हुमायूँ का अंतिम संस्कार 13 सितंबर 2023 को बड़गाम जिले में हुआ। उनके जनाजे में कई गणमान्य लोग शामिल हुए और उसे कंधा दिया। गमगीन माहौल में हुए अंतिम संस्कार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हुमायूँ जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) में बतौर DSP पिछले 3 साल से तैनात थे। वह मूल रूप से पुलवामा के त्राल इलाके के निवासी थे। फिलहाल हुमायूँ का परिवार श्रीनगर एयरपोर्ट के पास मौजूद VIP कॉलोनी हुमहामा में रहता है। हुमायूँ के पिता ने बताया कि गोली लगने के बाद अधिक खून बन जाना उनके बेटे की मौत की वजह बनी।

हुमायूँ एक देशभक्त परिवार से ताल्लुक रखते थे। उनके पिता गुलाम हसन भी जम्मू-कश्मीर पुलिस में DIG पद से रिटायर हुए थे। हुमायूँ भट्ट की पिछले साल ही एक प्रोफेसर से शादी हुई थी। उनकी एक बेटी है, जिसकी उम्र 2 साल है। हुमायूँ के पिता ने भी अपने बेटे को अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित की।

पिछले साल भी आतंकी बना था हमलावर

कश्मीर में अनंतनाग क्षेत्र के पत्रकार रोहिल बशीर ने ऑपइंडिया से बात करते हुए बताया कि DSP हुमायूँ भट्ट सहित सेना के 2 अधिकरियों पर हमला करने वाला एक हमलावर जुलाई 2022 में आतंकवाद से जुड़ा था। इसका नाम उज़ैर खान है।

उजैर ने लगभग सवा साल पहले प्रतिबंधित TRF संगठन ज्वॉइन किया था। वह कोकानाग इलाके के नगाम का रहने वाला था। माना जा रहा है कि इसी संगठन ने इसी साल 4 अगस्त को कुलगाम जिले में सेना की एक टुकड़ी पर हमला किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -