Tuesday, November 30, 2021
Homeदेश-समाजPUBG खेलने से पिता ने किया मना, बेटे ने हसियां से कर दिए टुकड़े-टुकड़े

PUBG खेलने से पिता ने किया मना, बेटे ने हसियां से कर दिए टुकड़े-टुकड़े

रघुवीर पॉलीटेक्निक का छात्र था, लेकिन पढ़ाई में उसका मन नहीं लगता था। मोबाइल गेम और नशे की लत के कारण वो 3 बार फेल भी हो चुका था। जिससे उसके माता-पिता काफ़ी दुखी रहते थे।

कर्नाटक के बेलगाम में बेटे को पबजी खेलने से रोकने के कारण एक पिता को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। मामला सिद्धेश्वर नगर काकटी गाँव का है। जहाँ सोमवार (सितंबर 9, 2019) को एक 25 साल के बेटे ने अपने 61 वर्षीय पिता की गुस्से में हत्या कर दी।

लड़के की पहचान रघुवीर कुम्हार के रूप में हुई है, जबकि मृतक पिता का नाम शंकर देवप्पा कुम्हार है, जो 3 महीने पहले ही जिला सशस्त्र बल से सेवानिवृत्त में हुए थे। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रघुवीर पॉलीटेक्निक का छात्र था, लेकिन पढ़ाई में उसका मन नहीं लगता था। मोबाइल गेम और नशे की लत के कारण वो 3 बार फेल भी हो चुका था। जिससे उसके माता-पिता काफ़ी दुखी रहते थे।

रघुवीर अपने पिता शंकर से ऑनलाइन गेम के लिए रविवार रात से ही पैसे माँग रहा था, लेकिन पिता ने उसे पैसे देने से मना कर दिया। गुस्सा में उसने पड़ोसियों की खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए थे। पड़ोसियों ने इस घटना की शिकायत पुलिस से की और फिर उसे काकटी थाने ले जाया गया था। बाद में शंकर के थाने पहुँचने पर मामला शांत हुआ था। लेकिन पुलिस ने उसे चेतावनी दी कि अगर वो ऐसी अराजकता फिर फैलाएगा तो उन्हें सख्त कार्यवाई करनी पड़ेगी।

इस घटना के बाद सोमवार की सुबह करीब साढ़े 4 बजे शंकर को ऐसा एहसास हुआ कि रघुवीर अभी भी अपने फोन पर पबजी खेल रहा है। वे उसके कमरे में गए और फोन छीन लिया। इसके बाद रघुवीर तुरंत अपने पिता पर झपटा और जाकर उसने उस कमरे की कुंडी लगाई जिसमें उसकी माँ सो रही थी। फिर अपने पिता पर हसियां से हमला किया और उनके टुकड़े कर दिए।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौक़े पर पहुँची और रघुवीर को गिरफ्तार कर लिया। एसीपी ने बताया कि रघुवीर को ऑनलाइन गेम खासकर पबजी खेलने की लत लगी हुई थी। सोमवार की सुबह जब पिता ने उसे ऐसा करने से रोका तो उसने उनके हाथ-पाँव काट दिए।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,538FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe