Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजक्रिकेट खेलते हुए बहस के बाद बल्ले और स्टंप से जानलेवा हमला: मोहम्मद आदिल,...

क्रिकेट खेलते हुए बहस के बाद बल्ले और स्टंप से जानलेवा हमला: मोहम्मद आदिल, जेनुलहक खान और इरफान गिरफ्तार

मारपीट को शांत कराने और बीच-बचाव करने गए लोगों को भी हमलावरों ने नहीं बख्शा। यह पूरा मामला क्रिकेट मैच के दौरान एक तरफ से दूसरी तरफ गेंद के चले जाने के कारण हुआ, जिसमें...

राजस्थान के सलूंबर में गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल में रविवार शाम काे क्रिकेट खेलते समय दो समुदायों के बीच आपसी हाथापाई हुई और फिर मामला सांप्रदायिक झड़प में बदल गया।

रिपोर्ट्स के अनुसार, विद्यालय प्रांगण में मौजूद खेल के मैदान पर कुछ लड़के अलग-अलग पिच पर क्रिकेट खेल रहे थे। जिस दौरान एक तरफ से दूसरी तरफ गेंद के चले जाने पर दोनों पक्षों में बहस शुरू हो गई। देखते ही देखते बहस करते हुए लोग आपस मे गाली-गलौज करने लगे। यही नहीं, यह विवाद ऐसा बढ़ा कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर बल्ले और स्टंप से जानलेवा हमला कर दिया।

इस मारपीट में सोहन, नीलेश भोई, गौतम, अशोक और मोइन खान सहित पाँच लोग घायल हो गए। वहीं घटना को शांत कराने और बीच-बचाव करने पहुँचे सोहनलाल भोई को भी हमलावरों ने नहीं बख्शा। आरोपितों ने उनके सिर पर वार किया, इससे वे गंभीर रूप से घायल हाे गए। इसके बाद उन्हें और अन्य दाे युवकाें काे प्राथमिक उपचार के बाद महाराणा भूपाल सरकारी अस्पताल में रेफर किया गया है।

घटना की जानकारी होते ही पुलिस महकमा एक्शन में आया। एएसपी मुकेश सांखला, डीएसपी रतन चावला, थाना प्रभारी हनवंत सिंह सोढ़ा, थाना प्रभारी (सारदा) अनिल बिश्नोई, थाना प्रभारी (सेमरी) कर्मवीर सिंह, थाना प्रभारी (लसाड़िया) सूरजमल, थाना प्रभारी (झल्लारा) भैयालाल, गींगला से थाना प्रभारी तेज करण सिंह सहित अन्य थानों से पुलिस बल को मौके पर तैनात किया गया है।

पुलिस ने घायल सलूंबर निवासी नीलेश पुत्र जगदीश भोई की शिकायत पर 19 नामजद और 50 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। घटना के एक दिन बाद, पुलिस ने मामले के सिलसिले में सोमवार को मोहम्मद आदिल, मोनू उर्फ जेनुलहक खान और मोहम्मद इरफान को गिरफ्तार किया है।

वहीं घटना से आक्रोशित एक समुदाय के लोगों ने चुंगी नाका की सड़कों पर जमकर हंगामा किया। भीड़ ने कोरोनो वायरस महामारी के मद्देनजर बनी अस्थायी चाैकी की कुर्सियाँ तोड़ दी और डिवाइडर को बीच रास्ते में लगाकर सड़क को ब्लॉक कर दिया।

इस बीच स्थित को काबू करने पहुँची पुलिस से भी भीड़ ने हाथापाई की। जिसके बाद इलाके में कानून व्यवस्था की स्थिति को बहाल करने के लिए पुलिस को सख्त कदम उठाने पड़े। यह बवाल यहीं नहीं रुका। सर्व समाज के सदस्यों ने सोमवार को भाेईवाड़ा चाैराहे से उप-मंडल कार्यालय तक मौन रैली निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया और उचित कार्रवाई की माँग की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -