Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजशराब पीना, चोरी व छेड़खानी... कृष्ण, उनके वंशज और बलराम पर मुरारी बापू के...

शराब पीना, चोरी व छेड़खानी… कृष्ण, उनके वंशज और बलराम पर मुरारी बापू के बोल: कोटा में FIR दर्ज

मुरारी बापू ने भगवान श्रीकृष्ण के बारे में कहा कि वो धर्म की स्थापना करने में पूरी तरह फेल हो गए थे। बलराम के बारे में उन्होंने कहा कि वो चौबीस घंटे मदिरा के नशे में रहते थे। मुरारी बापू सिर्फ इतने पर नहीं रुके। उन्होंने कृष्ण के पुत्र और पौत्रों पर भी शराब के नशे में मार्गों पर छेड़छाड़ करने जैसा आरोप लगाया।

भगवान श्रीकृष्ण और उनके भाई बलराम को लेकर कथावाचक मुरारी बापू द्वारा की गई अनर्गल टिप्पणी से लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। इस मामले में अब कोटा के रंगबाड़ी निवासी महावीर यादव ने महावीर नगर थाने में उनके खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

एफआईआर दर्ज कराने वाले महावीर यादव राजस्थान युवा यादव महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। उनका आरोप है कि मुरारी बापू ने ऐसी बातें करके हिंदुओ की भावनाओं को ठेस पहुँचाया है।

कथित बयान की वीडियो देखते हुए महावीर नगर पुलिस स्टेशन में इस मामले में मुरारी बापू के खिलाफ धारा 295, 298, 153ए, 511, 66, 67 के तहत केस दर्ज किया गया है।

आख़िर क्या था मामला

दरअसल कुछ समय पहले मिर्जापुर स्थित आदि शक्ति पीठ में कथावाचक मुरारी बापू ने अपनी रामकथा के दौरान भगवान कृष्ण के बारे में अपमानजनक और आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसका एक चैनल के माध्यम से प्रसारण भी किया गया था। यह वीडियो अभी हाल में सोशल मीडिया के माध्यम से जनता के बीच वायरल हो रहा है।

वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह मुरारी बापू ने भगवान श्रीकृष्ण के बारे में कहा कि वो धर्म की स्थापना करने में पूरी तरह फेल हो गए थे। बलराम के बारे में उन्होंने कहा कि वो चौबीस घंटे मदिरा के नशे में रहते थे। मुरारी बापू सिर्फ इतने पर नहीं रुके। उन्होंने कृष्ण के पुत्र और पौत्रों पर भी शराब के नशे में मार्गों पर छेड़छाड़ करने की अभद्र टिप्पणी भी की। ऐसे घिनौने आरोप लगा कर मुरारी बापू ने हिंदू धर्म और भगवान कृष्ण को पूजने वालों की भावनाओं को आहत किया।

आपत्तिजनक बयान पर एफआईआर की माँग

मुरारी बापू द्वारा भगवान श्री कृष्ण और उनके परिवार पर अभद्र टिप्पणी करने से आक्रोषित अलग-अलग जगह से लोग वीडियो की सत्यता की जाँच कर मुरारी बापू के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

इंदौर में भारतीय यादव महासभा युवा ईकाई के प्रदेश अध्यक्ष गुलशन यादव ने डीजीपी को लिखित शिकायत कर मुरारी बापू द्वारा गलत और आपत्तिजनक टिप्पणी पर सख़्त कार्रवाई की माँग की है।

जयपुर कालवाड़ थाने में एफआईआर दर्ज कराने वाले सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज खुद को रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम का पीठाधीश्वर बताते हैं। परिवादी सौरभ राघवेंद्र आचार्य सोमवार को प्रेस वार्ता के जरिए भी अपनी बात मीडिया के सामने रखेंगे।

वहीं टप्पा तहसील शिवपुर में जिला यादव महासभा होशंगाबाद के जिला ग्रामीण अध्यक्ष राजेश यादव द्वारा, मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर इलाके के निवासी जवाहरलाल राय, राष्ट्रीय यादव सेना हरदा, जैसे कई अन्य लोगों ने मुरारी बापू की विवादित टिप्पणी पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए एफआईआर दर्ज करवाई है।

मुरारी बापू पहले भी कर चुके है कई विवादित टिप्पणियाँ

इससे पहले भी मुरारी बापू अपने अली मौला के कारण सोशल मीडिया पर काफी चर्चित रहे थे। मुरारी बापू ने व्‍यास पीठ में कहा था, “त्रिपुंडधारियों और बाबाओं को उमर खैय्याम और रूमी पढ़ना चाहिए, तब पता लगेगा बंदगी क्या है!” इसके बाद उन्हें संत समाज का गुस्‍सा झेलना पड़ा था। विवाद में आने के बाद उन्होंने स्वयं का बचाव करते हुए, दूसरे धर्माचार्यों पर ताने मारने और उन्हें अज्ञानी कहने लगे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -