Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजअसम: आदिवासी युवक रितुपर्णा पेगु का गला रेता, हुसैन, इब्राहिम और उनकी अम्मी समेत...

असम: आदिवासी युवक रितुपर्णा पेगु का गला रेता, हुसैन, इब्राहिम और उनकी अम्मी समेत 5 गिरफ्तार

यह घटना शहर के नूनमाटी इलाके में स्थित अरमान होम फर्निशिंग नामक एक स्टोर में हुई। हत्या की यह पूरी घटना स्टोर के सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तारी की गई।

असम के गुवाहाटी में एक आदिवासी हिन्दू युवक रितुपर्णा पेगु (Rituparna Pegu) को गला काटकर मौत के घाट उतार दिया गया। नूनमाटी पुलिस (Noonmati police) ने शुक्रवार (जून 12, 2020) दोपहर रितुपर्णा पेगु की निर्मम हत्या के मामले में 5 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपितों की पहचान दुलाल अली, इब्राहिम अली, इब्राहिम की अम्मी मनोवर खातुन, हुसैन अली और अरमान अली (Dulal Ali, Ibrahim Ali, Manowara Khatun, Hussain Ali and Arman Ali) के रूप में की गई है।

बताया जा रहा है कि यह विवाद एक कुर्सी को लेकर था। रिपोर्ट्स के अनुसार, ACP देबराज उपाध्याय ने इस हत्या के बारे में कहा, “यह घटना अरमान होम फर्निशिंग नामक एक दुकान में हुई। वहाँ आरोपित हुसैन अली और रितुपर्णा पेगू दुकान के अंदर बैठे थे। सब कुछ ठीक चल रहा था, लेकिन वे एक कुर्सी को लेकर बहस में उलझ गए। माहौल गरम होने पर रितुपर्णा पेगू ने आरोपित को थप्पड़ मार दिया। इस पर हुसैन अली आगबबूला हो गया। उसके परिवार के सदस्य भी घटनास्थल पर पहुँचे और रितुपर्णा पेगु की पिटाई शुरू कर दी। हुसैन अली ने उसे पीछे से धक्का दिया और पेगू सड़क किनारे गिर गया जहाँ उसकी मौत हो गई।”

जिस दुकान में यह वारदात हुई उसके मालिक अरमान अली ने कहा, “उनकी लड़ाई किसी चीज को लेकर हुई। बहस शुरू होने के बाद, हुसैन अली अपने परिवार के सदस्यों को लेकर आए, जिससे हादसा हुआ। मैंने ऐसा होने से रोकने की कोशिश की, लेकिन हुसैन ने रितुपर्णा की पीठ पर चाकू से वार किया।”

रितुपर्णो की हत्या के कई वीडियो सोशल मीडिया पर भी शेयर किए जा रहे हैं और इस निर्मम हत्या को लेकर लोग काफी आक्रोशित हैं।

गिरफ्तार किए गए आरोपितों में से एक, अरमान अली उस दुकान के मालिक हैं, जहाँ रितुपर्णा पेगु (Rituparna Pegu) को चाक़ू से मारा गया और हुसैन अली इस स्टोर में काम करता है। पाँचों आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147/148/149/302 के तहत नूनमाटी पुलिस स्टेशन में केस नंबर 294/20 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

नूनमाटी पुलिस मामले की जाँच कर रही है। गुवाहाटी के निवासी रितुपर्णा पेगु की शुक्रवार दोपहर को चाकू मारकर हत्या कर दी गई और उसके बाद उनकी लाश को सड़क पर फेंक दिया गया।

ट्विटर पर इस घटना को शेयर करते हुई एक ट्विटर यूजर ने लिखा है कि अरमान अली और हुसैन अली ने रितुपर्णा पेगु की निर्ममता से हत्या कर दी गई।

यह घटना शहर के नूनमाटी इलाके में स्थित अरमान होम फर्निशिंग (Armaan Home Furnishing) नामक एक स्टोर में हुई। हत्या की यह पूरी घटना स्टोर के सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तारी की गई।

CCTV से ली गई घटना की तस्वीर (साभार – dailynv)

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे कुछ लोगों के अनुसार, मृतक युवक की हुसैन अली के साथ बहस हुई। विवाद बढ़ने पर हुसैन अली ने उसकी पीठ में चाकू मार दिया, जिसके बाद पेगु सड़क किनारे गिर गया। हालाँकि, कुछ रिपोर्ट्स में यह भी बताया जा रहा है कि रितुपर्णा पेगू को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसने वहाँ दम तोड़ दिया। यह घटना दुकान के सीसीटीवी में कैद हो गई।

सोशल मीडिया पर मृतक रितुपर्णा के बच्चे और पत्नी का वीडियो शेयर करते हुए स्क्विंट नियोन ने लिखा है, “यह 2 या 3 महीने के बच्चे के साथ रितुपर्णा पेगू (आदिवासी) की पत्नी का वीडियो है, जिसका गला आज गुवाहाटी में दिन के उजाले में हुसैन अली, इब्राहिम अली, दुलाल अली, अरमान अली और मुनवारा खातुन द्वारा तालिबानी शैली में काट दिया गया था।”

ट्विटर पर इस घटना का वीडियो शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर ने लिखा है कि एक आदिवासी रितुपर्णा पेगू की गुवाहाटी में अरमान अली, अली हुसैन और उसकी माँ और परिवार के सदस्यों द्वारा उसका गला काटकर हत्या कर दी गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe