Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजवीडियो बनाने के लिए ज़िंदा गाय को बनाया शेर का चारा, मुख्य आरोपित मयूद्दीन...

वीडियो बनाने के लिए ज़िंदा गाय को बनाया शेर का चारा, मुख्य आरोपित मयूद्दीन कादरी फरार, 5 गिरफ्तार

"ये लोग जिस तरह कैमरों के साथ तैयार थे, इसे देख कर ऐसा लग रहा है कि यह उनके लिए रूटीन जैसा है। हो सकता है कि उन्होंने शेर को भी कुछ दिनों से भूखा रखा हो और मोटी रकम के एवज में यह शो आयोजित किया हो।"

गुजरात के गिर जंगल में एक शेर को भूखा रख कर उससे जबरदस्ती गाय का शिकार करवाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि कुछ लोगों ने सिर्फ मनोरंजन और एक अवैध शो बनाने के लिए वीडियो शूट किया। इस मामले में पाँच आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है जबकि मुख्य आरोपित अभी भी फरार है। इन लोगों ने शेर के सामने गाय को चारे के रूप में पेश किया, ताकि वो इस शिकार को मनोरंजन हेतु कैमरे में कैद कर सकें।

वीडियो में देखा जा सकता है कि गाय काफी असहाय नजर आ रहे हैं और कुछ दूरी पर कुछ लोग अपने फ़ोन से वीडियो शूट कर रहे हैं। वीडियो में शेर, उस गाय को मारने की कोशिश कर रहा है। बताया गया है कि आरोपितों ने शेर को भी कई दिनों तक भूखा रखा, ताकि वो गाय को देखते ही उस पर टूट पड़े। शेर को प्रताड़ित करने और जंगल के रिजर्व्ड क्षेत्र में बिना अनुमति घुसने के आरोप में 5 आरोपित दबोचे गए हैं।

शेर के सामने गाय को जानबूझ कर डालने की घटना गुजरात स्थित जमवाला के पास स्थित घंटवाड गाँव की है, जहाँ ये वीडियो शूट किया गया। जूनागढ़ वाइल्डलाइफ सर्कल के अधिकारी इसकी जाँच कर रहे हैं। वीडियो में कुछ बाइक्स भी खड़ी दिख रही हैं, जिससे पता चलता है कि कुछ लोगों को इस अवैध शो को दिखाने के लिए खास तौर पर लाया गया था और उनका उद्देश्य मनोरंजन के अलावा और कुछ नहीं था। वन विभाग का कहना है संभव है कि मोटी रकम के एवज में ये अवैध शो आयोजित किया गया हो।

वन विभाग के एक अधिकारी ने बताया, “ये लोग जिस तरह कैमरों के साथ तैयार थे, इसे देख कर ऐसा लग रहा है कि यह उनके लिए रूटीन जैसा है। हो सकता है कि उन्होंने शेर को भी कुछ दिनों से भूखा रखा हो और मोटी रकम के एवज में यह शो आयोजित किया हो।” ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के अनुसार, चीफ कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट (CCF) दुष्यंत वसावदा ने बताया कि मुख्य आरोपित मयूद्दीन कादरी की तलाश जारी है।

उन्होंने इसे आपराधिक मामला बताते हुए कहा कि आरोपितों ने इस तरह से इसे अंजाम दिया, जैसे उन्हें पता हो कि शेर किस तरफ से आने वाला है। उन्हें जंगल के रास्तों के बारे में भी पता था। गिरफ्तार किए गए मुकेश सिंघड़, दिलीप सिंघड़, दिलीप लालकिया, भाना सिंघड़ और सतीश नगरलिया का कोविड टेस्ट नेगेटिव आया है। अब इन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। इनमें से 4 कोडिनार स्थित घंटवाड़ के रहने वाले हैं, जबकि एक गिर गढला स्थित जमवाला का निवासी है।

इससे पहले केरल में एक गर्भवती हथिनी को किसी ने पटाखों से भरा अनानास खिला दिया था। ये मामला कई दिनों तक चर्चा में रहा था और पशु अधिकार की रक्षा के लिए आवाज़ उठे थे। कुछ स्थानीय लोगों ने मई 25, 2020 को उक्त हथिनी को गाँव में आते हुए देखा था और 27 मई को पूरे दिन पानी में खड़े रहने के बाद उसकी मौत हो गई थी। मुँह में पटाखे फटने से उसे गहरे घाव हो गए थे और उस जगह पर सेप्सिस हो गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe