Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजअभी भी फरार है भगोड़ा अमृतपाल सिंह: पंजाब पुलिस ने 78 को गिरफ्तार किया,...

अभी भी फरार है भगोड़ा अमृतपाल सिंह: पंजाब पुलिस ने 78 को गिरफ्तार किया, 9 हथियार बरामद, पूरे राज्य में चलाया जा रहा व्यापक अभियान

पंजाब पुलिस के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि शाहकोट-मलसैन रोड में WPD के सक्रिय होने की खबर मिली थी। ये इलाका जालंधर में है।

‘वारिस पंजाब दे’ के मुखिया अमृतपाल सिंह के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। अब तक खबरों में कहा जा रहा था कि अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, हालाँकि अब पता चला है कि वो अभी भी फरार है। पंजाब पुलिस ने बताया है कि ताज़ा कार्रवाई में 78 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पंजाब पुलिस ने अमृतपाल सिंह को भगोड़ा बताया है। उसकी तलाश जारी है। ऑपरेशन के दौरान 9 हथियार भी जब्त किए गए हैं।

इनमें 8 राइफल और एक रिवॉल्वर है। पंजाब पुलिस ने स्पष्ट किया है कि स्थिति नियंत्रण में है और साथ ही लोगों से अपील की है कि वो अफवाहों पर ध्यान नहीं दे। पंजाब पुलिस ने शनिवार (18 मार्च, 2023) को व्यापक तलाशी अभियान (Cordon And Search Operations/CASO) चलाया है। ‘वारिस पंजाब दे’ के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। अब तक 78 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, वहीं कई अन्य को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पंजाब पुलिस के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि शाहकोट-मलसैन रोड में WPD के सक्रिय होने की खबर मिली थी। ये इलाका जालंधर में है। यहीं से 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया। अमृतपाल सिंह समेत कई फरार हैं, जिनकी तलाश में व्यापक अभियान चलाया जा रहा है। जो 7 राइफल जब्त किए गए हैं, वो 12 बोर के हैं, वहीं एक राइफल .315 बोर का है। रक रिवॉल्वर के अलावा 373 ज़िंदा गोलियाँ भी मिली हैं।

कई पंथों के बीच वैमनस्य फैलाने के लिए WPD के विरुद्ध 4 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या की कोशिश, पुलिसकर्मियों पर हमला और सरकारी कामकाज में बढ़ा डालने के मामले भी शामिल हैं। इनमें अजनाला पुलिस थाने पर हमला प्रमुख है। पुलिस ने कहा है कि इनमें शामिल सभी आरोपितों पर कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। स्थिति नियंत्रण में है और फेक न्यूज़ को लेकर लोगों को आगाह किया गया है। अमृतपाल सिंह कहाँ छिपा हुआ है, इस सम्बन्ध में ज्यादा कुछ नहीं बताया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देशद्रोही, पंजाब का सबसे भ्रष्ट आदमी, MeToo का केस… खालिस्तानी अमृतपाल का समर्थन करने वाले चन्नी की रवनीत बिट्टू ने उड़ाई धज्जियाँ, गिरिराज बोले...

रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही की तरह व्यवहार कर रहा है, देश को गुमराह कर रहा है। गिरिराज सिंह बोले - ये देश की संप्रभुता पर हमला।

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -