Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाजUP पुलिस के हत्थे चढ़ गए वकील परवेज अली, पड़ोसी सदर पठान के नाम...

UP पुलिस के हत्थे चढ़ गए वकील परवेज अली, पड़ोसी सदर पठान के नाम से स्पीड पोस्ट भेज हिंदू व्यापारी को दी थी हत्या की धमकी

"उदयपुर में कन्हैया लाल के बाद अब तू मरने को तैयार हो जा। तू मुसलमानों के खिलाफ बहुत पोस्ट डालता है। मैं तुझे खुला चैलेंज देकर मारूँगा।"

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिस ने एक ऐसे वकील को पकड़ा है, जिसने अपने पड़ोसी के नाम से एक हिंदू व्यापारी को हत्या करने की धमकी दी थी। इस वकील का नाम परवेज अली है। उसने हिंदू व्यापारी को अपने पड़ोसी सदर पठान के नाम से स्पीड पोस्ट भेजकर धमकी दी थी। परवेज को गुरुवार (7 जुलाई 2022) को गिरफ्तार किया गया।

गाजियाबाद के SP (देहात) ईरज राजा ने बताया, “4 जुलाई 2022 को थाना लोनी बॉर्डर क्षेत्र में रहने वाले देवेंद्र ढाका नाम के व्यक्ति को स्पीड पोस्ट से भेजे गए एक पत्र के माध्यम से जान से मारने की धमकी मिली थी। इसे गंभीरता से लेते हुए देवेंद्र को सुरक्षा मुहैया कराई।” उन्होंने बताया, “हमने परवेज नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो लोनी बॉर्डर इलाके में रहता है। इसने यह लेटर अपने पड़ोसी को फँसाने के लिए लिखा था। वह अपने पड़ोसी पर FIR और पुलिस कार्रवाई चाहता था। हमने CCTV और अन्य इलेक्ट्रानिक सबूतों की जाँच के बाद पाया कि उस लेटर को सदर पठान ने नहीं, बल्कि परवेज ने लिखा था।”

परवेज ने सदर पठान के नाम से जो धमकी भरा पत्र भेजा था, उसमें लिखा था, “उदयपुर में कन्हैया लाल के बाद अब तू मरने को तैयार हो जा। तू मुसलमानों के खिलाफ बहुत पोस्ट डालता है। मैं तुझे खुला चैलेंज देकर मारूँगा। फिर मैं शहीद भी हो जाऊँ या गिरफ्तार भी हो सकता हूँ, लेकिन हम पठान छिपकर वार नहीं करते। आज से अपनी और अपने पुत्र रचित की उल्टी गिनती शुरू कर दे। मैं जामिया से पढ़ा हूँ और तेरे खिलाफ वहाँ मैंने पूरी फौज बना दी है। अब तू मेरा नाम भी सुन ले और नंबर भी। मुझे सनकी यूँ ही नहीं कहते हैं। तेरी मौत। सदर पठान पुत्र शाहिद, खेकड़ा, ऊपरकोट।”

धमकी भरा पत्र (साभार- दैनिक भस्कर)

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन देवेंद्र ढाका को धमकी दी गई वे व्यापारी नेता भी हैं। पुलिस के मुताबिक परवेज उस डाकघर की CCTV में दिखाई दिया, जहाँ से धमकी वाली चिट्ठी भेजी गई थी। पुलिस पूछताछ में परवेज ने बताया कि कुछ दिनों पहले उसका सदर खान से झगड़ा हुआ था और तब से वह बदला लेना चाह रहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,463FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe