Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजकॉलेज का प्राचार्य होकर माँ सरस्वती पर बनाया आपत्तिजनक वीडियो, गिरफ्तार

कॉलेज का प्राचार्य होकर माँ सरस्वती पर बनाया आपत्तिजनक वीडियो, गिरफ्तार

आरोपित प्राचार्य बृहस्पतिवार की रात खुद ही सरेंडर करने भगुआपुरा थाने पहुँच गया था। जबकि, पुलिस का दावा है कि उसे रात को थाने के पास से गिरफ्तार किया गया है।

माँ सरस्वती पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में पिछले पाँच दिन से फरार चल रहा मध्य प्रदेश के दतिया में सेंवढ़ा कॉलेज का प्राचार्य डाॅ एसएस गौतम बृहस्पतिवार (मई 30, 2019) की रात पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने प्राचार्य को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश दी, लेकिन जब कहीं पता नहीं चला तो पुलिस ने आरोपित की नरसिंहपुर में पदस्थ डिप्टी कलेक्टर बेटी और नायब तहसीलदार बेटे के घर तलाशी की, इसके बाद आरोपित पर दबाव पड़ा।

देवी सरस्वती पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर के वीडियो किया था वायरल

हाल ही में सेंवढ़ा कॉलेज के प्राचार्य का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें प्राचार्य एसएस गौतम हिन्दू देवी सरस्वती के बारे में अत्यंत आपत्तिजनक और अभद्र बातें कह रहा है। 26 मई को वीडियो वायरल होने के बाद लोगों का गुस्सा फूटा और प्राचार्य एसएस गौतम के खिलाफ नारेबाजी की। दतिया में ब्राह्मण समाज के अलावा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और एनएसयूआई ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर मामला दर्ज करने और प्राचार्य को गिरफ्तार करने की माँग की।

विभिन्न दलों के छात्र नेताओं ने कहा कि अगर प्राचार्य के खिलाफ कठोर कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन करेंगे। प्राचार्य के खिलाफ लोगों का आक्रोश देखते हुए पुलिस हरकत में आई और पुलिस ने प्राचार्य गौतम को शुक्रवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आरोपित प्राचार्य बृहस्पतिवार की रात खुद ही सरेंडर करने भगुआपुरा थाने पहुँच गया था। जबकि, पुलिस का दावा है कि उसे रात को थाने के पास से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को सुबह पहले कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील किया। इसके बाद एडीजे लवकेश सिंह ने कोर्ट में प्राचार्य को पेश किया। आरोपित ने जमानत अर्जी दी लेकिन न्यायालय ने इसे खारिज करते हुए आरोपित प्राचार्य को 14 जून तक की न्यायिक हिरासत में ग्वालियर जेल भेज दिया। वहीं, आपत्तिजनक वीडियो बनाकर वायरल करने वाले इसी काॅलेज के प्रोफेसर मनोज व्यास के खिलाफ भी मामला दर्ज हो गया है।

सेंवढ़ा थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह के अनुसार प्रिंसिपल गौतम पर 153-ए और 295-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और कॉलेज के प्रोफेसर मनोज को भी इन्हीं धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है।

घटना के विरोध में जगह-जगह जलाए गए पुतले

पुलिस ने फरियादी कुलदीप यादव की रिपोर्ट पर प्राचार्य गौतम के खिलाफ मामला दर्ज तो कर लिया था, लेकिन लोगों की माँग के अनुसार 295-ए नहीं लगाई थी। जिसके चलते सुबह भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह बुंदेला के नेतृत्व में तमाम कार्यकर्ता एसपी डी.कल्याण चक्रवर्ती से मिले। शाम को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने राजगढ़ चौराहे पर प्राचार्य गौतम का पुतला जलाकर चप्पलों से पीटा फिर पुलिस प्रशासन से प्राचार्य की गिरफ्तारी की माँग की। करीब आधा घंटे तक चौराहे पर प्रदर्शन हुआ। इस दौरान भाजपा नेता डॉ. राजू त्यागी, अतुल भूरे चौधरी, बल्लन गुप्ता, आकाश भार्गव सहित तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे। वहीं थरेट में बस स्टैंड पर ग्रामीणों ने प्राचार्य के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए पुतला बनाकर जूतों की माला पहनाई, फिर पुतला जलाया।

थरेट में आक्रोशित युवा पुतला दहन की तैयारी करते हुए

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe