Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाजकट्टरपंथी मुस्लिमों ने हिंदू लड़कियों से की छेड़छाड़, फिर चंद्रमूलेश्वर महादेव मंदिर के पास...

कट्टरपंथी मुस्लिमों ने हिंदू लड़कियों से की छेड़छाड़, फिर चंद्रमूलेश्वर महादेव मंदिर के पास तलवार-लाठियों से हमला: गुजरात के उमरेठ में भय का माहौल

उमरेठ में उस वक्त दहशत का माहौल बन गया, जब आधी रात के करीब छेड़छाड़ की घटना को अंजाम देने वाले बदमाश कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ के साथ तलवारें और लाठियाँ लेकर रेलवे स्टेशन रोड की ओर निकल पड़े। जब ये लोग सड़क पर उतरे, तब स्ट्रीट लाइटें अचानक बंद हो गईं।

गुजरात के आनंद जिले के उमरेठ में रविवार (4 जून 2023) को देर रात हथियारों से लैस कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़ सड़कों पर इकट्ठा हुई और पूरे इलाके का माहौल खराब कर दिया। दरअसल, मुस्लिम बदमाशों द्वारा दो हिंदू नाबालिग लड़कियों के साथ छेड़छाड़ के दो दिन बाद इस घटना को अंजाम दिया गया।

खबरों के मुताबिक, आनंद जिले के उमरेठ में दो हिंदू नाबालिग लड़कियों के साथ छेड़छाड़ को लेकर हिंदू-मुस्लिम समुदाय के बीच जमकर विवाद हुआ। इसको लेकर रविवार देर रात को तलवारों और लाठियों से लैस कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़ ने चंद्रमूलेश्वर महादेव मंदिर के पास हमला बोल दिया। इसके बाद से है।

इस मामले में उमरेठ थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ में शामिल 15-20 लोगों के खिलाफ दंगा फैलाना का केस दर्ज मामले की जाँच में जुट गई है। वहीं, इलाके में दहशत का माहौल देखते हुए पुलिस ने पेट्रोलिंग तेज कर दी है। इस मामले में अब तक 8 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मुस्लिम युवकों ने हिंदू लड़कियों से की छेड़छाड़

रिपोर्ट्स के अनुसार, शनिवार (3 जून 2023) रात उमरेठ के ओड बाजार इलाके में दो हिंदू नाबालिग लड़कियाँ मोपेड पर निकली थीं। उनमें से एक लड़की जब दूसरी को बाजार से सटे स्लम एरिया के पास छोड़कर जा रही थी, तभी दो मुस्लिम बदमाशों ने उसके साथ छेड़छाड़ की। साइकिल पर सवार एक बदमाश ने उसका हाथ पकड़ लिया, जिससे लड़की डर गई और चिल्लाने लगी, जिससे वहाँ आसपास लोग इकट्ठा हो गए। उन्हें देखकर आरोपित वहाँ से भाग निकले।

दिव्य भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटना के बाद लड़कियों के परिजन शिकायत दर्ज कराने के लिए उमरेठ थाने पहुँचे, लेकिन उनकी शिकायत दर्ज नहीं की गई। पीड़िता के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनकी शिकायत दर्ज नहीं की। वह आरोपितों को संरक्षण दे रहे हैं।

पहचान छिपाने के लिए स्ट्रीट लाइट बंद की

रविवार की रात एक स्थानीय हिंदू हीर पिंटूभाई पटेल और उनका दोस्त स्टेशन रोड से गुजर रहे थे। तभी मुस्लिम बदमाशों ने उन्हें छेड़छाड़ की घटना के बारे में बात करते हुए सुना। यह सुनने के बाद वह आक्रोशित हो गए और उन्होंने मौके पर अपने अन्य दोस्तों को बुला लिया। इसके बाद हीर और उसके दोस्त के साथ उनका जमकर विवाद हुआ।

आनंद के उमरेठ में उस वक्त दहशत का माहौल बन गया, जब आधी रात के करीब छेड़छाड़ की घटना को अंजाम देने वाले बदमाश कट्टरपंथी मुस्लिमों भीड़ के साथ तलवारें और लाठियाँ लेकर रेलवे स्टेशन रोड की ओर निकल पड़े। गौर करने वाली बात यह है कि जब ये लोग सड़क पर उतरे, तब स्ट्रीट लाइटें अचानक बंद हो गईं।

ऐसा संदेह जताया जा रहा है कि दंगाइयों ने अपनी पहचान छिपाने के लिए स्ट्रीट लाइट बंद कर दी थी, ताकि सीसीटीवी कैमरे से उनका चेहरा सबके सामने न आ सके। हीर पटेल की शिकायत के बाद उमरेठ पुलिस ने भीड़ के खिलाफ दंगा करने का मामला दर्ज किया, जिसमें 15 से 20 मुस्लिम शामिल हैं।

हिंदू आंदोलन करने की योजना बना रहे

उमरेठ पुलिस ने इस मामले में अब तक 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। लेकिन इलाके के हिंदू तब भड़क गए, जब हिंदू युवकों को भी पुलिस ने गलत तरीके से गिरफ्तार कर लिया। आक्रोशित लोगों ने उमरेठ थाने का घेराव किया और पीएसआई अल्पेश रबारी पर झूठी शिकायत दर्ज कराने का आरोप लगाया।

इस मामले में हिंदू समाज के लोग शिकायत दर्ज कराएँगे। वहीं, उमरेठ गाँव के लोगों ने भी हिंसा के खिलाफ आंदोलन शुरू करने की बात कही।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -