Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजसुसाइड नोट छोड़ कर गई है शाइस्ता, अब्बू बता रहे फाँसी लगाकर मरी; पर...

सुसाइड नोट छोड़ कर गई है शाइस्ता, अब्बू बता रहे फाँसी लगाकर मरी; पर सवाल वही दफनाने से पहले पुलिस को क्यों नहीं बताया

शाइस्ता के पिता सईद शेख का कहना है कि उनकी बेटी ने फाँसी लगाकर खुदकुशी की है। उन्होंने बताया कि वह एक सुसाइड नोट भी छोड़ गई है। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि यदि शाइस्ता के खुदकुशी की तो परिजनों ने इसकी जानकारी पुलिस को क्यों नहीं दी।

गुजरात से सटे नवसारी में शाइस्ता और बृजेश की प्रेम कहानी चर्चा का विषय बन चुकी है। पिछले दिनों खेरगाम की रहने वाली शाइस्ता के खुदकुशी करने की बात सामने आई थी। हालाँकि उसके प्रेमी बृजेश ने इसे ‘ऑनर किलिंग’ बताते हुए घर वालों पर शाइस्ता के कत्ल का आरोप लगाया है। बृजेश ने सूरत रेंज के आईजी पीयूष पटेल से अपील की थी कि वे शाइस्ता की लाश निकलवाकर पोस्टमार्टम कराने का आदेश दें।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक बृजेश ने हत्या की आशंका जताते हुए लाश को बिना पोस्टमार्टम दफनाने की जानकारी पुलिस को दी थी। बृजेश की माँग पर पुलिस ने कब्र खोदककर शाइस्ता की लाश निकलवाई। पोस्टमार्टम के लिए बॉडी के सूरत सिविल अस्पताल ले जाया गया है।

उधर शाइस्ता के पिता सईद शेख ने पुलिस को जानकारी दी है कि उनकी बेटी ने फाँसी लगाकर खुदकुशी की है। उन्होंने बताया कि शाइस्ता ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। नवसारी पुलिस उस सुसाइड नोट की जाँच कर रही है। पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि परिजनों ने शाइस्ता के खुदकुशी की जानकारी पुलिस को क्यों नहीं दी। बता दें कि शाइस्ता के परिजनों ने जल्दीबाजी में उसकी लाश को पास के कलथान कब्रिस्तान में दफना दिया।

सुसाइड नोट में क्या लिखा?

शाइस्ता ने सुसाइड नोट में लिखा है, “मम्मा-पापा सॉरी। मुझे माफ़ कर दो, लेकिन मेरी कोई गलती नहीं है। मैंने सिर्फ प्यार किया है। बृजेश से कहना…सॉरी। गाली देकर रोका… पर अब मेरे जीने का कोई फायदा नहीं। बृजेश ने मुझसे कहा है कि मैं जिस दिन पैसे कमाऊँगा, तुम्हें ले जाऊँगा। मेरे मरने के बाद बृजेश को कुछ मत करना। उसे मेरी मैय्यत के पास बुलकर मेरा चेहरा दिखा देना।”

बृजेश और शाइस्ता की प्रेम कहानी

बता दें कि बृजेश और शाइस्ता पाँच सालों से प्रेम संबंध में थे। बृजेश की शाइस्ता से आखिरी मुलाकात 20 अप्रैल 2023 को हुई थी। रिपोर्टों के मुताबिक बीते दिनों जब दोनों के रिश्ते की भनक शाइस्ता के परिवारवालों को लगी तो वे बृजेश के घर पहुँचे और उसे पीटने की धमकी दी। इस बीच अपने घर से भागकर शाइस्ता वलसाड पहुँच गई। उसने बृजेश को फोन कर कहा कि वह उसे आकर ले जाए।

बृजेश शाइस्ता को लेने के लिए जब वलसाड पहुँचा तो शाइस्ता के परिवार वालों ने उससे संपर्क किया। उन्होंने पुलिस में शिकायत नहीं करने की बात करते हुए शाइस्ता को झील के पास लेकर आने को कहा। इसके बाद बृजेश ने तलवाड़ा चौक के पास शाइस्ता को उसके परिजनों के हवाले कर दिया। सादिक नाम के एक व्यक्ति ने लड़की को अपनी कार में बिठा लिया। इसके अगले दिन बृजेश को शाइस्ता की मौत की खबर मिली। गुजरात पुलिस का कहना है कि वह हर एंगल से मामले की जाँच कर रही है। फिलहाल सुसाइड नोट से यह आत्महत्या का मामला लग रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -