Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाज'मास्क नहीं, मेरे ताबीज लो... कोरोना से बच जाओगे' - UP पुलिस ने अहमद...

‘मास्क नहीं, मेरे ताबीज लो… कोरोना से बच जाओगे’ – UP पुलिस ने अहमद को दबोचा, खुद को बताता था ‘कोरोना वाला बाबा’

अहमद सिद्दीकी निर्दोष लोगों को कोरोना वायरस ठीक करने के नाम पर बेवक़ूफ़ बना रहा था। उसने बड़ा सा बैनर भी लगवाया था, जिसमें लिखा था कि वो 'सिद्ध किए हुए ताबीज' देता है, जिससे कोरोना वायरस से हुआ संक्रमण ख़त्म हो जाएगा।

जहाँ एक तरफ सरकार लगातार सोशल मीडिया से लेकर हॉस्पिटलों के माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए विभिन्न प्रकार के उपाय बताने में लगी हुई है, दूसरी तरह कुछ मुल्ला-फ़क़ीर इसे लेकर न सिर्फ़ अन्धविश्वास फैला रहे हैं बल्कि मोटी कमाई भी कर रहे हैं। इसी तरह के फ़क़ीर को दबोचने में यूपी पुलिस ने सफलता पाई है, जो लखनऊ के डालीगंज क्षेत्र में दुकान लगाए हुआ था। वो खतरनाक कोरोना वायरस के संक्रमण से हुई बीमारी को ठीक करने का दावा कर रहा था।

गिरफ़्तार अहमद सिद्दीकी ख़ुद को ‘कोरोना वाले बाबा’ बताता था और साथ ही दावा करता था कि वो ताबीज से उन लोगों को कोरोना वायरस से बचाने का माध्यम दे सकता है, जिन्होंने मास्क नहीं पहना हो। उसके दावे मेडिकल की दुनिया और वैज्ञानिक तर्कों को हवा-हवाई बताते करते हुए अन्धविश्वास फैला रहे थे, इसीलिए पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में अहमद को धर-दबोचा। लखनऊ के चीफ मेडिकल ऑफिसर ने इस बाबत पुलिस को सूचित किया था। नीचे संलग्न किए गए वीडियो में आप उस कोरोना वाले फ़क़ीर को देख सकते हैं:

एडिशनल पुलिस कमिश्नर विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि उक्त फ़क़ीर निर्दोष लोगों को कोरोना वायरस ठीक करने के नाम पर बेवक़ूफ़ बना रहा था। उसने बड़ा सा बैनर भी लगवाया था, जिसमें लिखा था कि वो ‘सिद्ध किए हुए ताबीज’ देता है, जिससे कोरोना वायरस से हुआ संक्रमण ख़त्म हो जाएगा। उसने लिखा था कि जो लोग मास्क नहीं ले सकते हैं, वो सिर्फ़ 11 रुपए में उसकी ताबीज को लेकर कोरोना वायरस से बचाव कर सकते हैं। देखिए ‘कोरोना वाले बाबा’ का पोस्टर:

‘कोरोना वाले बाबा’ फ़क़ीर अहमद सिद्दीकी ने लगवाया था ये बैनर

अहमद सिद्दीकी को शनिवार (मार्च 14, 2020) को गिरफ़्तार किया गया। वजीरगंज पुलिस दोपहर के 11 बजे उसकी उसकी तलाश करते हुए पहुँची। उसने 10 बजे से 2 बजे तक मिलने का समय रखा हुआ था। पुलिस ऐसे ही दूसरे अन्धविश्वास फैलाने वाले फकीरों की तलाश में भी लगी हुई है, जो इस तरह के दावे करते हैं। लखनऊ में अब तक 2 लोगों के इस वायरस से संक्रमित होने की सूचना है। 11 लोगों को आइसोलेशन सेंटर में डाला गया है, जिनके जाँच रिपोर्ट आने का इन्तजार है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe