Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजबल्लभगढ़ के 'अवैध मजार' में मिली सेक्स वर्धक, वशीकरण की दवाएँ, वाशरूम में देवी-देवताओं...

बल्लभगढ़ के ‘अवैध मजार’ में मिली सेक्स वर्धक, वशीकरण की दवाएँ, वाशरूम में देवी-देवताओं की तस्वीरें: मौलवी गफ्फार गिरफ्तार

पंचायत भवन की जमीन पर बने अवैध मजार के अंदर इस्लामी किताबें, बच्चा पैदा करने वाली, स्त्री को वश में करने, वशीकरण, ताबीज सहित कई दवाइयों के साथ कई दर्जन हिन्दू महिलाओं के नंबर और तस्वीरें भी मिली हैं। लोगों ने बताया कि जहाँ वाशरूम है वहाँ हिन्दू देवी-देवताओं की तस्वीरें भी लगी हुई हैं।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में पंचायत भवन की जमीन पर बने एक अवैध मजार से सेक्स और स्त्रियों को वश में करने सहित कई तरह की दवाएँ बरामद हुई हैं। स्थानीय लोगों के पास शिकायत थी कि मजार के टॉयलेट में हिन्दू-देवी देवताओं की तस्वीरें लगी हैं। जब लोग वहाँ पहुँचे तो उन्हें नशीली सेक्सवर्धक दवाओं के साथ, इस्लामी किताबें और कई आपत्तिजनक वस्तुएँ बरामद हुईं। जिससे लोग उस अवैध मजार को हटाने के लिए धरना-प्रदर्शन करने लगे।

हिन्दू संगठनों द्वारा जारी प्रदर्शन को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस ने वहाँ पहुँचकर स्थिति सँभालने की कोशिश की। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने फरीदाबाद न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि पंचायत भवन की जमीन पर बने अवैध मजार के अंदर इस्लामी किताबें, बच्चा पैदा करने वाली, स्त्री को वश में करने, वशीकरण, ताबीज सहित कई दवाइयों के साथ कई दर्जन हिन्दू महिलाओं के नंबर और तस्वीरें भी मिली हैं। लोगों ने बताया कि जहाँ वाशरूम है वहाँ हिन्दू देवी-देवताओं की तस्वीरें भी लगी हुई हैं।

वहीं विरोध प्रदर्शन के दौरान वहाँ इकट्ठे लोगों ने रिपोर्टर को बताया कि मजार के मौलवी का नाम अब्दुल गफ्फार है लेकिन हिन्दू महिलाओं को बहकाने के लिए वह अपना नाम बबली बताता है। गौरतलब है कि बल्लभगढ़ के इस मजार के बाहर जो बोर्ड लगा है उस पर ‘बाबा भूरेशाह की दरगाह’ लिखा है।

हिन्दू संगठनों के विरोध को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस ने मजार के अंदर मौजूद मौलवी को अपने साथ ले गई। वहीं हिन्दू संगठनों ने प्रशासन से माँग की कि जल्द से जल्द इस अवैध मजार को तोड़कर वहाँ एक मंदिर बनाया जाए। फरीदाबाद न्यूज़ ने पूरे मामले को कवर किया है। यहाँ आप देख सकते हैं कि कैसे लोग मजार से बरामद सामग्रियों को दिखाते हुए ऐसे समाज विरोधी अवैध गतिविधियों को रोकने की माँग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं स्थानीय लोगों में भी इस घटना के सामने आने से आक्रोश देखा गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe