Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजकृष्ण भक्ति की ऐसी लगन... सरकार ने अर्जी ठकुराई तो दोबारा VRS के लिए...

कृष्ण भक्ति की ऐसी लगन… सरकार ने अर्जी ठकुराई तो दोबारा VRS के लिए लिखा पत्र: IG भारती अरोड़ा की ‘इच्छा’ पर अब CM लेंगे फैसला

"भारती अरोड़ा अच्छी अफसर हैं, लेकिन हम उन्हें जबरन रोक नहीं सकते। इसलिए हमारी तरफ से उनका आवेदन सीएम के पास भेज दिया गया है। वहाँ से मुहर लगते ही उनकी वीआरएस पक्की हो जाएगी।''

हरियाणा के अंबाला रेंज की आईजी भारती अरोड़ा ने एक बार फिर सरकार को पत्र लिखकर स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) की माँग की है। खास बात यह है कि इस बार प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज ने इस IPS अधिकारी की इच्छा को पूरा करने के लिए आवेदन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के पास भेज दिया है। आईजी भारती अरोड़ा ने दूसरी बार इस संबंध में पत्र लिखा है। इससे पहले उन्होंने 24 जुलाई को डीजीपी को पत्र भेज प्रभु श्रीकृष्ण की साधना करने की इच्छा जाहिर करते हुए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति माँगी थी। लेकिन उस समय उनका आवेदन विज ने स्वीकार नहीं किया था। उन्होंने इसे यह कहते हुए लौटा दिया था कि वे बेहतरीन अफसर हैं और उनकी सेवाओं की प्रदेश को जरूरत है।

गृहमंत्री अनिल विज ने दूसरी बार आईजी की ओर से मिले वीआरएस आवेदन की जानकारी देते हुए कहा, “उन्होंने दूसरी बार आवेदन भेजा है। भारती अरोड़ा अच्छी अफसर हैं, लेकिन हम उन्हें जबरन रोक नहीं सकते। इसलिए हमारी तरफ से उनका आवेदन सीएम के पास भेज दिया गया है। वहाँ से मुहर लगते ही उनकी वीआरएस पक्की हो जाएगी।” विज ने यह भी कहा कि कृष्ण भक्ति मार्ग पर जाने का उनका व्यक्तिगत मामला है, जिसमें हम दखल नहीं दे सकते।

मालूम हो कि भारती की रिटायरमेंट 10 साल बाद यानी 2031 में होनी थी। 1998 बैच की आइपीएस भारती अरोड़ा ने अपने 23 साल के करियर में राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी, अंबाला एसपी, कुरुक्षेत्र एसपी, राई स्पो‌र्ट्स कांप्लेस में प्रिंसिपल, करनाल रेंज के आइजी जैसे पदों पर सेवा दी है। उनकी सेवानिवृत्ति 31 मार्च 2031 को निर्धारित है।

बता दें कि उनकी शादी हरियाणा कैडर के ही आईपीएस विकास अरोड़ा से हुई है। साल 2007 में 18 फरवरी को समझौता एक्सप्रेस में बम ब्लास्ट हुआ था, उसमें जाँच के दौरान उनकी अहम भूमिका थी। वह उस समय वह हरियाणा राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी थीं। इसके अलावा वह जहाँ-जहाँ एसपी या आईजी रहीं, उनकी कार्यशैली प्रभावित करने रही। हाल ही में प्रदेश में अवैध रूप से लोगों को विदेश भेजने के मामले की जाँच को भी उन्होंने ही अंजाम दिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -