Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजमेवात की हिंसा गुरुग्राम तक फैली, फँसे हुए हैं सैकड़ों श्रद्धालु: VHP ने कहा-...

मेवात की हिंसा गुरुग्राम तक फैली, फँसे हुए हैं सैकड़ों श्रद्धालु: VHP ने कहा- कई दिनों से हमले की तैयारी कर रहे थे मुस्लिम

"हम केवल सरकार का आसरा नहीं ले रहे। आत्मरक्षा का भी अधिकार है। इसलिए हिंदू अपने आत्मरक्षा के अधिकार का भरपूर प्रयोग करके इस प्रकार के हमलों का सामना करेगा। इसके बाद जो होगा उसकी जिम्मेदारी हमारी नहीं होगी। हम सामना भी करेंगे। भयभीत भी नहीं होंगे। मेवात को हिंदुओं के लिए सुरक्षित स्थान बनाएँगे।"

हरियाणा के मेवात के नूंह में 31 जुलाई 2023 को हिंदुओं की ब्रजमंडल यात्रा पर मुस्लिम भीड़ ने हमला किया। पत्थरबाजी, आगजनी और फायरिंग की घटना हुई। मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि हजारों श्रद्धालु अभी भी हिंसा वाले इलाकों में फँसे हुए हैं। इस बीच हिंसा की आग बढ़कर गुरुग्राम के सोहना तक पहुँच गई है। यहाँ भी गाड़ियों को आग के हवाले करने की खबर है।

हिंसा के दौरान पुलिस पर भी पथराव किया गया। भीड़ की तरफ से चली गोली में होमगार्ड के दो जवान की मौत हो गई है। कई अन्य पुलिसकर्मी घायल हैं।हिंसा के बाद इंटरनेट बंद कर दिया गया है। नूंह और गुरुग्राम में धारा 144 लागू कर दी गई है। यात्रा की शुरुआत जिस नल्हड़ शिव मंदिर से हुई थी, वहाँ सैकड़ों लोगों के फँसे होने की खबर है। इनमें बड़ी संख्या महिलाओं की है। थानों पर भी हमला हुआ है।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है, “हिंसा प्रभावित इलाके में अतिरिक्त फोर्स भेजा गया है। आसपास के सभी जिलों की फोर्स को वहाँ लगाया गया है। हमने केंद्र से भी बात की है। वहाँ से भी लोगों को रेस्क्यू करने के लिए 3 कंपनियाँ भेजी जा रहीं हैं। मेवात का इंटरनेट बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं ताकि लोग अफवाहें न फैलाएँ। हम जल्द से जल्द शांति बहाल करने की कोशिश कर रहे हैं। जहाँ-जहाँ लोग फँसे हुए हैं वहाँ से लोगों को निकाला जा रहा है।”

नूंह में हुई हिंसा के कई वीडियो सामने आए हैं। टाइम्स नाउ की रिपोर्ट में, दर्जनों जलती हुई गाड़ियाँ देखी जा सकती है। स्थानीय साइबर थाने के पास खड़ी गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई है। स्थानीय लोगों का दावा है कि उन्होंने साल 1992 के बाद ऐसी हिंसा नहीं देखी थी। नूंह के रहने वाले गौरव ने कहा है कि पहले भीड़ ने पुलिस थाने पर पथराव किया। इस पर पुलिस ने फायरिंग और आँसू गैस के गोले छोड़े। इससे दंगाई भाग गए। लेकिन फिर हजारों लोग आए और पुलिस थाने में पथराव कर आग लगा दी। घरों में लगे कैमरे तोड़ दिए और गाड़ी चुरा कर ले गए। उन्होंने कहा, “यदि वह घर में छिपे न होते तो भीड़ उन्हें भी मार देती।”

पत्रकार आदित्य राज कौल ने वीडियो शेयर कर दावा किया है कि नल्हड़ महादेव मंदिर में 2500 से अधिक लोग फँसे हुए हैं। वहीं, वीडियो में एक व्यक्ति कह रहा है कि मुस्लिमों ने 100 गाड़ियों को जला दिया और 3 लोगों को जिंदा जला दिया है। इसके बाद वह लोगों को बचाने की अपील करता सुना जा सकता है।

विश्व हिंदू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा है कि यह हमला सुनियोजित साजिश थी। मुस्लिमों ने इसकी पूरी तैयारी कर रखी थी। वे कई दिनों से पत्थर इकट्ठा कर रहे थे। उन्होंने कहा, “नल्हड़ महादेव मंदिर से ब्रजमंडल यात्रा निकलनी थी। जलाभिषेक होना था। यह कार्यक्रम हर साल होता है। 20 हजार लोग आते हैं, सबको पता है। इसकी तैयारी पुलिस ने नहीं की थी। मुस्लिमों ने की थी। कई दिनों से पत्थर इकट्ठे किए जा रहे थे। योजना बनाई जा रही थी। आज इस यात्रा को बढ़े एक किलोमीटर ही हुआ होगा कि हमला हो गया। इस हमले के लिए पहले से तैयारी की गई थी। दौड़ा-दौड़ा कर मारने की कोशिश हो रही थी।”

विहिप नेता ने इसे इंटेलिजेंस की असफलता बताते हुए कहा है कि अभी भी वहाँ सैकड़ों लोग उन इलाकों में फँसे हुए हैं, जहाँ मुस्लिमों की बड़ी आबादी है। सरकार को इनलोगों को जल्द से जल्द सुरक्षित निकालना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा है, “हम केवल सरकार का आसरा नहीं ले रहे। आत्मरक्षा का भी अधिकार है। इसलिए हिंदू अपने आत्मरक्षा के अधिकार का भरपूर प्रयोग करके इस प्रकार के हमलों का सामना करेगा। इसके बाद जो होगा उसकी जिम्मेदारी हमारी नहीं होगी। हम सामना भी करेंगे। भयभीत भी नहीं होंगे। मेवात को हिंदुओं के लिए सुरक्षित स्थान बनाएँगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आ पाएँगे दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल, हाई कोर्ट ने बेल पर लगाई रोक: ED ने बताया- अब...

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट से बेल मिलने के बाद भी अभी सीएम केजरीवाल जेल से रिहा नहीं होंगे। ईडी के विरोध पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेल पर रोक लगा दी है।

साल भर में 70% कम हुआ स्विस बैंकों में रखा धन, 2019 से भारत के साथ जानकारी साझा कर रहा है स्विट्जरलैंड: जानिए क्यों...

भारत में ग्राहक जमा खातों और अन्य बैंक शाखाओं के माध्यम से रखी गई धनराशि में भी काफी गिरावट आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -