Thursday, February 2, 2023
Homeदेश-समाजCM खट्टर के विरोध में किसानों ने तोड़े बैरिकेड्स: लाठीचार्ज, राकेश टिकैत ने दी...

CM खट्टर के विरोध में किसानों ने तोड़े बैरिकेड्स: लाठीचार्ज, राकेश टिकैत ने दी धमकी- ‘अब UP में BJP को हरवाएँगे’

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक इंटरव्यू में स्पष्ट कहा है कि आंदोलन तब तक खत्म नहीं होगा, जब तक सरकार बातचीत नहीं करेगी। उन्होंने धमकी दी कि अगर सरकार ने किसानों की बात नहीं सुनी तो यूपी में बीजेपी को हरवाएँगे।

हरियाणा के हिसार में एक कोविड अस्पताल का उद्धाटन करने पहुँचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का किसानों ने जमकर विरोध किया और उन्हें रोकने के लिए पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को किसानों ने तोड़ दिया। इसके बाद हालात को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियाँ भाँजी और आँसू गैस के गोले भी छोड़े। वहीं राकेश टिकैत ने भी बीजेपी को धमकी दी है।

रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि पुलिस की इस कार्रवाई में कई किसानों के घायल होने की खबर सामने आई है। घटना हिसार जिले के हांसी की बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक, कृषि कानून को लेकर गुस्साए किसान सीएम के आगमन से पहले से ही वहाँ पर सैकड़ों की संख्या में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री के पहुँचते ही उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग किया। इस घटना में डीएसपी अभिमन्यु लोहान के भी घायल होने की खबर है।

इस बीच सीएम ने प्रदर्शनकारी किसानों से वापस जाने की अपील करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के प्रयासों को मजबूत करने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने के बाद वे फिर से आंदोलन कर सकते हैं।

बता दें कि केंद्र के नए कृषि कानूनों को रद्द करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी की माँग को लेकर नवंबर 2020 से हजारों किसान, मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली की सीमाओं सिंघू, टिकरी और गाजीपुर में डेरा डाले हुए हैं।

टिकैत बोले आंदोलन खत्म नहीं होगा

इस बीच भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक टीवी इंटरव्यू में स्पष्ट कहा है कि आंदोलन तब तक खत्म नहीं होगा, जब तक सरकार बातचीत नहीं करेगी। उन्होंने धमकी दी कि अगर सरकार ने किसानों की बात नहीं सुनी तो यूपी में बीजेपी को हरवाएँगे।

बंगाल में भाजपा की हार में अपना योगदान बताते हुए टिकैत ने दावा किया कि यूपी में जो जिला पंचायत के चुनाव हुए हैं, उनमें 3000 से अधिक सीटें थी, जिसमें से 600 सीटें बीजेपी ने जीती हैं, उसमें भी 200 सीटों पर उसने बेइमानी की है, तो ये उसकी हार ही हुई न। इस बीच बता दें कि किसानों ने काला दिवस मनाने का ऐलान किया है।

भाकियू नेता ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा का अगला मिशन यूपी उत्तराखंड है। जब उनसे किसानों की जान कोरोना के खतरे में डालने को लेकर पूछा गया तो टिकैत ने कहा, “मौत तो होगी। आंदोलन लड़ लेंगे तो कोरोना से लड़ेंगे। उससे सरकार और हम दोनों लड़ रहे हैं। अगर यहाँ से गए तो सरकार और कोरोना दोनों मारेंगे। बेहतर है एक से ही मरें।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिमों कैदियों की जमानत के लिए बजट में मोदी सरकार ने नहीं किया है कोई विशेष प्रावधान, मीडिया की भ्रामक रिपोर्टों का जानिए सच

मोदी सरकार ने बजट में मुस्लिम कैदियों की रिहाई और जमानत राशि में मदद का कोई विशेष प्रावधान नहीं किया।

फतेहपुर में हिंदुओं को ईसाई बनाने का पैसा कहाँ से आया, किसको मिला, सब कुछ गवाह आईजेक फ्रेंक ने बताया: धर्मांतरण की साजिश के...

फतेहपुर में चल रहे अंतरराष्ट्रीय ईसाई धर्मांतरण रैकेट को लेकर गवाह डॉ.आईजेक फ्रेंक ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। 38 नाम उजागर करते हुए उनकी भूमिका भी बताई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,653FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe