Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाज'गुस्से में चला दी गोली, सिर्फ डराना चाहता था': बोलीं सोनू चिकना और सलीम...

‘गुस्से में चला दी गोली, सिर्फ डराना चाहता था’: बोलीं सोनू चिकना और सलीम चिकना की अम्मी – ‘मेरा बेटा 5 वक्त का नमाजी’

"गुस्से में आकर उसने किसी से बंदूक छीन ली और गोली चला दी। कोई घायल नहीं हुआ। वे हमें धमकी दे रहे थे। मेरा बेटा बस उन्हें डराना चाहता था।"

दंगा आरोपित सोनू चिकना और सलीम चिकना की अम्मी ने कबूल किया है कि दिल्ली के जहाँगीरपुरी इलाके में हिंसा के दौरान उनके बेटे ने गोलियाँ चलाई थीं। ‘इंडिया टुडे’ की एक रिपोर्ट में, फायरिंग के आरोपित सलीम चिकना की अम्मी ने कहा कि उनके बेटे को बेवजह गिरफ्तार किया गया है। उसने तो हिंसा के दौरान सिर्फ ‘अपने समुदाय का समर्थन’ करने के लिए बंदूकें उठाई थी।

आरोपित की अम्मी ने कहा, “उसे बिना किसी कारण के गिरफ्तार किया गया है। हर कोई आपको बता देगा कि उसे बिना किसी गलती के गिरफ्तार किया गया।” रिपोर्टर ने फिर उन्हें आरोपित की तस्वीर दिखाते हुए उनसे पूछा कि क्या वह उसे पहचान सकती है। उन्होंने कबूल किया कि वह उनका बेटा सोनू था।

यह पूछे जाने पर कि उनका परिवार कहाँ से आकर दिल्ली में रह रहा है, तो उन्होंने कहा कि वह लोग पश्चिम बंगाल से आए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस उनके परिवार को नहीं बता रही है कि उनके बेटे को क्यों गिरफ्तार किया गया है।

इसके बाद रिपोर्टर ने सवाल किया कि उनका बेटा दंगाइयों के बीच क्या कर रहा है। तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा, “मेरे बेटे की चिकन की दुकान है। वह रोजा खोलने ही वाले थे कि हिंदू-मुस्लिमों के बीच तनाव पैदा हो गया और वे बाहर चले गए। उसके पास बंदूक नहीं है। गुस्से में आकर उसने किसी से बंदूक छीन ली और गोली चला दी। कोई घायल नहीं हुआ। वे हमें धमकी दे रहे थे। मेरा बेटा बस उन्हें डराना चाहता था। किसी ने व्यक्तिगत रंजिश की वजह से वीडियो शूट कर लिया और इसे वायरल कर दिया।”

सोनू के भाई सलीम को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। उसकी अम्मी ने आगे दावा किया कि उसका बेटा दंगों में शामिल नहीं था। उसने अपने समुदाय का समर्थन करने के लिए बंदूक उठाई। सोनू की अम्मी से एबीपी न्यूज ने भी संपर्क किया था। एबीपी न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, “वह हिंसा के बाद वापस घर आया। वह डर गया और भाग गया। उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है। वह पाँच बार की नमाजी हैं। वह कभी किसी से नहीं लड़ता।” बता दें कि सोमवार को सोनू चिकना की बीबी से पूछताछ करने गई पुलिस पर भी लोगों ने पथराव किया। इसके बावजूद पुलिस उसे अपने साथ ले गई।

सामने आया सोनू चिकना की फायरिंग का वीडियो

गौरतलब है कि 17 अप्रैल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक वीडियो वायरल हुआ। इसमें सोनू को दिल्ली को जहाँगीरपुरी दंगों के दौरान गोलियाँ चलाते हुए देखा जा सकता है। इसके अलावा वीडियो में छोटे बच्चों सहित कई अन्य लोगों को पथराव करते देखा जा सकता है। बता दें कि शनिवार (16 अप्रैल 2022) जहाँगीरपुरी में हनुमान जयंती की शोभा यात्रा पर हमला किया गया। यह हमला उस वक्त किया गया, जब जुलूस क्षेत्र में एक मस्जिद के पास से गुजरा। इस घटना में दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर मेधा लाल मीणा को भी गोली लगी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -