Tuesday, May 17, 2022
Homeदेश-समाजहिमाचल प्रदेश में अब नहीं घुस सकेगी भिंडरावाले के झंडे-पोस्टर वाली गाड़ियाँ, भड़के गुरुद्वारा...

हिमाचल प्रदेश में अब नहीं घुस सकेगी भिंडरावाले के झंडे-पोस्टर वाली गाड़ियाँ, भड़के गुरुद्वारा कमिटी ने कहा – ‘भावनाओं को ठेस पहुँची’

SGPC ने कहा, “आपके (जयराम ठाकुर) द्वारा दिए गए बयान से सिखों की भावनाओं को ठेस पहुँची है। हम आपसे अपने अत्यधिक आपत्तिजनक बयान को वापस लेने का आग्रह करते हैं और उम्मीद करते हैं कि भविष्य में हिमाचल प्रदेश में ऐसा कोई विवाद पैदा न हो।"

खालिस्तानी चरमपंथ लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार ने खालिस्तानी आतंकी भिंडरावाले की पोस्टर जिन-जिन गाड़ियों पर लगे हैं, उन्हें राज्य में घुसने से रोकने का आदेश जारी किया है। सीएम जयराम ठाकुर ने स्पष्ट कहा कि हम ‘निशान साहिब’ (सिख ध्वज) का पूरा सम्मान करते हैं, लेकिन भिंडरावाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल, पंजाब से आने वाली कई गाड़ियों पर भिंडरावाले की तस्वीरों वाले बैनर लगे हुए थे, जिस पर ज्वालामुखी और मंडी जिलों के लोगों ने आपत्ति जताई थी। ऐसे कई सारे वीडियो सामने आए, जिनमें स्थानीय लोग इन झंडों को हटाने की माँग करते दिखे। इसके बाद सरकार ने ये एक्शन ले लिया।

ट्विटर यूजर अमन बाली ने भिंडरावाले का झंडा लिए एक सिख व्यक्ति का वीडियो शेयर किया, जिसमें कुछ भिंडरावाले के पोस्टर के इस्तेमाल पर आपत्ति जता रहे थे। अमन बाली ने इसे गुंडागर्दी करार देते हुए खालिस्तानी आतंकी को ‘संत जी’ कहा।

वायरल हो रहे वीडियो में स्पष्ट देखा जा सकता है कि सिख व्यक्ति निशान साहिब की जगह भिंडरांवाले का झंडा लेकर चल रहा था। हिमाचल प्रदेश की पुलिस ने भी अगले दिन सोशल मीडिया दावों पर निशान साहिब के झंडे को हटाए जाने के दावे का भी खंडन किया। साथ ही ये भी स्पष्ट किया कि किसी भी धार्मिक झंडे को नहीं हटाया गया।

इस मामले में सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पंजाब के साथ इसको लेकर चर्चा की गई है। उन्होंने कहा, “हम निशान साहिब के प्रतीक का बहुत सम्मान करते हैं और इसका इस्तेमाल करने के लिए किसी का भी स्वागत है, लेकिन भिंडरांवाले की तस्वीरों वाले झंडे को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।” इसके अलावा राज्य के डीजीपी संजय कुंडू ने भी किसी भी तरह के उकसावे से इनकार किया है।

भिंडरावाले पर बैन से बौखलाया SGPC

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा भिंडरावाले पर बैन लगाए जाने से नाराज शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने बुधवार सीएम जयराम ठाकुर को पत्र लिखकर बैन का विरोध किया। हरजिंदर सिंह धामी ने दावा किया कि दुनिया भर के सिख भिंडरावाले को अपना आदर्श और नेता मानते हैं। के रूप में देखते हैं।

एसजीपीसी ने भिंडरावाले पर बैन को ‘धार्मिक भावनाओं को आहत’ करने वाला कदम बताया। SGPC ने जोर देकर कहा कि खालिस्तानी आतंकवादी भिंडरावाले, जिसके कार्यों से हजारों लोगों की मौत हुई, पर आपत्ति ‘धार्मिक भावनाओं को आहत’ करने वाली है। सिख कमेटी ने कहा, “आपके (जयराम ठाकुर) द्वारा दिए गए बयान से सिखों की भावनाओं को ठेस पहुँची है। हम आपसे अपने अत्यधिक आपत्तिजनक बयान को वापस लेने का आग्रह करते हैं और उम्मीद करते हैं कि भविष्य में हिमाचल प्रदेश में ऐसा कोई विवाद पैदा न हो।”

गौरतलब है कि भिंडरावाले वो आतंकी है, जिसके कृत्यों से हजारों लोगों की जानें गई थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,227FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe