Wednesday, January 26, 2022
Homeदेश-समाजइस्लाम नहीं अपनाया तो फतवा जारी कर हिन्दू परिवार का हुक्का-पानी बंद: एक्शन में...

इस्लाम नहीं अपनाया तो फतवा जारी कर हिन्दू परिवार का हुक्का-पानी बंद: एक्शन में UP पुलिस, आरोपितों की तलाश जारी

इकराम सिंह का कहना है कि पुलिस के जाने के बाद भी हालात नहीं बदले और उन्हें अभी भी पलायन के लिए या फिर इस्लाम अपनाने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

मामूली से विवाद के बाद बरेली के इकराम सिंह पर गाँव के लोग अब इस्लाम अपनाने का दबाव बना रहे हैं। समुदाय विशेष के लोगों द्वारा फतवा जारी कर उनके परिवार का हुक्का-पानी बंद करने तक की धमकी भी दी जा रही हैं और इस्लाम ना अपनाने के कारण इकराम सिंह के बच्चों के लिए दूध, सब्जी और राशन भी नहीं खरीदने दिया जा रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार, बरेली के परसोना गाँव में इकराम सिंह के परिवार को पलायन के लिए मजबूर किया जा रहा था। हाल ही में इकराम सिंह ने बरेली पुलिस के ट्विटर अकाउंट को टैग करते हुए वीडियो ट्वीट किया था। इकराम सिंह ने इस वीडियो में बताया था कि उनके गाँव के दूसरे मजहब के लोगों ने पंचायत कर उनके परिवार का हुक्का-पानी बंद करने की घोषणा की है।

इकराम सिंह की शिकायत थी कि गाँव के लोग उन्हें अपनी दुकान से सामान तक नहीं खरीदने दे रहे हैं। समाचार पत्र ‘दैनिक जागरण’ की एक खबर के अनुसार, यह भी आरोप है कि इकराम के भाई राजीव को भी धार्मिक टिप्पणी का मुकदमा दर्ज कर फर्जी केस में फंसा दिया गया था। इस भय से जेल से बाहर आने के बाद उनका भाई अपने परिवार के साथ पहले ही गाँव छोड़कर अपने ससुराल में जाकर रहने लगा।

बताया जा रहा है कि जब इकराम सिंह ने पुलिस से शिकायत की तो पुलिस ने गाँव जाकर पंचायत भी की और मामले को शांत करा लिया था, लेकिन इकराम सिंह का कहना है कि पुलिस के जाने के बाद भी हालात नहीं बदले और उन्हें अभी भी पलायन के लिए या फिर इस्लाम अपनाने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

ऐसे में, स्थानीय हिंदूवादी संगठनों ने इकराम का हौंसला बढ़ाया और उनके घर पर हनुमान चालीसा के आयोजन की बात कही। मामला बढ़ता देख पुलिस ने गाँव जाकर मामले की जाँच की है और समुदाय विशेष के 3 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में प्राथमिकी भी दर्ज कर ली है।

एनबीटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने कहा कि समुदाय विशेष के तीन लोगों के खिलाफ इकराम सिंह की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है और एक पुलिस दल को आरोपितों की तलाश में लगा दिया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CDS बिपिन रावत और पूर्व CM कल्याण सिंह को पद्म विभूषण, वैक्सीन निर्माताओं को भी पद्म अवॉर्ड, सोनू निगम भी लिस्ट में: देखिए सूची

इस बार केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीन निर्माताओं को भी सम्मान दिया गया है। साइरस पूनावाला, कृष्ण लीला और उनकी पत्नी सुचारिता इला को पद्मभूषण सम्मान से नावाजा जाएगा।

विश्व के 50 ‘इनोवेटिव इकॉनोमीज़’ में भारत का स्थान: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति कोविंद का देश के नाम संबोधन, देखें वीडियो

राष्ट्रपति ने अपने संबोधिन की शुरुआत देश और विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों को बधाई देते हुए की। उन्होंने कहा, "गणतंत्र दिवस हम सबको एक सूत्र में बाँधने वाली भारतीयता के गौरव का यह उत्सव है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,581FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe