Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजबेहोश होने तक जंगल में किया गैंगरेप, बिना कपड़ों के ही छोड़ कर भागा:...

बेहोश होने तक जंगल में किया गैंगरेप, बिना कपड़ों के ही छोड़ कर भागा: घर से नाराज़ होकर निकली थी युवती, ताहिर अली के पाँव में लगी यूपी पुलिस की गोली

ताहिर अली और एक अन्य आरोपित ने पीड़िता के पूरे शरीर को रात भर नोचा। लगातार रेप की वजह से पीड़िता जंगल में ही बेहोश हो गई। दोनों आरोपितों ने पीड़िता को बेहोशी की ही हालत में जंगल में छोड़ दिया और भाग निकले।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में शनिवार (4 मई, 2024) को पुलिस और बदमाशों में मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में ताहिर अली नाम के बदमाश के पैर में गोली लगी है। ताहिर को गिरफ्तार कर के इलाज के बाद जेल भेज दिया गया है। आरोपित के पास से अवैध तमंचा और कारतूस बरामद हुआ है। हिस्ट्रीशीटर ताहिर पर कुल 13 मुकदमे दर्ज हैं। हाल ही में गुरुवार (2 मई, 2024) को ताहिर ने अपने साथी सहित एक हिन्दू लड़की से रेप किया था।

तब रेप की वजह से बेहोश हो गई पीड़िता ने निर्वस्त्र हालत में ग्रामीणों से मदद माँगी थी। अब पुलिस को ताहिर के दूसरे साथी की तलाश है।

यह मामला गोरखपुर जिले के थाना क्षेत्र सहजनवा का है। यहाँ 3 मई, 2024 (शुक्रवार) को मूल रूप से आजमगढ़ के जीयनपुर निवासी 20 वर्षीया लड़की के पिता ने शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में उन्होंने बताया कि 2 मई (गुरुवार) को उनकी बेटी बिना किसी को कुछ बताए ही शाम 7 बजे घर से कहीं चली गई थी। लड़की के पिता पूरी रात जान-पहचान और रिश्तेदारी में खोजबीन करते रहे। अगले दिन 3 मई की सुबह उन्हें पता चला कि उनकी बेटी गोरखपुर के सहजनवा इलाके में है। वो फ़ौरन ही सहजनवा पहुँचे।

अपने पिता को देख कर पीड़िता ने उन्हें सारी बात बताई। लड़की ने बताया कि जब वो घर से गुस्सा हो कर निकली थी तो रास्ते में उन्हें एक युवक मिला। उस युवक ने पीड़िता को बहलाया-फुसलाया और अपने साथ ले कर गोरखपुर पहुँच गया। बताया जा रहा है कि ताहिर ने पीड़िता को गोरखपुर में नौकरी लगवाने का झाँसा दिया था। 2 मई की ही रात वह व्यक्ति पीड़िता को ले कर सहजनवा इलाके के एक जंगल की तरफ गया। यहाँ उसने अपने एक साथी को भी बुला लिया। इन दोनों ने पीड़िता के साथ पूरी रात रेप किया।

बाद में पीड़िता को आज़मगढ़ से गोरखपुर लाने वाले आरोपित की पहचान ताहिर अली के तौर पर हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ताहिर अली और एक अन्य आरोपित ने पीड़िता के पूरे शरीर को रात भर नोचा। लगातार रेप की वजह से पीड़िता जंगल में ही बेहोश हो गई। दोनों आरोपितों ने पीड़िता को बेहोशी की ही हालत में जंगल में छोड़ दिया और भाग निकले। होश आने पर पीड़िता ने खुद को निर्वस्त्र पाया। वह उसी हालत में जंगल से पास के गाँव में गई। यहाँ ग्रामीणों ने लड़की की मदद की। पीड़िता को कपड़े पहनाए गए और मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

पुलिस ने पीड़िता के पिता को सूचना दी। उनकी तहरीर पर पुलिस ने IPC में गैंगरेप की धारा 376(D) के तहत FIR दर्ज कर ली। पुलिस की जाँच में लड़की से गैंगरेप के मुख्य आरोपित का नाम ताहिर अली निकला। ताहिर अली की तलाश में जुटी पुलिस को शनिवार (4 मई, 2024) को सफलता मिली। ताहिर की लोकेशन रानूखोर गाँव में मिलते ही पुलिस ने उसकी घेराबंदी की। पुलिस से घिरता देख कर ताहिर गोलियाँ चलाना शुरू कर दिया। आत्मरक्षा में पुलिस द्वारा चलाई गई गोली ताहिर के पैर में लगी।

पुलिस ने घायलावस्था में पड़े ताहिर अली को गिरफ्तार कर लिया। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया है। ताहिर अली मूलतः संतकबीरनगर जिले के खलीलाबाद क्षेत्र का निवासी है। गैंगरेप में शामिल ताहिर अली के दूसरे साथी की तलाश की जा रही है। एडिशनल एसपी गोरखपुर के मुताबिक, पुलिस इस मामले की जाँच और अन्य जरूरी कार्रवाई कर रही है। ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -