Monday, November 30, 2020
Home देश-समाज आलम के साथ 14 वर्षीय तन्वी को कमरे में अकेला छोड़ा... अम्मी ने जब...

आलम के साथ 14 वर्षीय तन्वी को कमरे में अकेला छोड़ा… अम्मी ने जब पढ़ाना चाहा कुरान तो खुली हिन्दू लड़की की आँखें

गड़बड़ियाँ तब शुरू हुईं, जब एक दिन तन्वी आलम के घर गईं। अचानक से आलम की 2 बहनें और 3 भाई बिना कुछ बताए घर से बाहर निकल गए। तन्वी और आलम को वहाँ अकेले छोड़ दिया गया... तन्वी कहती हैं कि वो अभी भी भगवान शिव को धन्यवाद देती हैं क्योंकि अगर वो आलम या उसके परिवार के जाल से नहीं निकलतीं तो आज उनके भी 3 बच्चे होते और वो फिर से.....

सोशल मीडिया पर अक्सर लोग अपने अनुभव शेयर करते रहते हैं। इसी क्रम में तन्वी नामक एक यूजर ने अपना अनुभव शेयर किया, जो चर्चा का विषय बना। तन्वी ने बताया कि जब वो स्कूल में थीं और उनकी उम्र महज 14 वर्ष थी, तब वो एक मुस्लिम लड़के के साथ रिलेशनशिप में थीं। उसका नाम आलम था और उसका सबसे अच्छा दोस्त भी एक हिन्दू लड़का ही था। आलम के बारे में तन्वी ने आगे बताया कि वो दिखने में अच्छा था और वो कभी-कभी उनके घर भी आया करता था। दरअसल, तन्वी ये देखना चाहती थीं कि उनके माता-पिता के आलम को लेकर क्या विचार हैं?

तन्वी भी कभी-कभी आलम के यहाँ जाया करती थीं। आलम उनके साथ काफ़ी अच्छा व्यवहार किया करता था और उसके अब्बू-अम्मी भी तन्वी के साथ काफ़ी मीठा व्यवहार करते थे। आलम ने तो अपने घर में सबको ये भी बता रखा था कि तन्वी उसकी गर्लफ्रेंड है। तन्वी मानो आसमान में उड़ रही थी। जिसके साथ वो रिलेशनशिप में थी, वो और उसका परिवार उसके साथ न सिर्फ़ सलीके से पेश आ रहा था बल्कि इतना अपनापन भी दिखा रहा था। उस उम्र में तन्वी के लिए ये बहुत बड़ी बात थी।

गड़बड़ियाँ तब शुरू हुईं, जब एक दिन तन्वी आलम के घर गईं। अचानक से आलम की 2 बहनें और 3 भाई बिना कुछ बताए घर से बाहर निकल गए। तन्वी और आलम को वहाँ अकेले छोड़ दिया गया। तन्वी बताती हैं कि उनके मन में काफ़ी सारी बातें चलने लगीं और उन्होंने अपनी ‘छठी इन्द्रिय’ का इस्तेमाल कर के सोचना शुरू कर दिया कि पाँचों उन दोनों को अकेले छोड़ कर घर से क्यों निकल गए? इसी बीच आलम भी तन्वी के काफ़ी नजदीक आना चाह रहा था लेकिन सोच में पड़ी तन्वी को लगा कि दाल में कुछ काला है और वो वहाँ से निकलने के उपाय ढूँढने लगीं।

लगभग 15 मिनट के बाद तन्वी ने अपनी माँ का फोन आने का बहाना बनाया और वो वहाँ से निकल गईं। अगले दिन आलम ने फोन कर के तन्वी से माफ़ी माँगी। तन्वी ने उससे पूछा भी कि वो किस बात के लिए सॉरी बोल रहा है? इसके जवाब में आलम ने कहा कि उस दिन जो भी हुआ, उसे लगता है कि तन्वी को ये सब अच्छा नहीं लगा, इसीलिए वो माफ़ी माँग रहा है। ये सब होने के 3-4 दिन बाद आलम की अम्मी ने तन्वी को कॉल किया और फोन में मीठी-मीठी बातें की। आलम की अम्मी ने तन्वी से पूछा कि वो उनके घर क्यों नहीं आ रही हैं?

आलम की अम्मी ने तन्वी को बताया कि वो उसे काफ़ी मिस कर रही हैं और जब उन्होंने चिकेन बिरयानी बनाई थी, तब भी उन्हें तन्वी की काफ़ी याद आई थी। तन्वी का माथा ठनका और वो ये सोचने लगी कि आलम की अम्मी, जिनके घर में बच्चों की कमी नहीं है, उनके ख़ुद के 5 बेटे-बेटियाँ हैं, वो भला उसे क्यों इतना याद करेंगी? आलम की अम्मी ने तन्वी को घर आने को भी कहा था। काफ़ी सोच-विचार के बाद तन्वी ने फ़ैसला किया कि वो उनसे मिलने जाएँगी क्योंकि वो आलम की अम्मी को एक अच्छी महिला मानती थीं।

जब वो आलम के यहाँ पहुंचीं, तो उसकी अम्मी कुरान पढ़ रही थीं। उन्होंने तन्वी को बैठने का इशारा किया और कुरान पढ़ने लगीं। कुछ देर बाद आलम की अम्मी ने तन्वी से कहा कि वो कुरान का पहला पन्ना पढ़ कर सुनाने जा रही हैं। तन्वी ने उन्हें बताया कि उसकी माँ हनुमान चालीसा पढ़ती हैं लेकिन उन्हें इस चीजों में उतना इंटरेस्ट नहीं है। ये सुनते ही आलम की अम्मी ने तन्वी से कहा कि ये सब ‘काफिरों की चीजें’ हैं और उसे इन सब से दूर ही रहना चाहिए। यही वो पल था जब तन्वी को पूरी तरह आलम के परिवार की सच्चाई पता चली। माँ का फोन आने के बहाने तन्वी वहाँ से किसी तरह भाग खड़ी हुईं।

तन्वी ने दौड़ते हुए घर आकर अपने पिता को ये बातें बताई। उसे डर था कि उसके पिता उसे मारेंगे-पीटेंगे लेकिन उन्होंने उसे गले से लगा लिया और रोने लगे। ये सब सुन कर तन्वी की माँ भी चिंतित हो गईं। दोनों ने उसके स्कूल में कॉल कर के तन्वी की सुरक्षा का ध्यान रखने को कहा। तन्वी के एक भाई को हमेशा उसके साथ रहने को कहा गया। उसके भाई ने आलम के घर जाकर उसके परिवार वालों को समझाया भी लेकिन उन्होंने अनसुना कर दिया। तन्वी को आज भी जब ये घटना याद आती हैं तो वो सोचती हैं कि समय पर आँखें न खुलतीं तो आलम का परिवार उसे पूरी तरह बर्बाद कर चुका होता।

तन्वी कहती हैं कि वो अभी भी भगवान शिव को धन्यवाद देती हैं क्योंकि अगर वो आलम या उसके परिवार के जाल से नहीं निकलतीं तो आज उनके भी 3 बच्चे होते और वो फिर से एक और को जन्म देने की तैयारी कर रही होतीं। आलम का परिवार फ़िलहाल एक मुस्लिम बहुल इलाक़े में रहता है। आलम और उसके सभी भाइयों की शादी हो चुकी है। वो सभी अपनी बीवियों, बच्चों और अब्बू-अम्मी के साथ एक 2 कमरे वाले फ्लैट में रहते हैं। तन्वी के इस अनुभव को सोशल मीडिया पर ख़ूब शेयर किया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिंदू बेईमान, मुसलमान महान और योद्धा: भारत को लेकर विंस्टन चर्चिल की सोच, जिसने मारे 40-45 लाख निर्दोष लोग

विंस्टन चर्चिल भारत के आदिवासियों के खिलाफ रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल कराना चाहता था। चर्चिल ने एक आतंरिक मेमो भेजा था, जिसमें...

किसानों के लिए $10 मिलियन, बदले में खालिस्तान का करें समर्थन: YouTube पर SFJ का विज्ञापन

खालिस्तानी समूह SFJ ने किसानों के विरोध-प्रदर्शनों को समर्थन की घोषणा करते हुए बदले में उनसे अपने राष्ट्रविरोधी एजेंडे के लिए समर्थन माँगा है।

हैदराबाद में केवल ओवैसी को घेरने गई है BJP या कोई और है निशाना: नड्डा, योगी और शाह के उतरने का कुछ अलग ही...

हैदराबाद के सहारे भाजपा को दक्षिण में मिलेगी एंट्री? GHMC के चुनाव में भाजपा ने नड्डा, योगी और शाह को क्यों उतारा? समझिए, इस दिलचस्प चुनाव का पूरा गणित।

‘4 महीने का राशन लेकर आए हैं, दिल्ली को 5 जगह से घेरेंगे’: वार्ता प्रस्ताव ठुकराया, बुराड़ी को बताया ओपन जेल

भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी) ने बुराड़ी में आंदोलन का प्रस्ताव खारिज करते हुए कहा है कि वह पार्क नहीं ओपन जेल है।

‘बिल सही है, लेकिन मोदी अच्छे नहीं’: बिल का पता नहीं, किसान के नाम पर धमाचौकड़ी खूब; देखें कुछ दिलचस्प Video

किसान आंदोलन के कथित समर्थकों के कुछ वीडियो सामने आए हैं। इनको किसान बिल के बारे में तो नहीं पता है, लेकिन समर्थन करने की अपनी-अपनी वजहें हैं।

जमीन, सड़क, मॉल, फ्लैट, अम्बानी, अडानी, हवाई जहाज… पब्लिक पूछे- राहुल बाबा कहना क्या चाहते

राहुल गाँधी 'ओजस्वी वक्ता' हैं। उनके भाषण 'बहुत मजेदार' होते हैं। यह किसी से छिपा नहीं। उनका ऐसा ही एक भाषण कृषि कानूनों पर वायरल हो रहा है। जरा, उनके तर्क समझिए और समझाइए।

प्रचलित ख़बरें

दिवंगत वाजिद खान की पत्नी ने अंतर-धार्मिक विवाह की अपनी पीड़ा पर लिखा पोस्ट, कहा- धर्मांतरण विरोधी कानून का राष्ट्रीयकरण होना चाहिए

कमलरुख ने खुलासा किया कि कैसे इस्लाम में परिवर्तित होने के उनके प्रतिरोध ने उनके और उनके दिवंगत पति के बीच की खाई को बढ़ा दिया।

‘बीवी सेक्स से मना नहीं कर सकती’: इस्लाम में वैवाहिक रेप और यौन गुलामी जायज, मौलवी शब्बीर का Video वायरल

सोशल मीडिया में कनाडा के इमाम शब्बीर अली का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें इस्लाम का हवाला देते हुए वह वैवाहिक रेप को सही ठहराते हुए देखा जा सकता है।

‘जय हिन्द नहीं… भारत माता भी नहीं, इंदिरा जैसा सबक मोदी को भी सिखाएँगे’ – अमानतुल्लाह के साथ प्रदर्शनकारियों की धमकी

जब 'किसान आंदोलन' के नाम पर प्रदर्शनकारी द्वारा बयान दिए जा रहे थे, तब आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्लाह खान वहीं पर मौजूद थे।

मंदिर में जबरन घुस गया मंजूर अली, देवी-देवताओं और पुजारियों को गाली देते हुए किया Facebook Live

मंदिर के पुजारियों और वहाँ मौजूद लोगों ने मंजूर अली को रोकने का प्रयास किया, तब उसने उन लोगों से भी गाली गलौच शुरू कर दिया और...

दिल्ली दंगों के दौरान मुस्लिमों को भड़काने वाला संगठन ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों को पहुँचा रहा भोजन: 25 मस्जिद काम में लगे

UAH के मुखिया नदीम खान ने कहा कि मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे लोगों को मदद पहुँचाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

साग खोंट रही दलित ‘प्रीति साहनी’ को अपने पास बुलाया, फिर गला रेत मार डाला: सैयद को UP पुलिस ने किया अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बलिया में अपने ननिहाल गई दलित समुदाय की एक युवती की मुस्लिम समुदाय के एक युवक सैयद ने हत्या कर दी। आरोपित हुआ गिरफ्तार।

पड़ोसी मुस्लिम लड़की से जिसने किया प्यार, उसके भाई की ईंट-पत्थर से कुचल कर हत्या: नसीम सहित 6 पर FIR

बिजनौर में पत्थर से कुचल कर शिवम की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई और शव को जला भी दिया गया। भाई ने पड़ोस के मुस्लिम परिवार पर लगाया आरोप।

बच्चे, बच्चियाँ, किन्नर, महिलाएँ, पुरुष – 40+ रेप करने वाले सिकंदर खान उर्फ जीवाणु को उम्रकैद, कहा – मुखबिर को मार डालूँगा

सिकंदर खान उर्फ़ जीवाणु सीरियल रेपिस्ट है। 2019 में जयपुर में 4 व 7 साल की दो बच्चियों के बलात्कार कर के वो कोटा भाग गया था, लेकिन पकड़ा गया।

हिंदू बेईमान, मुसलमान महान और योद्धा: भारत को लेकर विंस्टन चर्चिल की सोच, जिसने मारे 40-45 लाख निर्दोष लोग

विंस्टन चर्चिल भारत के आदिवासियों के खिलाफ रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल कराना चाहता था। चर्चिल ने एक आतंरिक मेमो भेजा था, जिसमें...

धुले के किसान ने ‘मन की बात’ में जिक्र के लिए PM का जताया आभार, नए कृषि कानून से हुए फायदे के बारे में...

धुले ज़िले के जितेंद्र भोइजी ने 'मन की बात' में अपना जिक्र होने पर खुशी जताते हुए बताया है कि कैसे नए कृषि कानून से उन्हें फायदा हुआ।

‘प्रशांत किशोर को इतना पैसा कहाँ से मिल रहा है’: एक और TMC विधायक बागी, कहा- पार्टी में कई समस्याएँ

TMC में उठा-पठक थमने का नाम नहीं ले रही है। शिबपुर से विधायक जटू लाहिड़ी ने सार्वजनिक तौर पर असंतोष जताया है।

किसानों के लिए $10 मिलियन, बदले में खालिस्तान का करें समर्थन: YouTube पर SFJ का विज्ञापन

खालिस्तानी समूह SFJ ने किसानों के विरोध-प्रदर्शनों को समर्थन की घोषणा करते हुए बदले में उनसे अपने राष्ट्रविरोधी एजेंडे के लिए समर्थन माँगा है।

हैदराबाद में केवल ओवैसी को घेरने गई है BJP या कोई और है निशाना: नड्डा, योगी और शाह के उतरने का कुछ अलग ही...

हैदराबाद के सहारे भाजपा को दक्षिण में मिलेगी एंट्री? GHMC के चुनाव में भाजपा ने नड्डा, योगी और शाह को क्यों उतारा? समझिए, इस दिलचस्प चुनाव का पूरा गणित।

पूर्वी मिदनापुर में शुभेंदु अधिकारी ने दिखाई झलक, असली शो अभी भी बाकी: मान-मनौव्वल में जुटी TMC

ममता बनर्जी सरकार से इस्तीफा देने वाले शुभेंदु अधिकारी ने रविवार को पूर्वी मिदनापुर में सभा की। हालॉंकि उन्होंने अपने पत्ते पूरी तरह नहीं खोले हैं।

हिंदू धर्म को हिंसक बताने वाली उर्मिला मातोंडकर शिवसैनिक बनेंगी, विधान परिषद में मिल सकती है एंट्री

उर्मिला मातोंडकर को नया राजनीतिक ठिकाना मिल गया है। कॉन्ग्रेस छोड़ने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री अब शिवसेना का दामन थामने की तैयारी में हैं।

‘4 महीने का राशन लेकर आए हैं, दिल्ली को 5 जगह से घेरेंगे’: वार्ता प्रस्ताव ठुकराया, बुराड़ी को बताया ओपन जेल

भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी) ने बुराड़ी में आंदोलन का प्रस्ताव खारिज करते हुए कहा है कि वह पार्क नहीं ओपन जेल है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,472FollowersFollow
358,000SubscribersSubscribe