Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाज'शबाब मिलता है': मैनेजर जहीर ने HDFC बैंक में कराया नमाज और रोजा-इफ्तारी, सपा...

‘शबाब मिलता है’: मैनेजर जहीर ने HDFC बैंक में कराया नमाज और रोजा-इफ्तारी, सपा नेता ओसामा भी हुए शामिल, बोले हिन्दू संगठन – ‘गजवा-ए-हिन्द’

"बैंक परिसर में नमाज़ के आरोपितों के खिलाफ हम प्रशासन से कड़ी कार्रवाई की माँग करते हैं। ये अनजाने में नहीं किया गया है, बल्कि इसके पीछे गज़वा-ए-हिन्द की सोच है।"

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में एक बैंक के अंदर नमाज का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो HDFC बैंक की शहर शाखा का बताया जा रहा है। बाद में बैंक के ही अंदर रोज़ा-इफ्तारी का कार्यक्रम करवाया गया। इफ्तारी कार्यक्रम करवाने वाले ब्रांच मैनेजर का नाम ज़हीर अब्बास है। यह आयोजन शुक्रवार (22 अप्रैल, 2022) को हुआ था। हिन्दू संगठनों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए प्रशासन से कार्रवाई की माँग की है।

रोज़ा इफ्तारी के आयोजकों में डिप्टी मैनेजर अनवर रिज़वी भी

एक स्थानीय पोर्टल के मुताबिक, इस आयोजन में बैंक के मुस्लिम खाताधारकों को बुलवाया गया था। नमाज़ बैंक के काउंटर के आगे हुई। इफ्तारी के लिए पूरी तैयारी की गई थी। खाने में बिरयानी का इंतज़ाम था। बैंक स्टाफ ने खाने के साथ रोज़ेदारों के लिए उपहार भी दिए। इस दौरान सभासद मुजीब अंसारी, सपा नेता ओसामा अंसारी के अलावा बैंक की तरफ से ब्रांच मैनेजर जहीर अब्बास, डिप्टी ब्रांच मैनेजर अनवर रिजवी और अब्दुल अंसारी शामिल हुए।

बैंक काउंटर पर नमाज़

“इफ्तारी अच्छी चीज”: ब्रांच मैनेजर जहीर अब्बास

बैंक के ब्रांच मैनेजर जहीर अब्बास ने इस इफ्तारी के बाद बयान दिया, “यह हर साल होता था। 2 साल से कोविड के चक्कर में हम ये करा नहीं पा रहे थे। ये लोगों से कनेक्ट करने के लिए अच्छा है। हम लोगों के इस्लाम मजहब में रोजा इफ्तारी एक अच्छी चीज होती है। रोज़ा इफ्तारी करवाने से शबाब (पुण्य) मिलता है।”

बजरंग दल ने उठाई कार्रवाई की माँग

बाराबंकी से बजरंग दल के प्रान्त विद्यार्थी प्रमुख अखिलेश सिंह ने ऑपइंडिया से बात करते हुए बताया, “बैंक परिसर में नमाज़ के आरोपितों के खिलाफ हम प्रशासन से कड़ी कार्रवाई की माँग करते हैं। ये अनजाने में नहीं किया गया है, बल्कि इसके पीछे गज़वा-ए-हिन्द की सोच है।” बजरंग दल के ही अवध प्रान्त संयोजक सुनील सिंह ने कहा, “आज बैंक ने नमाज़ पढ़ी गई गई। कल कहीं और पढ़ी जाएगी। प्रशासन इन सभी पर कार्रवाई करे।’

“प्रशासनिक कार्रवाई की जरूरत नहीं” : बाराबंकी जिला प्रशासन

पुलिस अधीक्षक बाराबंकी के PRO (जनसम्पर्क अधिकरी) ने ऑपइंडिया को बताया, “घटना लगभग 4 दिन पुरानी है। बैंक के अंदर नमाज का प्रकरण हमारे संज्ञान में आया था। लेकिन, इस मामले में पुलिस के हस्तक्षेप की कोई जरूरत नहीं थी।” जबकि DM बाराबंकी ने कहा, “मामला बैंक के अंदर का था। कार्रवाई आदि उनका आंतरिक विषय है। हम लोगों की जानकारी में ये प्रकरण कल ही आया है। अभी तक हमारी तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।”

ऑपइंडिया ने इस पूरे प्रकरण पर ब्रांच मैनेजर ज़हीर अब्बास का पक्ष जानने के लिए उनके नंबर पर फोन मिलाया, लेकिन ज़हीर का फोन उठा नहीं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe