Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजजीशान और मुबारक सहित 4 युवकों ने सुशील की छाती और पेट में गोदा...

जीशान और मुबारक सहित 4 युवकों ने सुशील की छाती और पेट में गोदा चाकू, स्टंट करने से रोका तो कर दिया हमला: कर्नाटक के इसी जिले में हुई थी ‘बजरंग दल’हर्ष की हत्या

पीड़ित युवक शाम को अपने कुत्ते को टहलाने निकला था। इस दौरान गली में कुछ मुस्लिम लड़के स्टंट कर रहे थे। युवक ने जब उसे मना किया तो उसे चाकू मार दिया गया।

कर्नाटक के शिवमोगा में एक हिन्दू युवक को चार मुस्लिम लड़कों ने चाकू मार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। हिन्दू युवक ने मुस्लिमों को अपने घर की सामने की गली में स्टंट करने से रोका था। इसी से गुस्साए मुस्लिम लड़कों ने हिन्दू युवक को छाती और पेट पर चाकू मार कर घायल कर दिया।

जानकारी के अनुसार, यह घटना मंगलवार (6 फरवरी, 2024) शाम की है। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि पीड़ित हिन्दू युवक शाम को अपने कुत्ते को टहलाने निकला था। इस दौरान उसकी गली में कुछ मुस्लिम लड़के स्टंट कर रहे थे। सुशील ने जब इन मुस्लिम लड़कों को ऐसा करने से मना किया तो पहले तो वह यहाँ से चले गए लेकिन थोड़ी देर में अपने साथ और लड़कों को लेकर आए और सुशील पर हमला बोल दिया। सुशील के साथ मारपीट की गई और चाकू मार दिया गया।

सुशील के छाती और पेट पर चाकू से वार किए गए हैं, उनका इलाज शिवमोगा के एक निजी अस्पताल में जारी है। सुशील को चाकू मारने के बाद यह मुस्लिम लड़के यहाँ से भाग गए बताया जा रहा है कि पीड़ित हिन्दू युवक सुशील 23 वर्ष का है और एक कॉलेज में कम्यूटर ऑपरेटर का काम करता है।

पुलिस ने इस मामले में बताया है कि उसने केस दर्ज कर लिया है और शुरुआती जाँच करके अभी तक तीन हमलावरों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक नाबालिग भी बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हिन्दू युवक सुशील को चाकू मारने वाले दो हमलावरों का नाम जीशान और मुबारक बताया गया है।

इस हमले के बाद शिकारीपुरा से विधायक और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीवाई विजयेन्द्र ने राज्य की कॉन्ग्रेस सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, “‘चाहे बेलगावी की घटना हो, हावेरी या मंगलुरु की या फिर कल शिकारीपुरा की, अब तो ऐसा लगता है जैसे कोई भी कुछ भी कर सकता है। हालात तो ऐसे लग रहे हैं जैसे राज्य में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। भले ही यहाँ पुलिस व्यवस्था एकदम ध्वस्त हो गई हो लेकिन मुख्यमंत्री अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ दिल्ली में बैठे हैं।”

गौरतलब है कि इससे पहले भी शिवमोगा में हिंसा होती रही है। इससे पहले फरवरी 2022 में शिवमोगा में ही ‘बजरंग दल’ के एक कार्यकर्ता हर्षा की हत्या कर दी गई थी। उसका कसूर बस इतना था कि उसने हिजाब पर पोस्ट कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -