Wednesday, May 25, 2022
Homeदेश-समाजकर्नाटक: हिजाब के विरोध में फेसबुक पोस्ट करने पर 26 साल के हर्षा की...

कर्नाटक: हिजाब के विरोध में फेसबुक पोस्ट करने पर 26 साल के हर्षा की चाकुओं से गोदकर हत्या, बजरंग दल से जुड़ा था

कर्नाटक में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के बाद पुलिस ने इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी है। उपद्रवियों ने घटनास्थल के आस-पास वाहनों में आग लगाई थी। उन्हें भी फायर ब्रिगेड की मदद से बुझवा दिया गया है।

कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद के बीच वहाँ शिवमोगा क्षेत्र में 26 वर्षीय बजरंग दल कार्यकर्ता हर्षा की हत्या का मामला प्रकाश में आया है। ये घटना रविवार (20 फरवरी 2022) रात करीब 9 बजे की है। इलाके में तनाव देखते हुए पुलिस ने वहाँ सुरक्षा बढ़ा दी है। 

जानकारी के मुताबिक, शिवमोगा में हर्षा की चाकुओं से गोद कर हत्या के बाद उपद्रवियों ने क्षेत्र में कई जगह गाड़ियों में तोड़फोड़ की। उनमें आग लगाई, जिसे बाद में फायर ब्रिगेड द्वारा बुझवाया गया। पुलिस ने स्थिति कंट्रोल करने के लिए इलाके में 144 लगाई हुई है। कॉलेजों में भी सोमवार का अवकाश घोषित है।

हर्षा की हत्या मामले में पुलिस की जाँच शुरू हो गई है। जाँच में अब तक सामने आया है कि हर्षा ने हाल में अपने फेसबुक प्रोफाइल पर हिजाब के ख़िलाफ़ और भगवा शॉल के समर्थन में पोस्ट लिखी थी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में हर्षा की फेसबुक पोस्ट को ही उनकी हत्या के पीछे की वजह बताई जा रही है। 

कथिततौर पर जब से प्रदेश में हिजाब विवाद का मुद्दा शुरू हुआ है उसी के बाद से हर जगह बजरंग दल बढ़ चढ़ कर हिजाब के विरोध में आवाज उठा रहा है। पुलिस ने हर्षा की सोशल मीडिया पोस्ट और उनकी हत्या के बीच क्या कनेक्शन है इस पर कोई बात नहीं रखी है। लेकिन प्रदेश में पिछले दिनों उपजे तनावपूर्ण माहौल के चलते अंदाजा लग रहा है कि वजह हर्षा द्वारा लिखा गया पोस्ट ही है।

केरल में संजीत की हत्या

गौरतलब है कि कर्नाटक में जैसे बजरंग दल कार्यकर्ता को धारधार हथियार से मारकर मौत के घाट उतारा गया है। वैसे ही 15 नवंबर 2021 को केरल के एलापल्ली के रहने वाले आरएसएस कार्यकर्ता ए संजीत की SDPI के गुंडों ने हत्या कर दी थी। 18 नवंबर को पुलिस को इस हमले में इस्तेमाल खून से सनी तलवारे मिली थीं और 22 नवंबर को एक पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सिविल ड्रेस में रायफल के साथ घर में घुसे…आतंकियों की तरह घसीटा’: तजिंदर बग्गा ने शेयर किया पंजाब पुलिस का वीडियो

तेजिंदर बग्गा ने जो नया वीडियो शेयर किया है, उसमें रायफल के साथ सिविल ड्रेस में आई पंजाब पुलिस को उन्हें घसीट कर ले जाते हुए देखा जा सकता है।

शिक्षा का गुजरात मॉडल: सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन की होड़, लगातार तीसरे साल प्राइवेट स्कूल पीछे

दिल्ली के तथकथित शिक्षा मॉडल का आपने खूब प्रचार सुना होगा। इससे इतर गुजरात के सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन के लिए भारी भीड़ दिख रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,731FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe