Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजइस होली देश भर में होगी ₹25000 करोड़ की खरीददारी: CAIT का अनुमान, सिर्फ...

इस होली देश भर में होगी ₹25000 करोड़ की खरीददारी: CAIT का अनुमान, सिर्फ खुशियाँ ही नहीं, देश की अर्थव्यवस्था में भी चार चाँद लगा जाएगा हिन्दू त्योहार

अकेले दिल्ली में 1500 करोड़ रुपए के सामान लोग खरीदेंगे, ऐसा अनुमान है। इससे पहले चीन से बाहरी मात्रा में सामान यहाँ आते थे, जो इस बार नहीं है।

भारत में जब त्योहार दीवाली-धनतेरस का आता है, तो सभी की नजरें बाजार की तरफ लग जाती हैं। ब्रांड्स एक से बढ़ कर एक ऑफर्स देते हैं, कपड़ों से लेकर गहनों और गाड़ियों तक की खरीददारी होती है। लेकिन, क्या आपको पता है कि होली के दौरान भी बाजारों में बड़ी रौनक आती है? ‘Confederation of All India Traders (CAIT)’ ने अपने अनुमान में बताया है कि इस होली में कितने करोड़ का कारोबार पूरे देश में होगा।

CAIT के अनुसार, 2023 में होली त्योहार के दौरान भारत में 25,000 करोड़ रुपए की खरीददारी होने की उम्मीद है। ये पिछले साल के मुकाबले 25% ज़्यादा है। बता दें कि होली 2022 के दौरान भी 2021 के मुकाबले कारोबार में 30% की उछाल देखी गई थी। लेकिन, ये याद रखा जाना चाहिए कि 2021 की होली कोरोना के साए में मनाई गई थी। अब कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप लगभग खत्म हो चुका है और स्वदेशी वैक्सीन की तीन डोज भी लगाई जा चुकी है।

अकेले दिल्ली में 1500 करोड़ रुपए के सामान लोग खरीदेंगे, ऐसा अनुमान है। इससे पहले चीन से बाहरी मात्रा में सामान यहाँ आते थे, जो इस बार नहीं है। रंग से लेकर गुब्बारे और खिलौने तक चीन से आते थे। लेकिन, इस बार अधिकतर कारोबार स्वदेशी वस्तुओं का होगा। CAIT ने बताया है कि भारत में निर्मित गुलाल, खिलौने वाली बंदूकें, पानी, चंदन और कपड़े की बड़ी बिक्री हो रही है, जो होली के दौरान लोग खरीदते ही हैं।

इन सबके अलावा मिठाई, ड्राई फ्रूट्स, गिफ्ट आइटम्स, टेक्सटाइल्स, फूल, फल और फर्निशिंग फैब्रिक, किराना, FMCG प्रोडक्ट्स (कंज्यूमर पैक्ड) और पूजा-पाठ के वस्तुओं की भी बड़ी बिक्री होने वाली है। आगे भी अच्छी ट्रेड होने वाली है, होली इसकी उम्मीद जगाएगा। अकेले दिल्ली में सामूहिक होली के 3000 कार्यक्रम होने वाले हैं। 2020 और 2021 होली के कारोबार के मामले में कोरोना के कारण सबसे खराब रहा था। इससे सरकार और व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -