Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजलॉकडाउन 4 के लिए गाइडलाइन जारी: फ्लाइट और मेट्रो का परिचालन नहीं, आपसी सहमति...

लॉकडाउन 4 के लिए गाइडलाइन जारी: फ्लाइट और मेट्रो का परिचालन नहीं, आपसी सहमति से बस चला सकेंगे राज्य

लॉकडाउन 4 में सरकार ने एक राज्य से दूसरे राज्यों के बीच बसें और यात्री गाड़ियों को चलाए जाने की अनुमति दी है। लेकिन बसों या गाड़ियों को चलाने के लिए दोनों राज्यों की सहमति जरूरी होगी। ये व्यवस्था विशेष तौर पर फँसे हुए प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुँचाने के लिए की गई है।

देश में लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा दिया गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने चौथे लॉकडाउन को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। नई गाइडलाइन के तहत लॉकडाउन 4 में राज्य सरकारों को अधिकार दिए गए हैं कि वे संक्रमण के मामलों को ध्यान में रखते हुए अपने राज्य में ग्रीन, ऑरेंज, रेड और कंटेनमेंट जोन तय करें।

गृह मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि 31 मई तक सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय फ्लाइटें कैंसिल रहेंगी। स्‍कूल व कॉलेज बंद रहेंगे। धार्मिक स्‍थल, शॉपिंग मॉल्‍स, स्‍टेडियम, व्‍यवसायिक केंद्र बंद रहेंगे।

इस लॉकडाउन में सरकार ने एक राज्य से दूसरे राज्यों के बीच बसें और यात्री गाड़ियों को चलाए जाने की अनुमति दी है। लेकिन बसों या गाड़ियों को चलाने के लिए दोनों राज्यों की सहमति जरूरी होगी। ये व्यवस्था विशेष तौर पर फँसे हुए प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुँचाने के लिए की गई है।

गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, किसी बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिलाएँ और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे 31 मई तक घर पर रहेंगे, केवल आवश्यक और स्वास्थ्य कारणों के लिए ही बाहर निकलेंगे।

लॉकडाउन के दौरान सभी गैर-जरूरी गतिविधियों के लिए शाम 7 से सुबह 7 बजे के बीच कर्फ्यू जारी रहेगा।

इसके साथ ही जिला अधिकारियों से कहा गया है कि वे सभी को मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु एप्लिकेशन इंस्टॉल करने और नियमित रूप से ऐप पर अपनी स्वास्थ्य स्थिति को अपडेट करने की सलाह दें। इससे उन व्यक्तियों को समय पर चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध होगी जो जोखिम में हैं।

सभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल, धार्मिक स्थल और इसी तरह के स्थान 31 मई तक पूरे देश में बंद रहेंगे।

स्टेडियम और स्पोर्ट्स कांपलेक्स खुल सकते हैं। लेकिन दर्शकों की अनुमति नहीं होगी। देश भर में घरेलू चिकित्सा सेवाओं, घरेलू एयर एम्बुलेंस और सुरक्षा उद्देश्यों या गृह मंत्रालय द्वारा अनुमति दी गए कार्यों के लिए उड़ान को छोड़कर सभी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा बंद रहेंगी।

मेट्रो और रेल सेवाओं पर पाबंदी जारी रहेगी। गौरतलब है कि रेलवे ने विशेष तौर पर चलाई जा रही राजधानी स्पेशल और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को छोड़ कर पहले ही सभी मेल, एक्सप्रेस और सबरबन ट्रेनों को 30 जून तक के लिए कैंसिल कर दिया है।

देश में जिस तरह से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, उससे लॉकडाउन का बढ़ना लाजिमी माना जा रहा था। कई राज्यों ने इसके लिए तैयारी भी कर ली थी। पंजाब, तेलंगाना, महाराष्ट्र और तमिलनाडु ने पहले ही 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी। देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 90 हजार के पार पहुँच चुकी है। 2800 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

केंद्र ने लॉकडाउन बढ़ाने के बारे में राज्यों से सुझाव माँगे थे। शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह ने अपने मंत्रालय के अधिकारियों के साथ मैराथन बैठक की। इसमें सभी राज्यों से मिले सुझावों पर विचार करने के बाद लॉकडाउन-4 के लिए दिशा-निर्देशों का खाका तैयार किया गया। ज्यादातर राज्यों ने इस महीने के आखिर तक लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में चौथे चरण की लॉकडाउन की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन का चौथा चरण नए रंग-रूप वाला होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -