नेताओं और IAS-IPS अफसरों को ब्लैकमेल करने वाले Honey Trap Racket का पर्दाफाश

अभी तक मध्य प्रदेश के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले में एक पुरुष और 5 महिलाओं की गिरफ्तारी हो चुकी है। इंदौर के एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने इसकी पुष्टि की है। आरोपितों के पास से 14 लाख रुपए और एक कार बरामद हुई है।

मध्य प्रदेश पुलिस ने कई अधिकारियों और नेताओं को प्रेमजाल मे फँसाकर ब्लैकमेल करने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस कार्रवाई में राजधानी भोपाल से तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, एक वरिष्ठ सरकारी इंजिनियर की शिकायत पर इंदौर के पलासिया पुलिस थाने में ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज किया गया था।

रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक मध्य प्रदेश के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले में एक पुरुष और 5 महिलाओं की गिरफ्तारी हो चुकी है। इंदौर के एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने इसकी पुष्टि की है। आरोपितों के पास से 14 लाख रुपए और एक कार बरामद हुई है।

मध्य प्रदेश पुलिस के अनुसार, गिरोह की सरगना छतरपुर की रहने वाली युवती है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित महिला से पुलिस की पूछताछ जारी है। रिपोर्ट्स के अनुसार, ऐसा कहा जा रहा है कि इसमें कई बड़े अफसरों और नेताओं के नाम सामने आ सकते हैं। आरोप है कि यह गिरोह आईएएस और आईपीएस अफसरों को हनी ट्रैप कर उन्हें ब्लैकमेल करता था। मीडिया रिपोर्ट में यह भी दावा है कि इसी हनी ट्रैप गिरोह ने एक मौजूदा मंत्री का भी वीडियो बनाया था। पुलिस अब इसकी जाँच कर रही है कि क्या उन्हें भी ये गिरोह ब्लैकमेल कर रहा था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बता दें कि इस पूरे रैकेट का खुलासा इंदौर नगर निगम के एक इंजीनियर की शिकायत के बाद हुआ। रिपोर्ट के अनुसार, एसएसपी रुचिवर्धन मिश्रा के मुताबिक गिरोह नगर निगम इंजीनियर को ब्लैकमेल करने की धमकी देकर तीन करोड़ रुपए माँग रहा था। इंजीनियर ने इसकी शिकायत पुलिस दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इस हनी ट्रैप रैकेट का पर्दाफाश किया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह भी कहा जा रहा है कि इंदौर पुलिस के मुताबिक इस मामले में अभी तक कोई और फरियादी नहीं उन्हें नहीं मिला है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई और आगे बढ़ने के संकेत हैं। कहा जा रहा है कि अभी इस गिरोह के पूरे नेटवर्क का पता लगाया जा रहा है। उसके बाद कुछ और नामों का खुलासा और गिरफ्तारी हो सकती है।

एक अन्य रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि गिरफ्तार इन तीनों हाई प्रोफाइल महिलाओं के राजनीतिक संबंध है। एक महिला तो पन्ना जिले से विधायक के आवास में किराए पर रहती है। फिलहाल, भोपाल पुलिस ने तीन महिलाओं की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

ओवैसी, बाबरी मस्जिद
"रिव्यू पिटिशन पर जो भी फ़ैसला होगा, वो चाहे हमारे हक़ में आए या न आए, हमको वो फ़ैसला भी क़बूल है। लेकिन, यह भी एक हक़ीक़त है कि क़यामत तक बाबरी मस्जिद जहाँ थी, वहीं रहेगी। चाहे वहाँ पर कुछ भी बन जाए। वो मस्जिद थी, मस्जिद है... मस्जिद ही रहेगी।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

117,663फैंसलाइक करें
25,872फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: