Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाज'मेरे साथ चाय पर चलोगी?': IAS ने महिला को किया मैसेज, शराब खरीद में...

‘मेरे साथ चाय पर चलोगी?’: IAS ने महिला को किया मैसेज, शराब खरीद में ठगी के शिकार अफसर की सोशल मीडिया पर लग रही क्लास

महिला ने IAS अधिकारी का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए पूछा, 'ये सब क्या है?' जब लोगों ने इस पर आपत्ति जताई तो महिला ने कहा, "अगर मैं मना कर दूँ तो भी उनके इस तुच्छ व्यवहार में बदलाव नहीं आ जाएगा।"

मध्य प्रदेश IAS लोकेश जांगिड़ विवादों में आ गए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से एक महिला से संपर्क किया और चाय पर कहीं बाहर चलने को कहा। महिला ने उनके मैसेजों का स्क्रीनशॉट वायरल कर दिया, जिसके बाद वो विवाद में आ गए। हालाँकि, उनके मैसेज में कुछ आपत्तिजनक चीजें नहीं थीं, लेकिन इस प्राइवेट मैसेजों के ट्विटर पर आने के बाद कई लोगों ने अपनी-अपनी राय दी।

लोकेश जांगिड़ ने प्रीति नाम की महिला को लिखा, “हाय प्रीति, मैं मध्य प्रदेश में कार्यरत एक सिविल सर्वेंट हूँ। स्वरा भास्कर की घरवास की तस्वीरों में रिप्लाई देखते समय मेरी नजर आपकी प्रोफ़ाइल पर पड़ी। संयोग से मैं आज और कल दिल्ली में हूँ। आप जब भी फ्री हों और अगर आपकी इच्छा हो तो मैं एक कप चाय पर आपके साथ कहीं चलना चाहूँगा। मुझे बता दीजिए। बैकग्राउंड के लिए आ गूगल पर मेरा नाम सर्च कर सकती हैं।”

जहाँ कुछ लोगों ने कहा कि ट्विटर कोई टिंडर नहीं है, जहाँ मैच ढूँढे जाते हों, वहीं कुछ लोगों की राय है कि महिला सीधा ‘ना’ में जवाब देकर आगे बढ़ सकती थी, बजाए एक प्राइवेट कन्वर्सेशन के स्क्रीनशॉट वायरल करने के, क्योंकि IAS लोकेश जांगिड़ ने कुछ आपत्तिजनक नहीं कहा था। कई महिलाओं ने भी मैसेज वायरल किए जाने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि स्क्रीनशॉट पोस्ट करने से आप ‘कूल’ नहीं बन जाएँगी, IAS अधिकारी का भी जीवन होता है।

महिला ने IAS अधिकारी का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए पूछा, ‘ये सब क्या है?’ जब लोगों ने इस पर आपत्ति जताई तो महिला ने कहा, “अगर मैं मना कर दूँ तो भी उनके इस तुच्छ व्यवहार में बदलाव नहीं आ जाएगा। इससे उन्हें आगे कंवर्शेशन करने का मौका मिल जाता है। इसलिए हाँ, लोगों को अपनी सीमाएँ बताने के लिए मुझे स्क्रीनशॉट डालना ज़रूरी है। किसी के मैसेज में बिना उसे जाने घुस जाना ‘कूल’ नहीं है।”

लोकेश जांगिड़ ने अपने मैसेज में स्पष्ट कहा है कि ‘अगर महिला की इच्छा है’ और ‘अगर वो फ्री हैं’, तभी वो उनके साथ चाय पर चल सकती हैं। उन्होंने किसी ऐसी शब्दावली का भी प्रयोग नहीं किया, जिससे किसी को बुरा लगे। लेकिन, इंटरनेट पर इन चीजों के लिए कोई नियम-कानून नहीं हैं, इसीलिए सबकी अलग-अलग राय होती है। ये रिस्क तो रहता ही है कि इन टेक्स्ट्स का इस्तेमाल कर के कोई शातिर दिमाग गड़बड़ी कर सकता है।

अपनी 4 साल की नौकरी में 8 बार तबादले का सामना कर चुके लोकेश जांगिड़ हाल ही में तब भी विवादों में आए थे, जब ऑनलाइन शराब खरीदने के क्रम में उनसे 34,000 रुपए की ठगी हुई थी। साइबर सेल ने गुपचुप तरीके से इस मामले की जाँच की। ऑनलाइन शराब खरीदने के क्रम में उनसे दो बार 8500-8500 रुपए ले लिए गए और एक क्यूआर कोड स्कैन करने पर 17,000 रुपए अलग से उनके अकाउंट से कट गए।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe