Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजजिस क्वारंटाइन सेंटर में तबलीगी जमातियों ने किया शौच, उसे अब आर्मी कर रही...

जिस क्वारंटाइन सेंटर में तबलीगी जमातियों ने किया शौच, उसे अब आर्मी कर रही है टेकओवर

आर्मी की कुल करीब 80 लोगों की टीम नरेला आइसोलेशन कैंप भेजी जा रही है। उसमें डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और ऐडमिनिस्ट्रेटिव स्टाफ शामिल हैं। बता दें, नरेला कैंप में 1200 से ज्यादा कोरोना संदिग्धों को रखा गया है। इसमें दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज आने वाले तबलीगी जमाती भी हैं।

दिल्ली के नरेला में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर को इंडियन आर्मी पूरी तरह से टेकओवर करने की तैयारी में जुट गई है। यहाँ बड़ी तादाद में तबलीगी जमात के लोग कोरोना संदिग्ध होने के कारण रखे गए हैं। बता दें यह पहला कैंप हैं जहाँ आर्मी के डॉक्टरों की मदद माँगी गई थी।

जानकारी के अनुसार कुछ समय पहले तक यहाँ इंडियन आर्मी के कुल 4 डॉक्टर और 8 नर्सिंग स्टाफ और सिक्योरिटी स्टाफ मौजूद था। मगर, अब पूरे कैंप को इंडियन आर्मी ने टेकओवर कर रही है। इसकी जानकारी भारतीय सेना के सूत्रों ने दी।

एएनआई के मुताबिक, नरेला कैंप में मेडिकल स्क्रीनिंग सेटअप को टेकओवर करने के लिए अतिरिक्त आर्मी मेडिकल स्टॉफ इस समय सिविल मेडिकल प्रोफेशनल के साथ काम कर रहा है।

गौरतलब है कि सबसे पहले शुक्रवार को इंडियन आर्मी की एक मेडिकल टीम नरेला कैंप पहुँची थी। उसमें दो डॉक्टर और 2 नर्सिंग स्टाफ मौजूद थे। उनके साथ सिक्यॉरिटी टीम भी गई थी। मगर, शनिवार को आर्मी ने मेडिकल टीम दोगुनी कर दी और वहाँ आर्मी के 4 डॉक्टर और 8 नर्सिंग स्टाफ तैनात कर दिए। 

रविवार को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल विपिन रावत ने भी नरेला कैंप का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने सिविल डॉक्टर्स, आर्मी डॉक्टर्स और वॉलंटियर्स से बात की थी। साथ ही उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिलाया। फिर नरेला कैंप में पूरी तरह आर्मी की मेडिकल टीम को तैनात करने के प्रपोजल को सोमवार सुबह मान लिया गया और इसके बाद ये प्रक्रिया शुरू कर दी गई। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आर्मी की कुल करीब 80 लोगों की टीम नरेला आइसोलेशन कैंप भेजी जा रही है। उसमें डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और ऐडमिनिस्ट्रेटिव स्टाफ शामिल हैं। बता दें, नरेला कैंप में 1200 से ज्यादा कोरोना संदिग्धों को रखा गया है। इसमें दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज आने वाले तबलीगी जमाती भी हैं।

गौरतलब है कि नरेला के सेंटर में क्वारंंटाइन किए गए जमातियों की हरकत बेहूदगी की हर हदें पार कर रही हैं। इसलिए इस सेंटर को आर्मी को सौंपा गया। दरअसल इस सेंटर से इससे पहले खबर आई कि थी कि यहाँ दो जमातियों ने कमरे के बाहर शौच कर दिया और जब सफाईकर्मियों ने इसके संबंध में उनसे पूछताछ की तो उन्होंने उनके साथ बदसलूकी की। इसके बाद इस हरकत की खबर नरेला इंडस्ट्रियल थाना पुलिस को दी गई। बाद में पुलिस ने बाराबंकी निवासी मो. फहद और अदनान जहीर के खिलाफ सरकारी आदेश का उल्लंघन समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

परमाणु बम जैसा खतरनाक है ‘Deepfake’, आपके जीवन में ला सकता है भूचाल: जानिए इससे जुड़ी हर बात

विशेषज्ञ इसे परमाणु बम की तरह ही खतरनाक मानते हैं, क्योंकि Deepfake की सहायता से किसी भी देश की राजनीति या पोर्न के माध्यम से किसी की ज़िन्दगी में भूचाल लाया जा सकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe