Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजडार्क वेब पर एक्टिव था IIT गुवाहाटी का ISIS वाला छात्र, कॉलेज में एडमिशन...

डार्क वेब पर एक्टिव था IIT गुवाहाटी का ISIS वाला छात्र, कॉलेज में एडमिशन से पहले से इस्लामी विचारधारा का कर रहा था अध्ययन: अकेले रहना था पसंद

पुलिस ने बताया है कि तौसीफ अली फारूकी अकेला रहना पसंद करता था और सिर्फ क्लास के लिए कमरे से बाहर निकलता था। पुलिस ने बताया है कि वो कई वर्षों से इस्लामी कट्टरपंथ से प्रेरित था।

कई बार कहा जाता है कि जो पढ़े-लिखे होते हैं वो आतंक का विरोध करते हैं, लेकिन इस्लामी कट्टरपंथियों के मामले में शायद ये बात फिट नहीं बैठती है। हाल ही में IIT गुवाहाटी के छात्र तौसीफ अली फारूकी को गिरफ्तार किया गया, जो आतंकी संगठन ISIS से जुड़ने जा रहा था। फाइनल परीक्षा के 1 महीने पहले वो धराया है। उसके बाद वो B.Tech ग्रेजुएट हो जाता। हालाँकि, उसका प्लान था खोरासन जाकर ISIS में शामिल होना। उसने ‘इस्लामी नेतृत्व’ के प्रति प्रतिबद्धता जताते हुए ईमेल भी लिख कर भेजा था।

असम STF के IG भी इस ईमेल को प्राप्त करने वालों में से एक थे। उक्त छात्र दिल्ली के ज़ाकिर नगर का रहने वाला है और बायोटेक्नोलॉजी ब्रांच में पढ़ता था। STF 10 दिनों के लिए रिमांड में लेकर उससे पूछताछ कर रही है। उसके बारे में बताया गया है कि वो पढ़ने में अच्छा था, कॉलेज में उसके दोस्त नहीं थे और घर के आस-पड़ोस में उसकी छवि अच्छी थी। उसके अम्मी-अब्बू अलग-अलग रहते हैं। उसका बड़ा भाई IIT कानपुर से ग्रेजुएट है और अपना स्टार्टअप चलाता है।

पुलिस इसका पता लगा रही है कि अचानक से उसने ISIS में शामिल होने की घोषणा क्यों की, वो भी इस तरीके से कि पुलिस सीधा उसके पास पहुँच गई। संस्थान ने उसे औसत से ऊपर का छात्र बताया है। उसकी अम्मी दक्षिणी दिल्ली के बाटला हाउस में बुटीक चलाती है। पुलिस ने बताया है कि तौसीफ अली फारूकी अकेला रहना पसंद करता था और सिर्फ क्लास के लिए कमरे से बाहर निकलता था। पुलिस ने बताया है कि वो कई वर्षों से इस्लामी कट्टरपंथ से प्रेरित था।

वो लगातार इस्लामी विचारधारा का अध्ययन करता था और उससे जुड़ा रहता था, लेकिन पिछले 3-4 महीनों में ये प्रक्रिया तेज़ हो गई। वो डार्क वेब का इस्तेमाल कर रहा था। उसके कमरे से काला झंडा भी बरामद हुआ है। IGP पार्थ सारथि महंता और कुछ कॉलेजों को लिखे गए ईमेल में उसने ‘हिजरत’ करने का ऐलान किया था, यानी अपनी मातृभूमि को छोड़ कर IS-खोरासन वाले क्षेत्र में जाना। उसने लिखा था कि वो भारत व भारतीय संविधान से खुद को पूरी तरह अलग करता है।

उसने ये भी लिखा था कि वो धरती पर जहाँ भी काफिर लोग हैं, उन सबसे खुद को पूरी तरह अलग करता है। IIT गुवाहाटी परिसर से 20 किलोमीटर दूर हाजो से उसे पकड़ा गया। UAPA के तहत मामला दर्ज किया गया है। उसके कमरे से कुछ साहित्य भी मिले हैं। LinkedIn पर भी उसने ISIS के प्रति शपथ लेते हुए लिखा था। उसने मेल में लिखा था, “अल्लाह के सामने मैं पश्चाताप करना चाहता हूँ।” साथ ही उसने कुरान से कुछ उद्धरण भी दिए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -