Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजनुपूर शर्मा पर चर्चा कर रहे थे BJYM नेता, कट्टरपंथी भीड़ ने पीछे से...

नुपूर शर्मा पर चर्चा कर रहे थे BJYM नेता, कट्टरपंथी भीड़ ने पीछे से हमला बोला: हाथ में रॉड और धारदार हथियार, दोस्तों की बदौलत बचे

अभिषेक बताते हैं कि उनके ऊपर पीछे से हमला हुआ। हमलावरों में दो का नाम अमजद और राशिद था। ये सारे लोग उस समय वहीं थे जब वो नुपूर शर्मा मामले पर बात कर रहे थे। उनके विचार सुनने के बाद ही कट्टरपंथियों ने उनके ऊपर हमला किया।

उत्तर प्रेश में भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग के नेता अभिषेक सिंह राठौर पर कट्टरपंथियों ने हमला किया। BJYM नेता ने ट्विटर पर घटना की जानकारी देते हुए बताया कि चूँकि उन्होंने नुपूर शर्मा मामले पर बात की इसलिए मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों ने ‘सर तन से जुदा’ का नारा लगाते हुए उनके ऊपर जानलेवा हमला किया

ऑपइंडिया ने इस घटना की जानकारी होने पर अभिषेक से संपर्क किया। वह बिहार के चंपारण के रहने वाले हैं। घटना के दिन वह नोएडा सेक्टर 44 में रेस्टोरेंट में जा रहे थे। तभी, उन्होंने देखा कुछ लोग इकट्ठा होकर राजनैतिक चर्चा कर रहे थे, वह भी उस चर्चा का हिस्सा बने।

अभिषेक ने कहा, “मैं राजनीति से जुड़ा हूँ तो मुझे लगा कि मुझको मेरे विचार साझा करने चाहिए। मैंने वहाँ कई मुद्दों पर बात की, उसी में नुपूर शर्मा का विवाद भी था।” अभिषेक के अनुसार वह चर्चा के बाद वहाँ से निकल गए लेकिन कुछ ही देर में दर्जनों लोग रॉड और धारदार हथियार लेकर उन्हें मारने आ गए।

अभिषेक बताते हैं कि उनके ऊपर पीछे से हमला हुआ। हमलावरों में दो का नाम अमजद और राशिद था। पीड़ित के मुताबिक ये सारे लोग उस समय वहीं थे जब वो नुपूर शर्मा मामले पर बात कर रहे थे। उनके विचार सुनने के बाद ही कट्टरपंथियों ने उनके ऊपर हमला किया।

इस दौरान भाजपा के युवा नेता को उनके दो दोस्तों ने बचाया और उनको अस्पताल लेकर गए। वहाँ उन्हें इमरजेंसी में इलाज मिला। फिर पुलिस को भी घटना के बारे में सूचित किया गया।

फिलहाल अभिषेक अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। उन्होंने नोएडा एसीपी को लिखित शिकायत दी है। मामले में जाँच जारी है। डीएसपी नोएडा ने अभिषेक के आरोपों वाली वीडियो पर ट्वीट करके कहा कि जाँच में अभी पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन अभिषेक द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर मामला दर्ज करके आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है।

याद दिला दें कि नुपूर शर्मा के टीवी पर की गई टिप्पणी के बाद कट्टरपंथियों ने न केवल उनको जान से मारने की धमकियाँ दी बल्कि उन लोगों को भी मारा जो उनके समर्थन में बोलते, अपने विचार प्रकट करते, नुपूर की फोटो लगाते दिखे। अलकायदा भी इस संबंध में बयान जारी कर दिल्ली, मुंबई, यूपी और गुजरात में धमकियाँ दे चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -