Tuesday, May 28, 2024
Homeदेश-समाज'हनुमान जी की पूजा में कौन-कौन थे' - दिल्ली पुलिस ने पूछा, सुजीत ने...

‘हनुमान जी की पूजा में कौन-कौन थे’ – दिल्ली पुलिस ने पूछा, सुजीत ने निडर होकर बताया – ‘मैं था’, पुलिसवालों ने घेर कर पकड़ लिया

मीनू ने ऑपइंडिया पत्रकार राहुल पांडे से बात करते हुए बताया कि उनके पति को कल 4:30 बजे सिविल ड्रेस में आई पुलिस अपने साथ ले गई। पहले पुलिस ने पूछा था कि हनुमान पूजा में कौन शामिल था और फिर जब उन्होंने सच बताया तो उन्हें पकड़ कर ले गई।

जहाँगीरपुरी हिंसा में दिल्ली पुलिस ने हनुमान पूजा में शामिल होने वाले हिंदुओ को भी गिरफ्तार किया है। इनमें एक नाम सुजीत हलदर का भी है। हाल में ऑपइंडिया पत्रकार राहुल पांडे जब घटनास्थल पर गए, तो उन्होंने सुजीत की पत्नी मीनू से बात की और जानना चाहा कि आखिर किस जुर्म में उनके पति को पुलिस वाले अपने साथ ले गए।

मीनू ने राहुल पांडे से बात करते हुए बताया कि वह लोग जी ब्लॉक धोबी घाट पर रहते हैं। उनके पति को कल 4:30 बजे सिविल ड्रेस में आई पुलिस अपने साथ ले गई। उन लोगों ने पहले प्यार से पूछा कि हनुमान जी की पूजा में कौन-कौन शामिल था। शुरू में लोग डरने लगे कि क्या बोलें। मगर फिर सुजीत ने बिना डरे कह दिया, “हाँ जी सर, हमने पूजा की थी। हम पूजा में भी शामिल थे।” उन्होंने पूछा, “तुम कहाँ पर थे।” उन्होंने कहा कि मैं पालकी खींच रहा था। इसके बाद उनका गिरेबान पकड़कर उन्हें साइड में कर दिया गया। दो लोग उनके आस पास खड़े हो गए।

मीनू कहती है, “मेरे पति ने पूछा कि मैंने तो ऐसा कुछ किया नहीं है। आप मुझे क्यों पकड़ रहे हो। मगर उन्हें कहा गया कि वो वहाँ थे तो उन्हें चलना पड़ेगा। इतने पर मेरे पति ने एक बार फिर पूछा कि क्या उन्हें लेकर जाया जा रहा है। अगर ऐसा है तो वो अपने परिवार को बता दें। मगर उनसे कहा गया कि उन्हें गवाह के तौर पर ले जा रहे हैं। इसके बाद उन्हें लेकर गए। शाम को जाकर हमें पता चला कि चार्जशीट में उनके नाम भी है जिन्हें यहाँ से ले गए। अखबार वाले जब हमसे बयान लेने आए तब हमें ये सारी चीजें पता चलीं।”

मीनू ने ऑपइंडिया से बात करते हुए कहा कि वह लोग जैसे माहौल में है। वहाँ बच्चों को पढ़ाने का भी फायदा नहीं है। अगर कोई उन पर अटैक करेगा तो साफ है कि उसके बदले वो अपना बचाव तो करेगा ही। ये पूरी जो हिंसा हुई है इसी आधार पर तो हुई है। हिंदुओं को एक रास्ते से रथ यात्रा निकालने से रोका गया, उन्होंने पूछा क्यों नहीं जाएँगे बस उसके बाद ही ये सब हुआ।

बता दें कि जहाँगीरपुरी हिंसा में अब तक 23 लोग पकड़े जा चुके हैं। इनमें 2 नाबालिग हैं और कुछ हिंदू भी हैं। आज इसी इलाके से दोबारा पथराव की खबर सामने आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2014 – प्रतापगढ़, 2019 – केदारनाथ, 2024 – कन्याकुमारी… जिस शिला पर विवेकानंद ने की थी साधना वहीं ध्यान धरेंगे PM नरेंद्र मोदी, मतगणना...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के लिए प्रचार-प्रसार का शोर थमने के साथ थी 30 मई को ही कन्याकुमारी पहुँच जाएँगे, 4 जून को होनी है मतगणना।

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -