Wednesday, April 17, 2024
Homeदेश-समाजजयपुर में फिर तनाव: 'कान्हा मटकी फोड़' के दौरान पथराव, पुलिस को भी नहीं...

जयपुर में फिर तनाव: ‘कान्हा मटकी फोड़’ के दौरान पथराव, पुलिस को भी नहीं छोड़ा

राजस्थान में कॉन्ग्रेस की सरकार बनने के बाद से कानून-व्यवस्था की स्थिति दिनोंदिन बिगड़ती जा रही है। जयपुर में दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा पत्थरबाजी की हाल में कई घटनाएँ सामने आई है।

जयपुर में शांति समिति की बैठक में कमिश्नर की अपील के बावजूद 10 घंटे के अंदर इलाके में फिर तनाव का माहौल बन गया। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कल्याण जी रास्ते में बुधवार देर रात उपद्रवियों ने आतंक मचाया और पथराव किया। कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। पुलिस पर भी पत्थर फेंके गए।

जानकारी के मुकाबिक कल्याण जी रास्ते से पहले चौराहे पर ‘कान्हा मटकी फोड़’ कार्यक्रम चल रहा था। इसमें भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुँचे थे। इसी दौरान एक बच्चे को जेब काटने के आरोप में लोगों ने पकड़ लिया। लोगों ने उसे चोरी किया पर्स लौटाने के लिए धमकाया लेकिन मौक़ा पाते ही वह फरार हो गया।

पत्रिका का स्क्रीनशॉट

इसी बीच अचानक थराव शुरू हो गया। आयोजन में आए लोगों ने देखा तो सामने से बच्चों, किशोंरो और युवकों की एक भीड़ कार्यक्रम स्थल के नजदीक चली आ रही थी। जिसने कार्यक्रम स्थल के पास पहुँचकर आयोजन में शामिल लोगों पर पथराव किया। इसके बाद वहाँ भगदड़ मच गई।

सूचना मिलने पर पुलिस मौक़े पर पहुँची। लेकिन उपद्रवियों ने पुलिस पर भी पथराव किया। माहौल बिगड़ा तो आला अधिकारियों को सूचित किया गया और अतिरिक्त जाब्ता बुलाकर इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया।

गौरतलब है कि राजस्थान में कॉन्ग्रेस की सरकार बनने के बाद से कानून-व्यवस्था की स्थिति दिनोंदिन बिगड़ती जा रही है। जयपुर में दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा पत्थरबाजी की हाल में कई घटनाएँ सामने आई है। बकरीद पर उत्पात के बाद तो धारा 144 लगानी पड़ी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शंख का नाद, घड़ियाल की ध्वनि, मंत्रोच्चार का वातावरण, प्रज्जवलित आरती… भगवान भास्कर ने अपने कुलभूषण का किया तिलक, रामनवमी अध्यात्म में एकाकार हुआ...

ऑप्टिक्स और मेकेनिक्स के माध्यम से भारत के वैज्ञानिकों ने ये कमाल किया। सूर्य की किरणों को लेंस और दर्पण के माध्यम से सीधे राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला के मस्तक तक पहुँचाया गया।

18 महीने में होती थी जितनी बारिश, उतना पानी 1 दिन में दुबई में बरसा: 75 साल का रिकॉर्ड टूटने से मध्य-पूर्व के रेगिस्तान...

दुबई, ओमान और अन्य खाड़ी देशों में मंगलवार को एकाएक हुई रिकॉर्ड बारिश ने भारी तबाही मचाई है। ओमान में 19 लोगों की मौत भी हो गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe