Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजमूर्ति विसर्जन के दौरान नदी में आई बाढ़, 8 लोगों की मौत: पश्चिम बंगाल...

मूर्ति विसर्जन के दौरान नदी में आई बाढ़, 8 लोगों की मौत: पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी हादसे में अभी भी तलाशी अभियान जारी

एक स्थानीय निवासी ने कहा, "अगर प्रशासन ने भारी बारिश और जल स्तर में वृद्धि की संभावना के बारे में चेतावनी दी होती, तो यह दुर्घटना टल सकती थी।"

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी (Jalpaiguri) जिले में दुर्गा विसर्जन के दौरान बुधवार (5 अक्टूबर 2022) रात को बड़ा हादसा हो गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जलपाईगुड़ी में माल नदी (Mal River) में विसर्जन के दौरान अचानक आई बाढ़ से 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग लापता हैं।

जलपाईगुड़ी की जिला मजिस्ट्रेट मौमिता गोदारा बसु ने कहा, “एक बच्चे सहित आठ लोगों की मौत हो गई है। 13 अन्य घायल हो गए। 50 से अधिक लोगों को बचा लिया गया है। डाउनस्ट्रीम में अभी भी तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। वहाँ अभी भी बारिश हो रही है।”

एसपी देवर्षि दत्ता के मुताबिक, कई लोग नदी में बह गए हैं। एनडीआरएफ और नागरिक सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है। बचाव कार्य जारी है।

अधिकारियों ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग मूर्ति विसर्जन के लिए नदी के तट पर जमा हुए थे। अचानक आई बाढ़ के कारण चंद सेकेंड में ही पानी का स्तर 6 इंच से बढ़कर 3.5 फुट हो गया। बाढ़ में कई वाहन भी बह गए हैं, जिनमें मूर्तियों को लेकर आया गया था। इसके साथ ही कई घरों को भी नुकसान पहुँचा है। प्रशासन के अनुसार सभी पीड़ितों की पहचान कर ली गई है।

एक स्थानीय निवासी राजेन मुर्मू ने कहा, “अगर प्रशासन ने भारी बारिश और जल स्तर में वृद्धि की संभावना के बारे में चेतावनी दी होती, तो यह दुर्घटना टल सकती थी।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया है। पीएम ने कहा, “पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान हुए हादसे से दुखी हूँ। इस हादसे में अपनों को खोने वालों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ।”

घटना का वीडियो शेयर करते हुए बंगाल में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने भी दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि वह इस खबर से दुखी हैं कि माल नदी में अचानक आई बाढ़ में कई लोगों की मृत्यु हो गई है। उन्होंने अधिकारियों से बचाव प्रयासों को तेज करने और संकट में फँसे लोगों को सहायता प्रदान करने को कहा है। ट्वीट में उन्होंने लिखा “मैं जलपाईगुड़ी के डीएम और मुख्य सचिव पश्चिम बंगाल से अनुरोध करता हूँ कि वे बचाव के प्रयासों को तत्काल तेज करें और संकट में पड़े लोगों को सहायता प्रदान करें।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -