Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजलश्कर आतंकी मुदस्सिर पंडित ढेर, 3 पुलिसकर्मी-2 काउंसलर की हत्या में था वांछित: पाकिस्तान...

लश्कर आतंकी मुदस्सिर पंडित ढेर, 3 पुलिसकर्मी-2 काउंसलर की हत्या में था वांछित: पाकिस्तान का असरार भी मारा गया

"लश्कर-ए-तैयबा का कुख्यात आतंकवादी मुदस्सिर पंडित सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। वह हाल में तीन पुलिसकर्मियों, दो पार्षद और दो आम नागरिकों की हत्या में शामिल था।"

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर मुदस्सिर पंडित समेत तीन आतंकियों को मार गिराया। बारामुला जिले के सोपोर में रविवार (20 जून 2021) देर रात सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई थी, जो सोमवार (21 जून 2021) तक चली।

सुरक्षा बलों को गुंड ब्रथ गाँव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद गाँव के तांत्रे मोहल्ले की घेराबंदी कर घर-घर तलाशी शुरू की गई। सुरक्षा घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने मुदस्सिर समेत तीन आतंकियों मार गिराया। मुदस्सिर हाल में 3 पुलिस जवानों, दो पार्षदों और दो नागरिकों की हत्या में वांछित था।

साभार: आजतक

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया, “लश्कर-ए-तैयबा का कुख्यात आतंकवादी मुदस्सिर पंडित सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। वह हाल में तीन पुलिसकर्मियों, दो पार्षद और दो आम नागरिकों की हत्या में शामिल था।” मुदस्सिर पर 10 लाख रुपए का इनाम भी रखा गया था। जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

आईजीपी विजय कुमार के मुताबिक, मुठभेड़ के दौरान मारे गए तीन आतंकियों में एक पाकिस्तानी आतंकी भी है। उसकी पहचान असरार उर्फ अब्दुल्ला के तौर पर हुई है। वह उत्तरी कश्मीर में 2018 से सक्रिय था। 

इससे पहले जम्मू-कश्मीर की पुलिस ने बारामूला जिले में नार्को टेरर माड्यूल का भांडाफोड़ करते हुए 12 लोगों को अरेस्ट किया था। आरोपितों के पास से सुरक्षाबलों ने 11 पैकेट हेरोइन, कैश समेत 10 ग्रेनेड, चार पिस्टल और भारी संख्या में कारतूस जब्त किया था। आरोपितों के पास से 21.5 लाख रुपए कैश व एक लाख रुपए का चेक भी मिला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe