Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजबंगाल: पेड़ से लटके मिले BJP के एक और कार्यकर्ता, पार्टी ने बताया- सुनियोजित...

बंगाल: पेड़ से लटके मिले BJP के एक और कार्यकर्ता, पार्टी ने बताया- सुनियोजित हत्या

इससे पहले 18 अप्रैल को नादिया जिले के रोआवरी गाँव में भाजपा कार्यकर्ता का शव मिला था। मृतक की पहचान दिलीप कार्तनिया के रूप में हुई थी, वह इलाके में भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता थे। वह बूथ स्तर पर पार्टी के लिए काम कर रहे थे।

पश्चिम बंगाल में 7वें चरण के मतदान से पहले शुक्रवार (अप्रैल 23, 2021) को वर्धमान जिले के जमुरिया के अलीनगर गाँव में एक भाजपा कार्यकर्ता का शव पेड़ से लटका मिला। कार्यकर्ता की पहचान किरंजन घोष के रूप मे हुई है। जमुरिया में 26 अप्रैल को वोट डलेंगे।

मृतक के परिजनों ने बताया कि घोष गुरुवार (अप्रैल 22, 2021) को घर नहीं लौटे और शुक्रवार को उनका शव घर के पास एक जंगल वाले इलाके में पेड़ से लटका मिला। स्थानीय लोगों ने फौरन घटना की जानकारी पुलिस को दी। बाद में डिप्टी कमिशनर अभिषेक गुप्ता ने मौके पर पहुँचकर पड़ताल की।

इलाके में अभी पंदबेश्वर पुलिस थाने की पुलिस और सुरक्षाबल को तैनात किया गया है। इस बीच भाजपा ने आरोप लगाया कि ये एक सुनियोजित हत्या है और उनके कार्यकर्ता को मारने के बाद पेड़ से लटकाया गया।

जमुरिया विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी तापस रॉय ने मामले में 24 घंटे के अंदर जाँच पूरी करने की की माँग की है। साथ ही आरोपितों को भी सजा देने को कहा। वहीं मृतक के परिवार ने अभी इस संबंध में शिकायत नहीं दर्ज कराई है। लेकिन बंगाल के राजनीतिक माहौल के कारण इस मामले ने तूल पकड़ लिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले 18 अप्रैल को नादिया जिले के रोआवरी गाँव में भाजपा कार्यकर्ता का शव मिला था। मृतक की पहचान दिलीप कार्तनिया के रूप में हुई थी, वह इलाके में भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता थे। वह बूथ स्तर पर पार्टी के लिए काम कर रहे थे।

उनका शव उनके घर के पीछे झाड़ियों से बरामद किया गया था। चश्मदीदों ने बताया था कि दिलीप कीर्तानिया की नाक, कान और मुँह से खून बह रहा था। उनकी हालत को देखते हुए उन्हें तुरंत चकदाहा स्टेट जनरल अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

ईसाई बने तो नहीं ले सकते SC वर्ग के लिए चलाई जा रही केंद्र की योजनाओं का फायदा: संसद में मोदी सरकार

रिपोर्ट्स बताती हैं कि आंध्र प्रदेश में ईसाई धर्म में कन्वर्ट होने वाले 80 प्रतिशत लोग SC वर्ग से आते हैं, जो सभी तरह की योजनाओं का लाभ उठाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe