Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजनकली IPS बन कर रिक्शा चालक जावेद ने बनाए 3000 गर्लफ्रेंड, माँगता था न्यूड...

नकली IPS बन कर रिक्शा चालक जावेद ने बनाए 3000 गर्लफ्रेंड, माँगता था न्यूड तस्वीरें

मामले की पोल तब खुली जब एक लड़की ने अपनी माँ के साथ मिल कर असली आईपीएस हसन को ही ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक रिक्शे वाले ने ऐसा खेल खेला कि इसके जाल में न सिर्फ़ लड़कियाँ बल्कि पुलिस ऑफिसर तक फँस गए। 52 वर्षीय जावेद पहले से ही शादीशुदा है और सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर सक्रिय है। जहाँ लोग एक गर्लफ्रेंड बनाने के लिए तरसते हैं, जावेद ने 3000 लड़कियों को न सिर्फ़ अपने प्रेम-पाश में फँसाया बल्कि उनमें से कई के साथ शादी का वादा तक कर दिया।

इस काम के लिए जावेद ने पुलिस का ही सहारा लिया। उसने साफ-सुथरे छवि वाले लोकप्रिय आईपीएस ऑफिसर नुरूल हसन के नाम से फेसबुक आईडी बनाई और फोटो भी उन्हीं की लगा दी। महाराष्ट्र में एसपी के पद पर तैनात हसन काफ़ी संघर्ष कर के इस पद पर पहुँचे हैं और ग़रीब परिवार से होने के बावजूद यहाँ तक का सफर तय करने के कारण लोग उनकी इज्जत करते हैं। जावेद ने उनकी फोटो का जुगाड़ किया और सोशल मीडिया पर पहचान बदल कर अपने काम में जुट गया।

वह ख़ुद को आईपीएस अफसर नुरूल हसन बताता था। उसने फेसबुक पर कई हज़ार मित्र बना लिए और लड़कियों के साथ चैटिंग करने लगा। बरेली से लेकर मुंबई तक की कई लड़कियों ने उसे शादी के प्रस्ताव भी भेजे। वह लड़कियों से न्यूड तस्वीरें भी माँगता था। मामले की पोल तब खुली जब एक लड़की ने अपनी माँ के साथ मिल कर असली आईपीएस हसन को ही ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

उन्होंने आईपीएस से अवैध वसूली की भी कोशिश की। ख़बर के अनुसार, जावेद ने नकली आईपीएस बन कर न सिर्फ़ आम लड़कियों बल्कि कई महिला आईपीएस अधिकारियों तक को अपने जाल में फँसाया था। ब्लैकमेलिंग में लगी माँ-बेटी के अलावा रिक्शा चालक जावेद को भी गिरफ़्तार कर लिया गया है। उसने कुल 16 लड़कियों से अश्लील चैटिंग की थी।

जावेद को जब कोई युवती वीडियो कॉल करती थी तो वह भेद खुलने के डर से रिसीव नहीं करता था। जावेद की पत्नी अपने शौहर की इस हरकत से तंग आ चुकी थी और गुस्से में उसने उसके 5 फोन फोड़ डाले थे। जावेद की बीवी ने उसके फोन में कई नंगी लड़कियों की तस्वीरें देख ली थीं। एक जवान बेटे का बाप होने के बावजूद उसकी ऐसी हरकत से वह क्षुब्ध हो चुकी थी। जावेद को जेल भेज दिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,361FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe